Saturday, July 31, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेककश्मीरी बहू: राहुल गाँधी ने दी फेक न्यूज़ को हवा, बबीता फोगाट ने Wire...

कश्मीरी बहू: राहुल गाँधी ने दी फेक न्यूज़ को हवा, बबीता फोगाट ने Wire की पत्रकार को लताड़ा

फेक न्यूज़ को हवा देने की नेताओं और सेलिब्रिटीज पत्रकारों के बीच लगी होड़ का पाकिस्तान ने भी उठाया फायदा। बबीता फोगाट ने कहा- अफवाह फैलाकर हरियाणा को बदनाम करने की कोशिश ना की जाए।

पहले मीडिया ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया। उसके बाद नेताओं और सेलिब्रिटीज पत्रकारों के बीच इस फेक न्यूज को हवा देने की होड़ लग गई। इनमें कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी और प्रोपगेंडा पत्रकारिता के लिए विख्यात The Wire की पत्रकार आरफा खानम शेरवानी जैसे नाम शामिल हैं।

आरफा को तो इसके लिए हरियाणा की मशहूर पहलवान बहनों में से बबीता फोगाट ने लताड़ा। वहीं, राहुल को खुद खट्टर ने जवाब दिया। राहुल ने ट्वीट कर कहा, “महिला कोई संपत्ति नहीं है कि पुरुषों का उन पर स्वामित्व होगा। कश्मीरी महिलाओं के बारे में हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर की टिप्पणी निंदनीय है। यह दिखाता है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशक्षिण एक कमजोर, असुरक्षित और दयनीय व्यक्ति की सोच को कैसा बना देता है।” जवाब में खट्टर ने उन्हें फेक खबर पर प्रतिक्रिया देने की बजाए अपने बयान का वीडियो देखने को कहा।

आरफा ने इस मामले में फोगाट बहनों को खट्टर की आलोचना के लिए ललकारा तो जवाब में बबीता ने कहा, “हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है जिसमें हमारी बहन-बेटियों के बारे में गलत बोला गया हो मेरी मीडिया से प्रार्थना है कि उनके बयान को गलत तरीके से जनता के सामने पेश ना करें।” इसके साथ ही बबीता फोगाट ने कहा कि अफवाह फैलाकर हरियाणा को बदनाम करने की कोशिश ना की जाए।

बिना संदर्भ के प्रोपेगंडा

दरअसल, खट्टर ने हरियाणा में सुधरते लिंगानुपात की बात करते हुए ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की सफलता की चर्चा की। इस दौरान मीडिया ने सीएम के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश कर इसे विवादित बयान बताया। कई मीडिया पोर्टल्स ने ख़बर प्रकाशित किया कि खट्टर ने कश्मीर से लड़कियों को बहू बना कर लाने की बात कही है। मगर ये खबर गलत थी। असल में मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा का नाम पहले बदनाम था और यह बेटी मारने वाले प्रदेश के रूप में कुख्यात हो गया था। बेटियों को बचाने के लिए चलाई गई विभिन्न योजनाओं की सफलता पर बात करते हुए खट्टर ने बताया कि पहले हरियाणा में लिंगानुपात 850 था, अर्थात प्रति 1000 लड़कों पर 850 लड़कियों का अनुपात। वहीं अगर ताज़ा आँकड़ों की बात करें तो यह बढ़ कर 933 हो गया है, जो दिखाता है कि इस मामले में हरियाणा बड़े सुधार की ओर अग्रसर है।

इसके साथ ही आगे उन्होंने कहा, “हमारे धनखड़ जी ने कहा कि बिहार से (बहुएँ) लानी पड़ेंगी। अब कुछ लोग कह रहे हैं कि कश्मीर खुल गया, अब वहाँ से लेकर आएँगे। ‘मजाक’ की बातें अलग हैं। लेकिन समाज में लिंगानुपात ठीक होगा तो संतुलन बैठेगा।”

सीएम के इसी बयान को कुछ मीडिया समूहों ने तोड़-मरोड़ कर गलत तरीके से पेश किया। The Wire की पत्रकार आरफा खानम शेरवानी ने भी बिना तथ्य और सच्चाई को जाने ही फेक न्यूज़ के आधार पर फोगाट बहनों को ललकार दिया। वैसे इस फेक न्यूज को सच मानने वालों में बरखा दत्त और स्वाति मालीवाल का नाम भी शामिल हैं।

थैंक्यू राहुल गाँधी, स्क्रॉल और अशोक स्वैन: पाकिस्तान

राहुल गाँधी के बयान को तो पाकिस्तान ने भी हाथों-हाथ लेकर अपने हिंदुस्तान-विरोधी प्रोपगेंडा में फिट कर दिया। पहले राहुल गाँधी ने खट्टर के खिलाफ झूठ फैलाया, जिसे स्क्रॉल ने लपक लिया। वहाँ से उठाया हिन्दू और हिंदुस्तानी नाम वाले लेकिन हिन्दुओं और हिंदुस्तान के लिए नफ़रत फ़ैलाने वाले अशोक स्वैन ने, और स्वैन को रीट्वीट किया पाकिस्तानी सेना के प्रोपेगंडाकार/इंटर-सर्विसेज़ पब्लिक रिलेशंस के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe