Thursday, June 30, 2022
Homeरिपोर्टमीडिया'सारे गैर-मुस्लिम काफिर हैं': वायर-क्विंट के लिए लिखने वाले इस्लामी पत्रकार को बुलडोजर से...

‘सारे गैर-मुस्लिम काफिर हैं’: वायर-क्विंट के लिए लिखने वाले इस्लामी पत्रकार को बुलडोजर से लगी मिर्ची, विपक्षी दलों पर निकाला गुस्सा

मीर फैसल ने एक ट्वीट (जो अब डिलीट हो चुका है) कर कहा, "उत्तर प्रदेश की सभी विपक्षी पार्टियों और नेताओं पर लानत है। अल कुफ्र मिल्लतुन वाहिदा।"

प्रयागराज में दंगे भड़काने के मास्टरमाइंड जावेद अहमद उर्फ पंप और उसकी बेटी आफरीन फातिमा के अवैध निर्माण को प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा तोड़े जाने के बाद इस्लामिक मानसिकता वालों का रोना शुरू हो गया है। इसी कड़ी में इस्लामी पत्रकार मीर फैसल ने उत्तर प्रदेश की सभी राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए योगी सरकार की कार्रवाई का विरोध नहीं करने के लिए ‘काफिर’ करार दिया है।

मीर फैसल ने एक ट्वीट (जो अब डिलीट हो चुका है) कर कहा, “उत्तर प्रदेश की सभी विपक्षी पार्टियों और नेताओं पर लानत है। अल कुफ्र मिल्लतुन वाहिदा।”

फैसल के ट्वीट को शेयर करते हुए सुप्रीम कोर्ट के वकील शशांक शेखर झा ने कहा कि मीर फैसल ने सभी गैर मुस्लिमों को काफिर कहा है। उसका कहना है कि सभी गैर मुस्लिम एक जैसे होते हैं। उल्लेखनीय है कि मीर फैसल वामपंथी और इस्लामी न्यूज पोर्टल्स मकतूब मीडिया, एजे इंग्लिश, द वायर और द क्विंट के लिए लिखता है। (ये जानकारी उसके ट्विटर प्रोफाइल पर है)

यहीं नहीं, मीर फैसल के ट्विटर हैंडल को चेक करने पर इस्लामवाद से जुड़ी कई जानकारी मिली। इस दौरान मीर फैसल का एक और ट्वीट दिखा। इसमें वो प्रयागराज दंगों के आरोपित जावेद अहमद की बेटी आफरीन को उकसाने की कोशिश कर रहा है। फैसल ने लिखा, “आफरीन फातिमा मजबूत बनो। यह कभी मत सोचना कि अल्लाह गलत काम करने वालों से अनजान है। वह उन्हें केवल एक दिन के लिए विलंबित करता है जब आँखें (आतंक में) घूरेंगी। बहुत जल्द ही अल्लाह की मदद मिलेगी।”

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि 10 जून को जुमे की नमाज के बाद इस्लामिक कट्टरपंथियों ने प्रयागराज में जमकर दंगा और पत्थरबाजी की। बाद में पुलिस ने इस दंगे के मास्टरमाइंड जावेद अहमद उर्फ पंप को गिरफ्तार कर लिया। आरोप है कि पंप ने ही बच्चों को आगे कर पत्थरबाजी करवाई थी। इस मामले में जेएनयू की पूर्व छात्रा रही उसकी बेटी आफरीन फातिमा का भी नाम सामने आया है। वहीं उसके अवैध निर्माण को लेकर नोटिस देने के बाद प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने रविवार (12 जून 2022) को ढहा दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe