Wednesday, October 20, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाचायनीज प्रोपेगेंडा के लिए The Hindu के खिलाफ आयकर जाँच शुरू, HT पर भी...

चायनीज प्रोपेगेंडा के लिए The Hindu के खिलाफ आयकर जाँच शुरू, HT पर भी शिकायत दर्ज: रिपोर्ट

इस मामले में जाँच से ही खुलासा हो पाएगा कि क्या द हिंदू को विज्ञापन प्रकाशित करने के लिए चीन की एम्बेसी से कोई राजस्व प्राप्त हुआ या नहीं? अगर नहीं हुआ तो भी यह परेशानी का कारण है।

अंग्रेजी समाचार पत्र द हिंदू के ख़िलाफ़ आयकर विभाग ने अपनी जाँच शुरू कर दी है। द हिंदू पर चीन के साथ आर्थिक लेन-देन के आरोप हैं। Sputnik की रिपोर्ट के अनुसार, इस मीडिया समूह के ख़िलाफ़ 2 अक्टूबर को शिकायत दर्ज हुई थी। यह शिकायत महाराष्ट्र के ‘लीगल राइट्स ऑब्जर्वेट्री (Legal Rights Observatory)’ ने गृह मंत्रालय को भेजी थी।

इस शिकायत में चीन और समाचार पत्र के बीच हुए आर्थिक ट्रांजैक्शन को लेकर जाँच करने की माँग की गई थी। यह माँग द हिंदू अखबार में प्रकाशित चीन एम्बेसी के एक विज्ञापन से संबंधित थी, जिसे अखबार ने पूरे पेज पर पब्लिश किया था, वो भी पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की 71वीं वर्षगाँठ पर। इस कारनामे को केवल प्रोपेगेंडा की तरह देखा गया था।

18 अक्टूबर को इस संबंध में गृह मंत्रालय ने शिकायत आयकर विभाग को भेजी थी और 30 दिन का समय देकर इस पूरे मामले पर अपनी रिपोर्ट जमा करने को कहा था। दरअसल, एलआरओ की ओर से दायर शिकायत में समाचार पत्र के इस कारनामे को एलएसी पर बढ़े विवाद से जोड़कर देशद्रोही कार्य कहा गया था।

संगठन ने दावा किया था कि मामले में जाँच से ही खुलासा हो पाएगा कि क्या द हिंदू को विज्ञापन प्रकाशित करने के लिए चीन एम्बेसी से कोई राजस्व प्राप्त हुआ या नहीं? अगर नहीं हुआ तो भी यह परेशानी का कारण है।

हिंदुस्तान टाइम्स के ख़िलाफ़ लिखित शिकायत

एलआरओ (LRO) ने एक लिखित शिकायत करके हिंदुस्तान टाइम्स के ख़िलाफ़ भी जाँच शुरू करने की माँग की है। दरअसल, अंग्रेजी समाचार पत्र ने अपने 30 अक्टूबर के संस्करण में चीन मुखपत्र को जगह दी थी। इसी वजह से संगठन ने यह माँग उठाई। शिकायत में अखबार की इस हरकत को यूनाइटिड फ्रंट वर्क डिपार्टमेंट के प्रोपेगेंडा के आगे भारतीय हितों को कमतर बताने वाला कहा गया।

भारतीय अखबार चला रहे चीन का प्रोपगेंडा

यहाँ बता दें कि 1 अक्टबूर को द हिंदू ने चीन के लिए एक पूरे पेज में विज्ञापन प्रकाशित किया था। यह अखबार का तीसरा पृष्ठ था। दिलचस्प चीज यह थी कि द हिंदू ने जिसे अपने अखबार की हार्ड कॉपी में तीसरे पेज पर पब्लिश करवाया, वह पेज डिजिटल वेबासइट पर कहीं नहीं था।

द हिंदू के बाद हिंदुस्तान टाइम्स ने चाइना डेली वाले चार पृष्ठ के सप्लीमेंट को आठवें पेज पर जगह दी थी। साथ ही अखबार ने डिस्क्लेमर के साथ लिखा था, “यह सप्लीमेंट पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चीन के चाइना डेली द्वारा तैयार किया गया है। इसमें हिंदुस्तान टाइम्स की न्यूज व संपादकीय नहीं शामिल किए गए हैं।”

इस सप्लीमेंट में चीन के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के बारे में सूचना दी गई थी। साथ ही यह भी बताया गया था कि कैसे वैश्विक स्तर पर चीन के युवा सक्रियता से काम कर रहे हैं और किस प्रकार विकास के समांतर चीन ने अपनी संस्कृति का संरक्षण किया हुआ है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘…पूरी पार्टी ही हैक कर ली है मोटा भाई ने’: सपा कार्यकर्ता ने मंच से किया BJP का प्रचार, लोगों ने लिए मजे; वीडियो...

SP के धरना प्रदर्शन का एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है, जिसमें पार्टी का एक कार्यकर्ता अनजाने में बीजेपी के लिए प्रचार करता दिखाई दे रहा है।

स्मृति ईरानी ने फैबइंडिया के ट्रायल रूम से पकड़ा था हिडन कैमरा, ‘खादी’ के अवैध इस्तेमाल सहित कई मामले: ब्रांड का विवादों से है...

फैबइंडिया का विवादों से पुराना नाता रहा है। एक मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गोवा के कैंडोलिम में स्थित फैबइंडिया आउटलेट के ट्रायल रूम में हिडन कैमरा पकड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,106FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe