Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिअल कायदा से तारीफ पाने के 1 माह बाद सऊदी अरब पहुँची 'अल्लाहु अकबर'...

अल कायदा से तारीफ पाने के 1 माह बाद सऊदी अरब पहुँची ‘अल्लाहु अकबर’ वाली मुस्कान खान, पुलिस को नहीं दी जानकारी: हिंदू संगठनों ने उठाई जाँच की माँग

अल कयदा से मिली तारीफ के एक ही माह बाद मुस्कान का बिना स्थानीय पुलिस को सूचित किए उमरा करने जाना कुछ लोगों में संदेह पैदा कर रहा है। हिन्दू संगठनों ने इस मामले में मुस्कान खान के खिलाफ जाँच की माँग की है।

कर्नाटक के बुर्का विवाद से चर्चा में आईं बीबी मुस्कान ज़ैनब खान अब एक नए विवाद में घिरती दिखाई दे रही हैं। बताया जा रहा है कि बिना स्थानीय पुलिस को सूचित किए ही मुस्कान अपने परिवार के साथ सऊदी अरब चली गईं हैं। माना जा रहा है कि मुस्कान पूरे परिवार के साथ मज़हबी यात्रा पर 25 अप्रैल 2022 को निकली हैं। साथ ही कहा जा रहा है कि वो 18 मई 2022 को मक्का की यात्रा करेंगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्थानीय पुलिस ने मुस्कान खान की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें अपने कहीं आने-जाने की गतिविधियों की जानकारी देते रहने के लिए कहा था। ऐसे में बिना पुलिस को बताए उनके सऊदी अरब चले जाने से पुलिसकर्मी चिंतित हैं। मुस्कान खान कर्नाटक के मांड्या में PES कॉलेज ऑफ़ आर्ट साइंस और कॉमर्स की छात्रा हैं। इसी कॉलेज में उन्होंने हिजाब विवाद के दौरान अल्लाह हु अक़बर का नारा लगाया था।

मुस्कान की सऊदी अरब यात्रा आतंकी समूह अल कायदा के मुखिया अयमान-अल-जवाहिरी से मिली तारीफ के 1 महीने बाद हुई है। यह तारीफ़ मुस्कान के हिन्दू छात्रों के आगे लगाए गए अल्लाह हु अकबर के नारे के बाद की गई थी। 9 मिनट के वीडियो में अल जवाहिरी ने खुद को मुस्कान से प्रभावित बताया था। जवाहिरी ने मुस्कान को ‘भारत की महान महिला’ बताते हुए उनके समर्थन में एक कविता भी गई थी।

अल कयदा से मिली तारीफ के एक ही माह बाद मुस्कान का बिना स्थानीय पुलिस को सूचित किए उमरा करने जाना कुछ लोगों में संदेह पैदा कर रहा है। हिन्दू संगठनों ने इस मामले में मुस्कान खान के खिलाफ जाँच की माँग की है। हिन्दू समूहों ने अल कयदा से संबंधों के साथ मुस्कान को मिले उपहारों और पैसों की पड़ताल की आवाज उठाई है। मुस्कान की नारेबाजी से यह बात भी निकल कर सामने आई थी कि उनका संबंध चरमपंथी इस्लामी समूह PFI से भी है। इस संबंध में बीच की कड़ी मुस्कान के अब्बा अब्दुल सुकूर रहे थे।

कर्नाटक बुर्का विवाद के दौरान मुस्कान बीबी मुस्लिम समूहों में काफी चर्चित हो गईं थीं। उनको उपहार और गिफ्ट देने वालों की भरमार लग गई थी जिसमें मुंबई से कॉन्ग्रेस के विधायक जीशान सिद्दीकी भी शामिल थे। जीशान ने मुस्कान को आई फोन और स्मार्टवॉच दिया था। वहीं जमीयत उलेमा ने मुस्कान को 5 लाख रुपए कैश देने की घोषणा की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -