Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टमीडियामीडिया गैंग ने फैलाया झूठ, लोटन निषाद की हत्या पर मुँह में दही जमाए...

मीडिया गैंग ने फैलाया झूठ, लोटन निषाद की हत्या पर मुँह में दही जमाए बैठे भीम आर्मी चीफ को भी हुआ जुलाब

मीडिया गैंग की तरह ही दलितों की राजनीति का दावा करने वाले भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ़ रावण ने भी बेशर्मी दिखाई। उसने इस फर्जी खबर पर मोदी-शाह को जिम्मेदार बताने में जरा भी देरी नहीं की। लेकिन प्रयागराज में हुई लोटन निषाद की हत्या पर वह चुप्पी साध कर बैठा रहा।

देश में लिबरल सेकुलर मीडिया गैंग किस कदर झूठ बेचता है, प्रोपेगेंडा फैला सही खबरों को दबाता है और झूठ की उल्टियाँ करता है, इसका एक नमूना दिल्ली के बवाना इलाके में हुई घटना की रिपोर्टिंग है। पिछले दिनों मीडिया गैंग ने रिपोर्ट किया कि कोरोना संक्रमण फ़ैलाने के शक में बवाना के 22 वर्षीय महबूब अली की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। महबूब अली भोपाल में हुई तबलीगी कॉन्फ्रेन्स में 45 दिन रह कर लौटा था।

सच इस दावे के ठीक विपरीत है। लेकिन न तो किसी ने सच जानने की जरूरत समझी न ही झूठ पकड़े जाने पर माफ़ी माँगना या भूल सुधार करना ही ठीक समझा।

THE WEEK ने पीटीआई की खबर चलाते समय सच की पड़ताल करना जरूरी नहीं समझा।

बिजनेस स्टैंडर्ड ने भी कतई कोताही नहीं बरती और बेशर्मी के साथ झूठ परोसा। जब कथित निष्पक्ष मीडिया संस्थानों को झूठ फैलाने में संकोच नहीं हुआ तो प्रोपेगेंडा साइट क्विंट के कारनामों पर कहना ही क्या।

OUTLOOK ने भी शुरुआत में यही झूठ चलाया, लेकिन बाद में उसने सुधार कर लिया।

बाद में उसने अपनी नई रिपोर्ट में सच बताते हुए लिखा कि जिस 22 साल के महबूब अली की हत्या की बात की जा रही वह दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल के आइसोलेशन सेंटर में भर्ती है, क्योंकि उसके कोरोना संक्रमित होने का संदेह है।

मीडिया गैंग की तरह ही दलितों की राजनीति का दावा करने वाले भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ़ रावण ने भी बेशर्मी दिखाई। उसने इस फर्जी खबर पर मोदी-शाह को जिम्मेदार बताने में जरा भी देरी नहीं की। लेकिन प्रयागराज में हुई लोटन निषाद की हत्या पर वह चुप्पी साध कर बैठा रहा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस घटना के संबंध में अबतक 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वहीं महबूब अली स्वस्थ है और उसे एहतियातन आइसोलेशन वार्ड में भर्ती रखा गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिद्धू के नाम ऑडियो, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की आत्महत्या: कहा – ‘पार्टी को 30 साल दिए, शादी भी नहीं… कोई फायदा नहीं’

ऑडियो के मुताबिक किसी प्लॉट संबंधी एक मामले में बाजवा को फँसाने की तैयारी चल रही थी, इसी से आहत होकर उन्होंने आत्महत्या का फैसला किया।

कॉन्ग्रेसी CM, बेटी के ससुराल का मेडिकल कॉलेज और विधानसभा से बिल पास: धोखाधड़ी, ₹125 करोड़ का कर्ज – आरोप ही आरोप

छत्तीसगढ़ में 125 करोड़ के कर्ज में डूबा मेडिकल कॉलेज सीएम भूपेश बघेल की बेटी के ससुराल का है। इसके अधिग्रहण के लिए बिल पास कर...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,956FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe