Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिसिर्फ सरकार पर न हों निर्भर, घर से ही पुरुषों को करें शिक्षित: हैदराबाद...

सिर्फ सरकार पर न हों निर्भर, घर से ही पुरुषों को करें शिक्षित: हैदराबाद गैंगरेप पर संघ प्रमुख की नसीहत

"शासन प्रशासन की ढिलाई अब चल नहीं सकती। लेकिन शासन प्रशासन पर ही सब छोड़कर नहीं चलेगा। जो अपराध करने वाले हैं, उनकी भी माताएँ-बहने हैं तभी तो उनका अस्तित्व है, उनको यह किसी ने सिखाया नहीं। अपने घर से प्रारंभ करना है....."

हैदराबाद गैंगरेप की घटना के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने महिलाओं के प्रति पुरुषों के व्यवहार को लेकर नसीहत देते हुए बड़ा बयान दिया है। भागवत ने अपनी बात में जोर दिया कि पुरुषों को यह समझने और सीखने की ज़रूरत है कि महिलाओं के साथ कैसे पेश आना चाहिए। दिल्ली में आयोजित गीता महोत्सव कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि परिवार से ही इस बात पर ध्यान देना होगा कि महिलाओं से कैसे पेश आना चाहिए। एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि सरकार कानून बनाती है मगर उसको ढंग से लागू किया जाना चाहिए।

कार्यक्रम के अपने भाषण में संघ प्रमुख बोले, “शासन प्रशासन की ढिलाई अब चल नहीं सकती। लेकिन शासन प्रशासन पर ही सब छोड़कर नहीं चलेगा। जो अपराध करने वाले हैं, उनकी भी माताएँ-बहने हैं तभी तो उनका अस्तित्व है, उनको यह किसी ने सिखाया नहीं। अपने घर से प्रारंभ करना है। पुरुषों की महिलाओं की ओर मातृशक्ति की ओर देखने की दृष्टि शुद्ध होनी चाहिए, यही इन सब बातों को बंद करेगा।”

दिल्ली के लाल किले पर हिन्दुओं के पवित्र ग्रन्थ गीता पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस दौरान कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता जनार्दन द्विवेदी भी मौजूद रहे। साथ ही इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी, साध्वी ऋतंभरा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद रहे। बता दें कि हैदराबाद में हुई दुष्कर्म की वारदात के बाद बलात्कार जैसे जघन्य अपराध को लेकर देश भर के लोगों में भरी आक्रोश है। देश के आम लोग इस मामले के सभी आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा देने की माँग कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -