Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयलॉरा ने जो 2018 में कहा, वही 2021 में ट्रंप के साथ कर रहा...

लॉरा ने जो 2018 में कहा, वही 2021 में ट्रंप के साथ कर रहा ट्विटरः अमेरिकी संसद की सुनवाई में जैक डर्सी को लगाई थी लताड़

लॉरा लूमर ने सुनवाई के बीच में ही घुस कर ट्विटर के CEO जैक डॉर्सी पर आरोप लगाए थे। उन्होंने वहाँ पर आशंका जाहिर कर दी थी कि ट्विटर भविष्य में क्या करने वाला है।

आज जब ट्विटर अमेरिका की राजनीति में बढ़-चढ़कर हस्तक्षेप कर रहा है और उसने वहाँ के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हैंडल को सस्पेंड कर दिया है, लोग सितंबर 2018 की उस घटना को याद कर रहे हैं, जब एक महिला एक्टिविस्ट लॉरा लूमर ने कैपिटल हिल में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के खिलाफ चल रही सुनवाई में घुस कर ट्विटर के CEO जैक डॉर्सी को खरी-खोटी सुनाई थी। उस समय ट्विटर और फेसबुक को सीनेटरों के कई सवालों के जवाब देने पड़े थे।

जहाँ ट्विटर की तरफ से जैक डॉर्सी वहाँ पहुँचे हुए थे, फेसबुक ने COO शेरिल सैंडबर्ग को अपना पक्ष रखने के लिए भेजा था। उनसे पूछताछ की गई थी कि वो अपने प्लेटफॉर्म्स पर गालियों और घृणा फैलाने वाले कंटेंट्स से कैसे निपट रहे हैं। साथ ही चुनावी हस्तक्षेप से लेकर राजनीतिक भेदभाव के सम्बन्ध में भी सवाल किए गए थे। हालाँकि, गूगल ने अपने प्रतिनिधि को भेजने से इनकार कर दिया था, जिससे एक खाली कुर्सी को वहाँ रखा गया था।

अब लोग उस महिला एक्टिविस्ट लॉरा लूमर को याद कर रहे हैं। लॉरा लूमर ने सुनवाई के बीच में ही घुस कर ट्विटर के CEO जैक डॉर्सी पर आरोप लगाए थे। उन्होंने वहाँ पर आशंका जाहिर कर दी थी कि ट्विटर भविष्य में क्या करने वाला है। इस्लामी कट्टरपंथियों के खिलाफ आवाज़ उठाने के लिए लॉरा लूमर को उबर और लिफ्ट जैसी राइडिंग सर्विस कंपनियों के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स ने भी प्रतिबंधित कर रखा है।

उन्होंने कॉन्ग्रेसनल सुनवाई में घुस कर जैक डॉर्सी को झूठा बताते हुए कहा उन्हें पक्षपात वाला रवैया त्यागने की चेतावनी दी थी और आरोप लगाया था कि ट्विटर विरोधी विचारधारा के लोगों को सेंसर करने में लगा हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया था कि न सिर्फ ट्विटर ने कन्जर्वेटिव्स को सेंसर किया, बल्कि चुनाव में भी पक्षपात किया। उस दौरान रिप्रेजेन्टेटिव बिली लॉन्ग जोर-जोर से बोलने लगे थे, ताकि लोग उनकी आवाज़ न सुन पाएँ।

लॉरा लूमर ने तब कहा था, “राष्ट्रपति महोदय, हमलोगों की मदद कीजिए। इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, हमारी मदद कीजिए। जैक डॉर्सी चुनाव को प्रभावित करना चाह रहे हैं। वो चुनाव को अपने हिसाब से मोड़ देना चाहते हैं। डेमोक्रेट्स इस चुनाव को चुरा सकें, इसीलिए वो ऐसा कर रहे हैं। इसीलिए वो कन्जर्वेटिव्स को शैडो-बैन कर रहे हैं और उन्हें सेंसर कर रहे हैं।” उन्होंने ऐसा बोलते समय मोबाइल से खुद का वीडियो भी बनाया था।

उन्होंने जैक डॉर्सी पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भी ऑनलाइन सेंसर करने का आरोप लगाया था। उन्होंने उस घटना का भी जिक्र किया था, जब ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रम्प के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया था और इसके लिए कंपनी ने एक कर्मचारी पर आरोप मढ़ दिए थे। एक ट्विटर कस्टमर सपोर्ट कर्मचारी को इसके लिए दोषी ठहराते हुए ट्विटर ने कहा था कि वो आंतरिक जाँच बिठा रहे हैं और ऐसा आगे नहीं होगा।

बता दें कि सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म ट्विटर ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हैंडल को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही उनके एक और आधिकारिक ट्विटर हैंडल ‘टीम ट्रम्प’ को भी सस्पेंड कर दिया गया। इसके बाद उन्होंने POTUS (प्रेजिडेंट ऑफ यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका) के ट्विटर हैंडल से ट्वीट्स किए, लेकिन ट्विटर ने उन ट्वीट्स को भी हटा दिया। हिंसा फैलाने की आशंका का आरोप लगा कर ऐसा किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक गोल्ड मेडल अनवर सरदार को भी’: उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर अनु मलिक की धुनाई

उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के बड़े संगीतकारों में से एक अनु मलिक की लोगों ने धुनाई चालू कर दी।

इंडिया जीता… लेकिन सब गोल पंजाबी खिलाड़ियों ने किया: CM अमरिंदर सिंह के ट्वीट में भारत-पंजाब अलग-अलग क्यों?

पंजाब मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा, ”इस बात को जानकर खुश हूँ कि सभी 3 गोल पंजाब के खिलाड़ी दिलप्रीत सिंह, गुरजंत सिंह और हार्दिक सिंह ने किए।”

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,620FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe