Monday, May 16, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाफेसबुक पर देवी-देवताओं को गाली, TV पर मंदिर से रिपोर्टिंग: वाजिद अली को 'न्यूज...

फेसबुक पर देवी-देवताओं को गाली, TV पर मंदिर से रिपोर्टिंग: वाजिद अली को ‘न्यूज नेशन’ ने निकाला, कहा- हैक हुआ अकाउंट

'न्यूज़ नेशन टीवी' के एंकर शुभम त्रिपाठी ने कहा कि ऐसे जिहादियों की यहाँ कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने ऐसे लोगों को पत्रकारिता के नाम पर कालक और धब्बा करार दिया।

गिरोह विशेष के पत्रकार अब खुल कर हिन्दू धर्म के खिलाफ आने लगे हैं। ताज़ा मामला है ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ के पत्रकार वाजिद अली का, जिसके एक फेसबुक कमेंट के कारण हिन्दुओं में उबाल है। इसमें उसने न सिर्फ प्रजापति ब्रह्मा और मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम, बल्कि भगवान हनुमान, माँ काली और गणेश का भी अपमान किया है। पोल खुलने के बाद उसने अपने फेसबुक आईडी हैक किए जाने का दावा किया और शिकायत दर्ज कराई।

उक्त फेसबुक कमेंट में वाजिद अली ने लिखा, “अबे टोपे, तुझसे अच्छा तो मेरा टोपा है। तू अब बता नहीं रहा, सिर्फ अपनी कहे जा रहा है। राम शाकाहारी था या मांसाहारी? ब्रह्मा ने अपनी माँ को क्यों चो%$? और हाँ, तूने ये बात मानी कि 160 करोड़ लोग मानते हैं तो कुछ तो बात होगी मेरी किताब में। 200 करोड़ लोग भी मानेंगे। सुन झाँ$%, किताब में इन सबका कोई जिक्र नहीं है जो तूने पूछी। %$डी के बच्चे, पहले खुद पढ़ ले मेरी किताब।”

इसी कमेंट में वाजिद अली ने आगे लिखा, “हदीस और कुरान, दोनों अलग है %$ड़ू। हमारा तो सभी चीजों का लॉजिक है। तू बता गुफा की पैदाइश, हनुमान ने सूरज को कैसे निगला? इंसान पर हाथी का सूँड कैसे फिट हो सकता है? एक इंसान के 12 हाथ कैसे हो सकते हैं, जैसे काली के। ये तो सिर्फ शैतानों में होते हैं। सवाल तो बहुत है, बस एक बता दे कि राम शाकाहारी थे या मांसाहारी?” इस कमेंट में आप हिन्दू धर्म के प्रति वाजिद अली की घृणा को देख सकते हैं।

इसका स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद उसने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, “पहले आईडी हैक कर के या दूसरी आईडी बना कर पैसे माँगे जाते थे, या फिर अश्लील वीडियो बना कर ब्लैकमेल किया जाता था। लेकिन, अब किसी समुदाय के प्रति घृणा वाले कमेंट्स कर के बदनाम करने की कोशिश होने लगी है। इससे बचना चाहिए। मैंने शिकायत दर्ज कराई है।” हाल ही में वाजिद अली ने पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने और महँगाई को लेकर ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ की अपनी एक रिपोर्ट भी शेयर की थी।

वाजिद अली ने किया अपना फेसबुक अकाउंट हैक हो जाने का दावा

और तो और, ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ ने वाजिद अली को चैत्र नवरात्र की कवरेज के लिए भी भेजा था। इस कमेंट के एक दिन पहले ही ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ पर उसका वीडियो अपलोड हुआ था। उसने दिल्ली के झंडेवालान मंदिर से लाइव आकर दुर्गा पूजा की रिपोर्टिंग की थी। इसमें उसने बताया था कि नवरात्र के तीसरे दिन राक्षसों का वध करने के लिए माँ दुर्गा ने चंद्रघंटा का रूप लिया था और मंदिर में उनकी पूजा के साथ जयकारे लग रहे हैं और ‘माता की चौकी’ भी खूबसूरत तरीके से सजी हुई है।

इस रिपोर्ट में उसने बताया था कि कोरोना के कारण मंदिर बंद थे, लेकिन अब इसके खुलने के बाद हजारों की तादाद में श्रद्धालु आ रहे हैं और रविवार के दिन तो 1 लाख से भी अधिक श्रद्धालु आए। ऊपर संलग्न किए गए रिपोर्ट में आप उसकी रिपोर्टिंग को देख सकते हैं। वहीं ‘सुदर्शन न्यूज़’ के पत्रकार सागर कुमार ने बताया कि ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ ने वाजिद अली पर कार्रवाई करते हुए उसे बाहर का रास्ता दिखा दिया है। उसे निकाल दिया गया है।

उन्होंने इसके लिए ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ को धन्यवाद भी किया। ‘न्यूज़ नेशन टीवी’ के एंकर शुभम त्रिपाठी ने कहा कि ऐसे जिहादियों की यहाँ कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने ऐसे लोगों को पत्रकारिता के नाम पर कालक और धब्बा करार दिया। ऑपइंडिया ने जब वाजिद अली से बात की तो उन्होंने बताया कि चैनल ने एक मेल कर के उन्हें निकाले जाने की सूचना दी है। उन्होंने बताया कि उन्होंने ये कमेंट्स नहीं किए हैं और उन्हें तो दोस्तों ने फोन कॉल कर के बताया कि आप क्या कर रहे हो?

उन्होंने कहा, “मैं हर धर्म का सम्मान करता हूँ। मंदिर भी जाता हूँ। दरगाह भी जाता हूँ। हर जगह से स्टोरी करता हूँ। मैंने जब चेक किया तो कहीं भी वो कमेंट्स नहीं मिले प्रोफाइल पर। मैंने साइबर सेल में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई है। वाजिद नाम होने के कारण मुझे नुकसान उठाना पड़ रहा है, जाहिर है कोई यकीन नहीं करेगा मेरा। मैं हिन्दू भाइयों के बीच पला-बढ़ा हूँ। होली पर गुझिया और दीवाली पर मिठाइयाँ माँग कर खाई है। हम साथ रामलीला देखते थे। हमारे हिन्दू भाई भी ईद पर सेवइयाँ माँग कर खाते हैं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तहखाना नहीं मंदिर का मंडपम कहिए, भव्य है पन्ना पत्थर का शिवलिंग’: सर्वे पर भड़की महबूबा मुफ्ती, बोलीं- ‘इनको मस्जिद में ही मिलते हैं...

"आज ये मस्जिद, कल वो मस्जिद, मैं अपने मुस्लिम भाइयों से बोलती हूँ एक ही बार ये हमें मस्जिदों की लिस्ट बताएँ, जिस पर इनकी नजर है।"

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe