Saturday, July 24, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाट्विटर पर जलाकर मारे गए कारसेवकों की बात करना मना है: गोधरा नरसंहार से...

ट्विटर पर जलाकर मारे गए कारसेवकों की बात करना मना है: गोधरा नरसंहार से जुड़े पोस्ट डिलीट करने को कर रहा मजबूर

"क्या आप ऐतिहासिक घटनाओं को बदलना चाहते हैं? क्या साबरमती नरसंहार कभी नहीं हुआ? आप मेरी पोस्ट हटा सकते हैं, लेकिन हकीकत नहीं बदल सकते!"

हाल में ट्विटर का पक्षपाती सेंसरशिप एक गंभीर चिंता का मसला बनकर उभरा है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उन राजनीतिक आवाजों के साथ पक्षपात करने के आरोप हैं जिनसे वह सहमत नहीं होता। इस तरह की स्थिति यूजर्स ने प्लेटफॉर्म पर गोधरा में जलाकर मारे गए कार सेवकों को लेकर बात करने वाले ​पोस्ट्स को जानबूझकर ब्लॉक करने का आरोप लगाया है।

एक यूजर ने बताया है कि उसने ‘कभी न भूलना (Never Forget)’ कैप्शन के साथ गोधरा नरसंहार की तस्वीर पोस्ट की थी। इसके बाद उसका अकाउंट एक खास समय के लिए लॉक कर दिया गया। ट्विटर ने दोबारा अकाउंट बहाल करने के लिए ट्विटर से पोस्टर डिलीट करने या फिर उसे इस कार्रवाई के खिलाफ अपील करने को कहा।

हालाँकि यूजर ने पाया कि उसका ट्वीट उसकी अपील पर गौर करने से पहले ही हटाया जा चुका है। आखिरकार, उसने अपने ट्वीट को डिलीट करने का फैसला किया, क्योंकि इसे पहले ही हटाया जा चुका था। ट्विटर पर कमेंट करते हुए यूजर ने कहा, “क्या आप ऐतिहासिक घटनाओं को बदलना चाहते हैं? क्या साबरमती नरसंहार कभी नहीं हुआ? आप मेरी पोस्ट हटा सकते हैं, लेकिन हकीकत नहीं बदल सकते!”

एक अन्य यूजर ने दिल्ली दंगों के दौरान आईबी कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा की बेरहम हत्या से जुड़ी तस्वीरें पोस्ट की। इसे ‘सेंसेटिव इन्फोर्मेशन’ के तौर पर लेबल कर दिया गया।

सेंसरशिप को लेकर ट्विटर का वामपंथी पूर्वाग्रह पिछले कुछ समय से चिंता का प्रमुख विषय रहा है। एक तरफ वे ट्वीट जो गोधरा नरसंहार के हिंदू पी​ड़ितों की बात करते हैं उन्हें डिलीट करने के लिए यूजर्स को मजबूर किया जा रहा, दूसरी तरफ प्लेटफॉर्म ने उन अकाउंट्स को ब्लॉक करने से इनकार कर दिया था जो किसान आंदोलन की आड़ में फेक न्यूज फैलाकर देश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ना चाहते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe