Sunday, April 18, 2021
Home रिपोर्ट मीडिया 'न्यूज़लॉन्ड्री' के इन्वेस्टर, #MeToo आरोपित महेश मूर्ति पर लिख सकेगा मीडिया, पीड़िताएँ: कोर्ट ने...

‘न्यूज़लॉन्ड्री’ के इन्वेस्टर, #MeToo आरोपित महेश मूर्ति पर लिख सकेगा मीडिया, पीड़िताएँ: कोर्ट ने रद्द किया स्टे

महेश मूर्ति ने मानहानि का यह मुकदमा रश्मि बंसल, पूजा चौहान और वामिका अय्यर पर भी दायर किया है। जिन्होंने महेश द्वारा किए गए ज़्यादती भरे व्यवहार पर खुल कर बात की थी। महेश मूर्ति द्वारा दायर किए गए मानहानि मुक़दमे में कुछ पत्रकारों और कई मशहूर प्रकाशन जैसे डेक्कन क्रोनिकल, योर स्टोरी और शी द पीपल से जुड़े लोगों का भी नाम शामिल था।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने न्यूज़लॉन्ड्री के इन्वेस्टर महेश मूर्ति पर लगे यौन उत्पीड़न (MeToo) के मामले पर एक बड़ा फैसला सुनाया है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने अप्रैल 2017 के अंतरिम आदेश को रद्द कर दिया है जिसके तहत तमाम समाचार समूहों पर महेश मूर्ति पर लगाए गए आरोपों से संबंधित ख़बरें प्रकाशित करने पर रोक लगाई गई थी। न्यायालय ने आरोप लगाने वाली महिलाओं को इस मामले से जुड़ी ख़बरें न प्रकाशित करने के आदेश पर रोक लगा दी है।

खबरों के मुताबिक़ सिंगल जज बेंच के मुखिया जयंत नाथ ने इस मामले पर आदेश जारी किया। सोमवार के दिन आदेश जारी करते हुए उन्होंने कहा, तथ्यों के आधार पर यह कहा जा सकता है कि बचाव पक्ष (महेश के खिलाफ लिखने वाले) के अनुसार 1, 2, 15, 16 (चारों अभियुक्त) का अनुभव शिकायतकर्ता के साथ अत्यंत अप्रिय या शायद उससे भी ज़्यादा बुरा रहा है। बचाव पक्ष के तथ्यों को मद्देनज़र रखते हुए उन्हें पब्लिक डोमेन (सामाजिक विमर्श के मंच) में जगह मिलनी चाहिए।’

महेश मूर्ति जो बतौर वेंचर कैपिटलिस्ट उद्यमों में पूँजी लगाने के लिए जाने जाते हैं और घोर वामपंथी समाचार समूह न्यूज़लॉन्ड्री के निवेशक हैं। उन्होंने समाचार समूह न्यूज़ 18 के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है, जिसमें उनका आरोप है न्यूज़ 18 उन पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों की कवरेज कर रहा है।

महेश मूर्ति ने मानहानि का यह मुकदमा रश्मि बंसल, पूजा चौहान और मीरा (बदला हुआ नाम) पर भी दायर किया है। जिन्होंने महेश द्वारा किए गए ज़्यादती भरे व्यवहार पर खुल कर बात की थी। महेश मूर्ति द्वारा दायर किए गए मानहानि मुक़दमे में कुछ पत्रकारों और कई मशहूर प्रकाशन जैसे डेक्कन क्रोनिकल, योर स्टोरी और शी द पीपल से जुड़े लोगों का भी नाम शामिल था। न्यायाधीश जयंत नाथ ने यह भी कहा कि प्रथम दृष्टया ऐसा नहीं कहा जा सकता है कि बचाव पक्ष ने शिकायत कर्ता (महेश) का अपमान करने के लिए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का दुरुपयोग किया है। 

न्यायालय ने मूर्ति के उन दावों को भी सिरे से खारिज किया है जिसमें उन्होंने यह कहा था कि शिकायत करने वालों ने निजी दुर्भावना के चलते इस तरह के आरोप लगाए हैं। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि महेश मूर्ति ने उनके वेंचर में पूँजी नहीं लगाई थी। इसके अलावा न्यायालय ने यह भी कहा कि महेश द्वारा दायर की गई याचिका में कई घटनाओं का उल्लेख बहुत बेतरतीब तरीके से था। और तो और वह एक ही मामले में सारे आरोपों से राहत चाहते थे। 

वहीं दूसरी तरफ महेश मूर्ति का यह कहना है कि तमाम समाचार समूहों ने उनके विरोध में ऐसी ख़बरें चलाई जैसे उन्हें युवा महिला उद्यमियों और महिलाओं के साथ उत्पीड़न की आदत हो। उस तरह की ख़बरों से आम जनता में उनको लेकर बहुत गलत संदेश जाएगा जो की असलियत में सही नहीं है। महेश ने उन पर आरोप लगाने वाली महिलाओं को और उन पर लगाए गए आरोपों पर खबर लिखने वालों को अपने मुक़दमे में एक ही श्रेणी में रखा था। इसके अलावा महेश ने अपने दो पार्टनर्स पर भी मुकदमा दर्ज कराया है। 

न्यायालय का यहाँ तक कहना है कि बचाव पक्ष के पास अभिव्यक्ति की आज़ादी का अधिकार है। अगर मामलों की सुनवाई के बाद बचाव पक्ष की दलीलें और तथ्य गलत साबित होते हैं तब शिकायत कर्ता हानि का भुगतान करने के लिए स्वतंत्र होंगे। मानवाधिकार कार्यकर्ता और अधिवक्ता दीपिका नारायण भारद्वाज ने आदेश का स्वागत करते हुए ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने कहा महेश मूर्ति के झूठे मुक़दमे के चलते उनके अलावा बचाव पक्ष के तमाम लोग कुछ कह या लिख नहीं पा रहे थे लेकिन अब ऐसा नहीं है। 

साल 2017 के दौरान 6 महिलाओं ने न्यूज़लॉन्ड्री के मुखिया महेश मूर्ति पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। जिसकी कवरेज ऑपइंडिया समेत कई समाचार समूहों ने की थी। इन 6 महिलाओं में से 3 ने सामने आकर आरोपों का ज़िक्र किया और अपने अनुभव साझा किए। सारे आरोपों के मामले साल 2003 से 2016 के बीच के थे। तकनीकी वेबसाइट फैक्टर डेली के फाउंडर ने ट्वीट की शृंखला में महेश मूर्ति पर आरोप लगाया था। 

तमाम रिपोर्ट्स में महेश मूर्ति पर लगाए गए आरोपों के मामले से जुड़ी कई जानकारी प्रकाशित हुई। जिसमें यह लिखा था कि रश्मि बंसल नाम की लेखक और एक महिला पत्रकार के साथ उन्होंने ज्यादती और दुर्व्यवहार किया था। इसमें संदेश, मौखिक उत्पीड़न और शारीरिक उत्पीड़न का भी उल्लेख था। महेश मूर्ति ने दिल्ली की एक प्रशासनिक अधिकारी को कुछ ऐसा संदेश भी भेजा था 

 “Hey babe, one’s supposed to ce।ebrate Diwali by b।owing a pataka. So can I go down on you p।ease? :-)”

इसके अलावा महेश मूर्ति ने एक डिजिटल मीडिया कंपनी की कर्मचारी को साल 2006 में यह संदेश भेजा था

 “Are you a virgin”   

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने उड़ाया साधु-संतों का मजाक, उस बॉलीवुड डायरेक्टर को पाकिस्तान का FREE टिकट: मिलने के बाद ट्विटर से ‘भागा’

फिल्म निर्माता हंसल मेहता सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। इस बार विवादों में घिरने के बाद उन्होंने...

फिर केंद्र की शरण में केजरीवाल, PM मोदी से माँगी मदद: 7000 बेड और ऑक्सीजन की लगाई गुहार

केजरीवाल ने पीएम मोदी से केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10,000 में से कम से कम 7,000 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने और तुरंत ऑक्सीजन मुहैया कराने की अपील की है।

SC के जज रोहिंटन नरीमन ने वेदों पर की अपमानजनक टिप्पणी: वर्ल्ड हिंदू फाउंडेशन की माफी की माँग, दी बहस की चुनौती

स्वामी विज्ञानानंद ने SC के न्यायाधीश रोहिंटन नरीमन द्वारा ऋग्वेद को लेकर की गई टिप्पणियों को तथ्यात्मक रूप से गलत एवं अपमानजनक बताते हुए कहा है कि उनकी टिप्पणियों से विश्व के 1.2 अरब हिंदुओं की भावनाएँ आहत हुईं हैं जिसके लिए उन्हें बिना शर्त क्षमा माँगनी चाहिए।

राहुल गाँधी अब नहीं करेंगे चुनावी रैली: 4 राज्य में जम कर की जनसभा, बंगाल में हार देख कोरोना का बहाना?

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस, लेफ्ट पार्टियों के साथ गठबंधन में है लेकिन उनके सरकार बनाने की संभावनाएँ न के बराबर हैं। शायद यही कारण है कि...

रामनवमी के अवसर पर अयोध्या न आएँ, घरों में पूजा-अर्चना करें: रामनगरी के साधु-संतों का फैसला, नहीं लगेगा मेला

CM योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से अयोध्या के संतों से विकास भवन में वार्ता की। वार्ता के बाद संत समाज ने राम भक्तों से अपील की है कि...

रोजा वाले वकील की तारीफ, रमजान के बाद तारीख: सुप्रीम कोर्ट के जज चंद्रचूड़, पेंडिग है 67 हजार+ केस

जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने याचिककर्ता के वकील को राहत देते हुए एसएलपी पर हो रही सुनवाई को स्थगित कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

‘वाइन की बोतल, पाजामा और मेरा शौहर सैफ’: करीना कपूर खान ने बताया बिस्तर पर उन्हें क्या-क्या चाहिए

करीना कपूर ने कहा है कि वे जब भी बिस्तर पर जाती हैं तो उन्हें 3 चीजें चाहिए होती हैं- पाजामा, वाइन की एक बोतल और शौहर सैफ अली खान।

सोशल मीडिया पर नागा साधुओं का मजाक उड़ाने पर फँसी सिमी ग्रेवाल, यूजर्स ने उनकी बिकनी फोटो शेयर कर दिया जवाब

सिमी ग्रेवाल नागा साधुओं की फोटो शेयर करने के बाद से यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। उन्होंने कुंभ मेले में स्नान करने गए नागा साधुओं का...

’47 लड़कियाँ लव जिहाद का शिकार सिर्फ मेरे क्षेत्र में’- पूर्व कॉन्ग्रेसी नेता और वर्तमान MLA ने कबूली केरल की दुर्दशा

केरल के पुंजर से विधायक पीसी जॉर्ज ने कहा कि अकेले उनके निर्वाचन क्षेत्र में 47 लड़कियाँ लव जिहाद का शिकार हुईं हैं।

ऑडियो- ‘लाशों पर राजनीति, CRPF को धमकी, डिटेंशन कैंप का डर’: ममता बनर्जी का एक और ‘खौफनाक’ चेहरा

कथित ऑडियो क्लिप में ममता बनर्जी को यह कहते सुना जा सकता है कि वो (भाजपा) एनपीआर लागू करने और डिटेन्शन कैंप बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

रोजा-सहरी के नाम पर ‘पुलिसवाली’ ने ही आतंकियों को नहीं खोजने दिया, सुरक्षाबलों को धमकाया: लगा UAPA, गई नौकरी

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले की एक विशेष पुलिस अधिकारी को ‘आतंकवाद का महिमामंडन करने’ और सरकारी अधिकारियों को...

जहाँ इस्लाम का जन्म हुआ, उस सऊदी अरब में पढ़ाया जा रहा है रामायण-महाभारत

इस्लामिक राष्ट्र सऊदी अरब ने बदलते वैश्विक परिदृश्य के बीच खुद को उसमें ढालना शुरू कर दिया है। मुस्लिम देश ने शैक्षणिक क्षेत्र में...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,236FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe