Friday, May 20, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाहैदराबाद: फिरोज खान के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने ANI के पत्रकार पर किया...

हैदराबाद: फिरोज खान के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने ANI के पत्रकार पर किया हमला, देखें Video

वीडियो क्लिप में स्पष्ट रूप से फिरोज़ खान को पत्रकार पर हमला करते देखा जा सकता है। फिरोज़ खान से झड़प होते ही अन्य कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता भी आगे आ गए और उन लोगों ने भी ANI के रिपोर्टर को लात-घूँसों से मारा। पुलिस ने पीड़ित पत्रकार को बचाने की कोशिश की तो उनके साथ भी कॉन्ग्रेस के गुंडों ने धक्का-मुक्की की।

तेलंगाना में फिरोज खान के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने ANI के पत्रकार पर हमला किया। यह घटना तब हुई जब हाथरस केस में विरोध दर्ज कराने के लिए कॉन्ग्रेस कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने हैदराबाद के टैंक बंद इलाके में रैली निकाली थी।

कथित तौर पर, रैली के लिए कई कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता और पार्टी के वरिष्ठ नेता आंबेडकर की प्रतिमा के पास इकट्ठे हुए थे। प्रदर्शन के दौरान तेलंगाना प्रदेश कॉन्ग्रेस कमेटी के प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी भी मौजूद थे। रैली की शुरुआत गाँधी भवन से हुई, लेकिन पहले से परमिशन नहीं लेने की वजह से उन्हें रोक दिया गया।

उसी दौरान एएनआई के एक पत्रकार अब्दुल बशीर ने कॉन्ग्रेस नेताओं की बाइट लेने की कोशिश की। इसी दौरान कॉन्ग्रेस के प्रमुख नेता फिरोज़ खान से उनकी बहस हो गई। बहस इस कदर बढ़ गया कि फिरोज़ और उनके कई समर्थक पत्रकार से हाथापाई पर उतर आए। घटनास्थल पर मौजूद अन्य पत्रकारों और पुलिसकर्मियों ने किसी तरह रिपोर्टर को उनसे बचाया।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। वीडियो क्लिप में स्पष्ट रूप से फिरोज़ खान को पत्रकार पर हमला करते देखा जा सकता है। फिरोज़ खान से झड़प होते ही अन्य कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता भी आगे आ गए और उन लोगों ने भी ANI के रिपोर्टर को लात-घूँसों से मारा। इतना ही नहीं जब पुलिस अधिकारियों ने पीड़ित पत्रकार को बचाने की कोशिश की तो उनके साथ भी कॉन्ग्रेस के गुंडों ने धक्का-मुक्की की।

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर अपनी दादागिरी दिखाने के लिए गुंडागर्दी का सहारा लिया है। हाल ही में कॉन्ग्रेस शासित छत्तीसगढ़ में एक क्षेत्रीय समाचार पत्र, भूमिकल समचार के संपादक कमल शुक्ला को भी कॉन्ग्रेस के गुंडों ने सड़क पर घसीटते हुए पीटा था। उन पर धारदार हथियार से हमला भी किया गया था। यह घटना छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के कांकेर पुलिस स्टेशन से लगभग 100 मीटर की दूरी पर हुई थी। शुक्ला ने अपने बयान में कहा था कि कुछ लोगों के एक समूह ने पुलिस स्टेशन से बाहर निकलते ही उनको घेर लिया था। उनको पीटा गया और धारदार हथियार से हमला किया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हार्दिक पटेल के ‘चिकन सैंडविच’ से राजदीप सरदेसाई का जायका बिगड़ा, कहा- इस्तीफे पर हस्ताक्षर आपके, लेकिन शब्द किसी और के हैं

इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई को हार्दिक पटेल के इस्तीफे की भाषा नागवार गुजरी है। वे इस्तीफे में कॉन्ग्रेस को लेकर हुए खुलासों से परेशान दिख रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मामला वाराणसी जिला अदालत को किया ट्रांसफर, बोले जस्टिस चंद्रचूड़- धार्मिक चरित्र पता करने से नहीं रोकता वर्शिप एक्ट

सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति बहाल करने की मुस्लिम की माँग मानने से इनकार कर दिया और मामले को सुनवाई के लिए निचली अदालत को ट्रांसफर कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
187,460FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe