Wednesday, February 24, 2021
Home रिपोर्ट मीडिया इंडिया टुडे ने PFI के 'हेट परेड' को दी क्लीन चिट, RSS की वर्दी...

इंडिया टुडे ने PFI के ‘हेट परेड’ को दी क्लीन चिट, RSS की वर्दी में जंजीरों में जकड़े होने को बताया ‘सामान्य’

इंडिया टुडे ने सभी को यह बताने के लिए एक ’फैक्ट चेक’ प्रकाशित किया है कि आरएसएस की वर्दी में सड़कों पर परेड करने वाले लोग वास्तव में आरएसएस के सदस्य नहीं थे और पीएफआई ने अपने इवेंट के लिए स्वयं के सदस्यों को आरएसएस की वर्दी में तैयार किया।

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने केरल के मलप्पुरम में एक हेट परेड का आयोजन किया। जिसमें कुछ लोगों को आरएसएस के यूनिफॉर्म में जंजीर से जकड़ कर परेड करते हुए दिखाया गया। यह परेड मोपला नरसंहार के ‘शताब्दी समारोह’ को मनाने के लिए प्रदर्शन किया गया था। अब, इंडिया टुडे ने उन्हें अपराधमुक्त करने के लिए उसके बचाव में सामने आया है।

इंडिया टुडे ने सभी को यह बताने के लिए एक ’फैक्ट चेक’ प्रकाशित किया है कि आरएसएस की वर्दी में सड़कों पर परेड करने वाले लोग वास्तव में आरएसएस के सदस्य नहीं थे और पीएफआई ने अपने इवेंट के लिए संगठन के सदस्यों को आरएसएस की वर्दी में तैयार किया। हैरानी की बात यह है कि किसी भी शख्स ने यह दावा नहीं किया कि आरएसएस की वर्दी वाले लोग वास्तव में आरएसएस के सदस्य थे। ऐसा लगता है कि इंडिया टुडे का ‘एंटी फेक न्यूज वॉर रूम’ (AWRA) को पीएफआई द्वारा हेट परेड को व्हाइटवॉश करने के लिए उपयुक्त पोस्टों का उपयोग करने के लिए इंटरनेट की गहराइयों को खँगालना होगा।

The India Today ‘fact check’

चौंकाने वाली बात यह है कि इंडिया टुडे को इसमें कुछ भी गलत नहीं लगा। ऐसा लगता है कि यह उनके लिए पूरी तरह स्वीकार्य है कि मुस्लिम पुरुष आरएसएस की वर्दी पहने लोगों को जंजीरों में जकड़ के ले जा रहे हैं। ‘फैक्ट चेक’ यह बताता है कि पीएफआई के कार्यों में कुछ भी गलत नहीं है क्योंकि इसमें आरएसएस का कोई भी सदस्य शामिल नहीं था।

फैक्ट चेक में कहा गया है, “दो पुरुषों ने औपनिवेशिक युग की ब्रिटिश वर्दी पहन रखी है और पारंपरिक मालाबार मुस्लिम पोशाक पहने और पीएफआई झंडे ले जाने वाले समूह द्वारा परेड की जा रही है।” यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि इंडिया टुडे ने सोशल मीडिया अकाउंट्स के सबसे अस्पष्ट ‘फैक्ट चेक’ जाँचने में कामयाबी हासिल की है।

यह भी ध्यान रखना आवश्यक है कि इंडिया टुडे ने इस घटना पर कोई अन्य रिपोर्ट नहीं की है। इस प्रकार, संपादकों ने अपने ‘धर्मनिरपेक्ष’ एजेंडे से समझौता किए बिना कहानी को कैसे कवरअप किया जाए, इस पर गहन विचार किया जा सकता है।

निष्कर्ष के रूप में रिपोर्ट में कहा गया, “17 फरवरी को, पीएफआई ने उनकी सालगिरह के रूप में मार्च आयोजित किया था। मार्च शांतिपूर्ण था और हिंसा की कोई घटना नहीं हुई। जो वीडियो वायरल हुआ है वह मार्च के हिस्से के रूप में आयोजित एक प्रदर्शन था। हमें पीएफआई कार्यकर्ताओं द्वारा आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमला करने की किसी भी घटना के बारे में नहीं पता चला है।”

यहाँ तक ​​कि इंडिया टुडे ने संघ की केरल इकाई से भी संपर्क किया। उनके वरिष्ठ अधिकारियों में से एक ने रिपोर्टर को बताया, “सोशल मीडिया पोस्ट में इस तरह की कोई घटना हमारे संज्ञान में नहीं आई है। अगर पीएफआई ने वायरल वीडियो में हमारे सदस्यों को जबरन मार्च कराने की कोशिश की होती, तो हम निश्चित रूप से प्रतिक्रिया देते। वीडियो में दिख रहे पुरुष आरएसएस के सदस्य नहीं हैं। यह PFI का कुछ प्रदर्शन रहा होगा।” पूरा ‘फैक्ट चेक’ निश्चित रूप से पीएफआई के हेट परेड को व्हाइटवॉश करने की एक कोशिश है।

गौरतलब है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने केरल में एक रैली निकाली थी। इस रैली में कुछ लोगों ने RSS की यूनिफॉर्म पहनी थी। परेड में आरएसएस की यूनिफार्म में शामिल लोगों को जंजीर से भी बाँधा गया था। इस रैली के कई वीडियो और फोटो सामने आए हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि इस दौरान अल्लाह-हू-अकबर, ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुर रसूलुल्लाह जैसे कई अन्य इस्लामी नारे लगाए गए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल: PM मोदी ने जिस मैदान में रैली की, TMC नेताओं ने वहाँ किया गंगाजल छिड़ककर ‘शुद्धिकरण’

PM मोदी ने सोमवार को हुगली के जिस मैदान में जनसभा को संबोधित किया था वहाँ रैली के अगले ही दिन TMC के कार्यकर्ताओं ने जाकर गंगाजल छिड़का और उसका 'शुद्धिकरण' किया।

वोटर समझदार होता है, हमें उनका सम्मान करना चाहिए: राहुल के उत्तर-दक्षिण वाले बयान पर कॉन्ग्रेस नेता कपिल सिब्बल

राहुल गाँधी के बयान पर कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि हमें मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए, चाहे वो उत्तर से हो या दक्षिण से, वोटर्स समझदार होते हैं।

कर्नाटक: चलती बस में छात्रा को छेड़ने वाला अरबी स्कूल का शिक्षक मोहम्मद सैफुल्ला गिरफ्तार

कर्नाटक की उप्पिनंगडी पुलिस ने 32 वर्षीय अरबी शिक्षक मोहम्मद सैफुल्ला को बस में एक छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के आरोप में में गिरफ्तार किया है।

बंगाल: फ्री वैक्सीन बाँटने के लिए दीदी ने ‘दंगाबाज’ मोदी से माँगी मदद, भाषण में उगला जहर

ममता ने एक ओर पीएम मोदी से वैक्सीन के लिए मदद माँगी है और दूसरी ओर पीएम मोदी व अमित शाह को रावण-दानव तक करार देते हुए 'दंगाबाज' बताया।

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस ने मुस्लिम और मराठा आरक्षण के समर्थन में किया प्रस्ताव पारित

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस की संसदीय समिति की एक बैठक ने राज्य में मुस्लिम और मराठा आरक्षण के समर्थन में एक प्रस्ताव पारित किया है।

UP: लव-जिहाद के खिलाफ विधेयक विधानसभा में ध्वनि मत से पास, नाम बदलकर निकाह करने वालों के ‘अच्छे दिन’ समाप्त

उत्तर प्रदेश विधानसभा में 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून यानी, उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध विधेयक-2021 ध्वनिमत से पारित हो गया है।

प्रचलित ख़बरें

ई-कॉमर्स कंपनी के डिलीवरी बॉय ने 66 महिलाओं को बनाया शिकार: फीडबैक के नाम पर वीडियो कॉल, फिर ब्लैकमेल और रेप

उसने ज्यादातर गृहणियों को अपना शिकार बनाया। वो हथियार दिखा कर रुपए और गहने भी छीन लेता था। उसने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

मोहम्मद फिरोज 2 महीने से कर रहा था 16 साल की बेटी का रेप, हुई गर्भवती: पीड़िता की माँ करती थी वहीं मजदूरी

मोहम्मद फ़िरोज़ लगभग दो महीने से लगातार नाबालिग का बलात्कार कर रहा था। आरोपित ने पीड़िता की माँ को धमकी भी दी कि...

महिला ने ब्राह्मण व्यक्ति पर लगाया था रेप का झूठा आरोप: SC/ST एक्ट में 20 साल की सज़ा के बाद हाईकोर्ट ने बताया निर्दोष

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा, "पाँच महीने की गर्भवती महिला के साथ किसी भी तरह की ज़बरदस्ती की जाती है तो उसे चोट लगना स्वाभाविक है। लेकिन पीड़िता के शरीर पर इस तरह की कोई चोट मौजूद नहीं थी।”

उन्नाव मर्डर केस: तीसरी लड़की को अस्पताल में आया होश, बताई वारदात से पहले की हकीकत

विनय ने लड़कियों को कीटनाशक पिलाकर बेहोश किया और बाद में वहाँ से चला गया। बेहोशी की हालत में लड़कियों के साथ किसी तरह के सेक्सुअल असॉल्ट की बात सामने नहीं आई है।

‘आप दोनों बंगाल और महाराष्ट्र को अलग देश घोषित कर PM बन जाएँ, भारत से लें आज़ादी’: SFJ की ममता और उद्धव को सलाह

"आप दोनों (ममता और उद्धव) के पास क्षमता है कि आप पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र को अलग-अलग देश घोषित करें। अभी आप मुख्यमंत्री हैं, लेकिन ऐसा होते ही आप दोनों अपने-अपने देशों के प्रधानमंत्री बन जाएँगे।"

धराया लईक खान, जबरन निकाह से मना करने पर नीतू के सिर और चेहरे पर हथौड़े से किया था 1 दर्जन वार

दिल्ली के बेगमपुर में निकाह से मना करने पर नीतू नाम की 17 वर्षीय लड़की की हत्या करने वाले लईक खान को पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

291,795FansLike
81,853FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe