Sunday, May 19, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'लीचड़ आदमी, पिटते-पिटते बचे अंकल': MP में वोट देकर निकल रही महिलाओं के पीछे...

‘लीचड़ आदमी, पिटते-पिटते बचे अंकल’: MP में वोट देकर निकल रही महिलाओं के पीछे भाग रहे थे अजीत अंजुम, देखिए कैसे लगी फटकार

वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम, मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में मतदान वाले दिन पोलिंग बूथ के पास रिपोर्टिंग करने पहुँचे थे। वहाँ उन्होंने महिला वोटरों से कई बार पूछा कि वो किसकी सरकार चाहती हैं या किसे वोट देकर आई हैं। कुछ महिलाओं से बात करने तो वो उनके पीछे तक भागे। यही देख वहाँ खड़े कुछ पुरुष भड़क गए।

वरिष्ठ पत्रकार व यूट्यूबर अजीत अंजुम की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा जा रहा है कि रिपोर्टिंग के दौरान ‘पिटते-पिटते बचे अजीत अंकल।’

वीडियो में नजर आ रहा है कि कैसे मतदान वाले दिन अजीत अंजुम पोलिंग बूथ से बाहर निकल रही महिलाओं से बात करने का प्रयास कर रहे हैं और बार-बार पूछ रहे हैं कि उन्होंने किसको वोट दिया।

उनके इन सवालों का जवाब कुछ वोटर ठीक ढंग से जवाब देते हैं जबकि कुछ महिलाएँ उन्हें देख असहज हो जाती हैं। वो कहती हैं कि बूथ में कुछ लोग वोट देखकर डलवा रहे हैं। ये सुनते ही अजीत अंजुम उनसे और बात करने के लिए पीछे-पीछे भागते हैं लेकिन महिलाएँ तब तक असहज हो जाती हैं, वो कहती हैं कि जिसकी सरकार बनेगी बन जाएगी। मगर वरिष्ठ पत्रकार फिर भी बाज नहीं आते।

वो पूछते रहते हैं किसकी सरकार बनेगी, उन्होंने किसको वोट दिया है। उनकी इसी हरकत को देखकर कुछ लोग उन्हें पीछे से आकर फटकार लगाते हैं जिन्हें देख अजीत अंजुम थोड़ा घबराते हैं और फिर आगे निकल लेते हैं।

अजीत अंजुम के चैनल पर इस रिपोर्टिंग की पूरी वीडियो है। वह मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वोटिंग वाले दिन मुरैना जिले के दिमनी क्षेत्र अलग-अलग पोलिंग बूथ पर जाकर रिपोर्टिंग कर रहे थे।

उनकी पूरी वीडियो 41 मिनट 20 सेकेंड की है। 11वें मिनट के स्लॉट के बाद देख सकते हैंउनके साथ ये घटना होती है और उसके बाद आगे वो ये कहते नजर आते हैं कि जिन्होंने उन्हें पकड़कर माहौल को तनावपूर्ण बनाने की कोशिश की वो भाजपा कार्यकर्ता हैं। इसके अलावा जो लोग भी आकर उन्हें बताते कि इस बार नरेंद्र तोमर की सरकार बनेगी, तो वहाँ भी वो यही कहते सुनाई पड़ते कि ये लोग भाजपा कार्यकर्ता हैं।

एक्स पर अब उनकी वीडियो की छोटी सी क्लिप वायरल है। यूजर्स देखकर हैरान हैं कि कोई वरिष्ठ पत्रकार ऐसी हरकत कैसे कर सकता है? कैसे कोई वोटर्स के पीछे सवाल पूछने के लिए इतना पड़ सकता है?

कुछ चुटकी लेते हुए कह रहे हैं कि इन हरकतों पर तो कुटाई होनी ही चाहिए। वहीं कुछ बोल रहे हैं कि अगर ऐसा कुछ इन्होंने राजस्थान या हरियाणा में किया होता तो इनकी ऑन कैमरा पिटाई भी होती।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भीखू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भीखू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -