Sunday, August 1, 2021
Homeरिपोर्टमीडियापत्रकार रिजवाना तबस्सुम को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में सपा नेता शमीम...

पत्रकार रिजवाना तबस्सुम को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में सपा नेता शमीम नोमानी गिरफ्तार

रिजवाना के पिता अजीजुल हकीम ने लोहटा थाने में सुसाइड नोट के आधार पर शमीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए घटना के कुछ घंटों ही बाद सपा नेता शमीम नोमानी को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि नोमानी समाजवादी पार्टी की जिला कार्यकारिणी के सदस्य हैं।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी की स्वतंत्र पत्रकार रिजवाना तबस्सुम आत्महत्या मामले में वाराणसी पुलिस ने आरोपित सपा नेता शमीम नोमानी को गिरफ्तार कर लिया है। 28 वर्षीय स्वतंत्र पत्रकार का शव सोमवार (मई 4, 2020) को घर के अंदर पंखे के लटका हुआ मिला था। उनके कमरे से मिले एक सुसाइड नोट में युवा समाजवादी पार्टी (सपा) नेता शमीम नोमानी को आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया गया था।

घटना के बाद रिजवाना के पिता अजीजुल हकीम ने लोहटा थाने में सुसाइड नोट के आधार पर शमीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए घटना के कुछ घंटों ही बाद सपा नेता शमीम नोमानी को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि नोमानी समाजवादी पार्टी की जिला कार्यकारिणी के सदस्य हैं।

आगामी विधानसभा चुनाव में वो सपा से टिकट के दावेदार थे, हालाँकि अभी तक पत्रकार की आत्महत्या मामले में सपा नेता की भूमिका को लेकर स्थिति साफ नहीं हो सकी है और वाराणसी पुलिस भी इस घटना में सपा नेता की भूमिका पर कुछ भी कहने से बच रही है। पुलि‍स प्रथम दृष्टया मामला को प्रेम प्रसंग का मान कर चल रही है।

सपा नेता को गिरफ्तार करने के बाद से ही पुलिस आरोपित से पूछताछ में जुट गई है। साथ ही लोहता पुलिस रिजवाना के मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर भी मामले की जाँच कर रही है। लोहता थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह के मुताबिक शमीम नोमानी को गिरफ्तार किया तो उसने खुद को सपा का जिला उपाध्यक्ष बताते हुए कहा कि वह साजिश का शिकार हुआ है।

वहीं समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष सुजीत यादव लक्कड़ ने कहा कि आरोपित शमीम नोमानी का हमारी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। रिजवाना के परिजनों का आरोप है कि शमीम नोमानी फोन करके अक्सर उन्हें परेशान करता था। इसे लेकर रिजवाना बताती थी कि शमीम परेशान करना बंद नहीं करेगा तो वह जान दे देगी।

गौरतलब है कि फ्रीलान्स जर्नलिस्ट रिजवाना तबस्सुम बीबीसी हि‍न्‍दी, द वायर, द प्रिंट, खबर लहरि‍या सहि‍त कई पत्र-पत्रिकाओं के लिए लिखा करती थीं। उनके कई आर्टिकल विभिन्न मीडिया पोर्टलों और प्रिंट में प्रकाशित हो चुके हैं। रिजवाना ने मिर्जापुर में स्थित बरकछा खुर्द स्थित बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के राजीव गाँधी कैम्पस से मास कम्युनिकेशन की डिग्री ली थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

पीवी सिंधु ने ओलम्पिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता: वेटलिफ्टिंग और बॉक्सिंग के बाद बैडमिंटन ने दिलाया देश को तीसरा मेडल

भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता। चीनी खिलाड़ी को 21-13, 21-15 से हराया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,477FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe