Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाजप्रयागराज में बच्चों को आगे कर पत्थरबाजी, 5000 पर FIR-68 गिरफ्तार: मास्टरमाइंड जावेद की...

प्रयागराज में बच्चों को आगे कर पत्थरबाजी, 5000 पर FIR-68 गिरफ्तार: मास्टरमाइंड जावेद की JNU वाली बेटी भी रडार पर

घटना में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM से जुड़े लोगों के भी शामिल होने की बातें सामने आ रही है। इस पर SSP का कहना है कि फिलहाल ऐसे किसी कनेक्शन की पुष्टि नहीं हुई है।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शुक्रवार (10 जून, 2022) को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। प्रयागराज के SSP अजय कुमार ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि जावेद अहमद नाम का एक मास्टरमाइंड गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा कई और मास्टरमाइंड हो सकते हैं, उनके बारे में पूछताछ की जा रही है। 

उन्होंने बताया कि कल की घटना में कुछ लोगों ने नाबालिग बच्चों को आगे कर पुलिस-प्रशासन पर पथराव किया। SSP ने बताया कि मामले में 29 अहम धाराओं के तहत केस दर्ज कर गैंगस्टर एक्ट और एनएसए के तहत कार्रवाई होगी। 70 नामजद और 5000 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक, मामले में जावेद अहमद की बेटी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। SSP अजय कुमार ने बताया, “जावेद की बेटी भी इस तरह की गतिविधियों में शामिल है। वह दिल्ली में छात्रा है। जरूरत पड़ी तो हम दिल्ली पुलिस से संपर्क कर अपनी टीमें भेजेंगे।” रिपोर्ट के अनुसार जावेद अहमद की बेटी नाम सारा अहमद है। वह जेएनयू में पढ़ती है।

घटना में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM से जुड़े लोगों के भी शामिल होने की बातें सामने आ रही है। इस पर SSP का कहना है कि फिलहाल ऐसे किसी कनेक्शन की पुष्टि नहीं हुई है। आगे की कार्रवाई के लिए सबूत इकट्ठे किए जा रहे हैं। वहीं प्रयागराज के डीएम संजय कुमार खत्री ने बताया कि 68 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।

गौरतलब है कि बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के पैगंबर को लेकर दिए गए बयान को लेकर उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शुक्रवार (10 जून, 2022) को जुमे के दिन दंगे भड़क गए। नमाज के बाद मस्जिदों से निकली भीड़ ने जम कर पत्थरबाजी और आगजनी की। आगजनी और पत्थरबाजी के अलावा गोलीबारी भी हुई है। ये घटनाएँ अटाला से शुरू हुईं।

पुलिस ने रोका तो उन पर पत्थर चलाए गए। जब लाठीचार्ज से भी बात नहीं बनी तो पुलिस को आँसू गैस के गोले छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। आईजी राकेश सिंह समेत 18 पुलिसकर्मी घायल हो गए। RPF के कई जवान भी जख्मी हुए हैं। कई घंटे तक ये पत्थरबाजी चलती रही। इस दौरान छतों से भी पथराव किया गया। जानकारी के मुताबिक सफाई के दौरान 25 ट्रक पत्थर उठाए गए। इसमें पत्थर और ईंट के अलावा और भी कचरा शामिल था। इसे उठाने के लिए जेसीबी मशीन और 50 सफाई कर्मचारियों की टीम लगानी पड़ी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe