Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टमीडियासंजुक्ता, सुशांत सिंह, किसान एकता मोर्चा... वे प्रोपेगेंडाबाज ट्विटर हैंडल जिन पर कसा शिकंजा

संजुक्ता, सुशांत सिंह, किसान एकता मोर्चा… वे प्रोपेगेंडाबाज ट्विटर हैंडल जिन पर कसा शिकंजा

गणतंत्र दिवस के दौरान आंदोलन की आड़ में किए गए दंगों के बाद ट्विटर इंडिया ने यह कार्रवाई की है। 'द कारवाँ इंडिया’ ने एक आंदोलनकारी की मौत को लेकर फ़ेक न्यूज़ फैलाई थी।

ट्विटर इंडिया ने गणतंत्र दिवस के मौके पर हुए दंगों के बाद उठी क़ानूनी माँग को मद्देनज़र में रखते हुए कई ट्विटर एकाउंट्स पर रोक लगा दी है। इसमें सबसे चर्चित है घनघोर वामपंथी मीडिया समूह/पोर्टल ‘द कारवाँ इंडिया’ के हैंडल पर लगाई गई रोक। इसके अलावा भी कई ट्विटर अकाउंट पर कार्रवाई हुई है। 

द कारवाँ के ट्विटर अकाउंट पर रोक

अभिनेता सुशांत सिंह के ट्विटर अकाउंट पर रोक लगाई गई है, जिसका यूज़रनेम Sushant_Says है। 

imMAK02 नाम के ट्विटर यूज़र पर भी कार्रवाई हुई है। 

‘ट्राइबल आर्मी’ (tribal army) के संस्थापक हंसराज मीणा के ट्विटर अकाउंट पर भी रोक लगाई गई है।

Aartic02 नाम का ट्विटर अकाउंट भी कार्रवाई के दायरे में आया है। 

सलीम डॉट कामरेड (Salimdotcomrade) नाम के ट्विटर अकाउंट पर भी रोक लगाई गई है।

‘ट्रेक्टर 2 ट्विटर’ (Tractor2Twitter) अकाउंट पर भी रोक लगाई गई। 

राहुल गाँधी की प्रचंड समर्थक संजुक्ता के अकाउंट पर भी रोक लगाई गई है। 

संजुक्ता के एकाउंट पर रोक

इसके अलावा किसान एकता मोर्चा के ट्विटर अकाउंट पर भी कार्रवाई हुई है। 

गणतंत्र दिवस के दौरान आंदोलन की आड़ में किए गए दंगों के बाद ट्विटर इंडिया ने यह कार्रवाई की है। ‘द कारवाँ इंडिया’ ने एक आंदोलनकारी की मौत को लेकर फ़ेक न्यूज़ फैलाई थी। असल में आंदोलनकारी की मौत दुर्घटना में हुई थी, जबकि दावा यह किया जा रहा था कि उसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है।   

   

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe