Thursday, January 27, 2022
Homeरिपोर्टमीडियारवीश कुमार का प्राइम टाइम प्रोपेगेंडा: गोली चलाने वाला मोहम्मद शाहरुख नहीं, अनुराग मिश्रा...

रवीश कुमार का प्राइम टाइम प्रोपेगेंडा: गोली चलाने वाला मोहम्मद शाहरुख नहीं, अनुराग मिश्रा है

"पुलिस की हालत ये है कि अभी तक गिरफ्तार नहीं हुआ है। पुलिस साफ कहती है ये शाहरुख है, मगर आप सोशल मीडिया पर देखिए कि इसे अनुराग मिश्रा बताया जा रहा है।"

झूठे दावों और फर्जी खबरों के सहारे एक तय दर्शक भीड़ को अपनी ओर आकर्षित कर बरगलाने वाले रवीश कुमार एक फिर झूठ फैलाते नजर आए। इस बार उन्होंने मोहम्मद शाहरुख के नाम पर झूठ परोसा है। वही मोहम्मद शाहरुख जिसने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के दौरान एक पुलिसकर्मी पर बंदूक तानी थी और लगातार इधर-उधर 8 राउंड फायरिंग की थी। उस शाहरुख को कल रवीश कुमार ने अपने प्राइम टाइम में अनुराग मिश्रा बता दिया। साथ ही एक विडियो के जरिए उसकी गिरफ्तारी नहीं होने का भ्रम पैदा करने की कोशिश की।

26 फरवरी को प्रसारित अपने प्राइम टाइम में रवीश को कहते सुना जा सकता है, “पुलिस की हालत ये है कि अभी तक गिरफ्तार नहीं हुआ है। पुलिस साफ कहती है ये शाहरुख है, मगर आप सोशल मीडिया पर देखिए कि इसे अनुराग मिश्रा बताया जा रहा है।” जिस अनुराग मिश्रा की प्रोफाइल को लेकर ये प्रोपेगेंडा तैयार किया गया उसने खुद विडियो के जरिए ऐसा करने वालों के झूठ का पर्दाफाश किया। साथ ही कहा कि वह उस हर शख्स के ख़िलाफ़ कार्रवाई करेंगे जिन्होंने उनकी तस्वीर का इस्तेमाल किया।

रवीश कुमार को अपने प्राइम टाइम में बिन सच्चाई खँगाले दिल्ली पुलिस से कहते सुना जा सकता है कि वो युवक की पहचान पर दोबारा से बोलें और इसके बाद उन्हें बिन तारीख के एक विडियो चलाते देखा जा सकता है। इसमें उनका रिपोर्टर पुलिस से पूछता है कि क्या उस युवक की गिरफ्तारी हुई है। इसपर पुलिस कहती है कि वो उसकी खोज में हैं। जल्द से जल्द उसकी गिरफ्तारी हो जाएगी। इसके बाद रवीश कुमार अपने प्राइम टाइम में अनुराग ठाकुर, कपिल मिश्रा और प्रवेश वर्मा का वीडियो चलाते हैं ताकि उनके दर्शकों को ये लगे कि उनकी भाषणों के कारण दिल्ली में हिंसा भड़की।

इस प्राइम टाइम की शुरुआत में रवीश कुमार आईबी अधिकारी की मौत के बारे में भी बात करते हैं और पहले तो ये समझाने की कोशिश करते हैं कि आखिर कैसे अंकित शर्मा के परिवार ने आम आदमी पार्टी के नेता को इस घटना के लिए जिम्मेदार ठहराया। फिर बाद में पूरी हिंसा के लिए टेलीविजन डिबेट में भड़काऊ बयानों को जिम्मेदार ठहराया। शायद इस बीच रवीश कुमार और उनकी टीम 51 वर्षीय विनोद की निर्मम हत्या की कहानी बताना भूल गए, जिन्हें उनके बच्चे के सामने मार दिया गया और उनकी बाइक को आग के हवाले कर दिया गया।

इस प्राइम टाइम में रवीश कुमार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल के दौरे की विडियो दिखाते भी नजर आए। इसमें एक मुस्लिम युवक ने सीएए के ख़िलाफ़ विरोध को आरएसएस प्रायोजित बताया और अमित शाह पर आरोप लगाया कि वे इन सबके पक्ष में हैं। इसके अलावा रवीश कुमार रामभक्त गुलशन और उस कपिल गुर्जर द्वारा गोली चलाने वाले वाकए को भी दिखाते नजर आए, जिसने ये कहा था कि इस देश में हिंदुओं की मर्जी चलेगी। जाहिर है, हिंदू नामों पर जोर देकर रवीश का इन विडियो को दिखाने के पीछे क्या इरादा था, लेकिन शायद वो भूल गए कि जिस कपिल गुर्जर की विडियो दिखाकर वो अपना एजेंडा चलाना चाहते थे, वो आम आदमी पार्टी का ही कार्यकर्ता था।

26 फरवरी को रवीश कुमार ने जिस तरह से तथ्यों को प्राइम टाइम में पेश किया वह इस बात का सबूत है कि मेनस्ट्रीम मीडिया दंगाई के मुस्लिम होने पर न केवल उसका नाम छिपाता है, बल्कि उसे क्लीनचिट भी देता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsरवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार प्राइम टाइम, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दीपक चौरसिया एनडीटीवी, NDTV के पत्रकार पर हमला, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली हाईकोर्ट, जस्टिस मुरलीधर, जस्टिस मुरलीधर का तबादला, दिल्ली हाई कोर्ट जस्टिस मुरलीधर, दिल्ली हाई कोर्ट कपिल मिश्रा, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का भाई, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली हिंसा उपराज्यपाल, अमित शाह हाई लेवल मीटिंग, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, ट्रंप का भारत दौरा, ट्रंप मोदी, बिल क्लिंटन का भारत दौरा, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, दिल्ली पुलिस, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe