Monday, May 20, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा'20kg RDX, 20 स्लीपर सेल': PM मोदी की हत्या की साजिश का खुलासा, NIA...

’20kg RDX, 20 स्लीपर सेल’: PM मोदी की हत्या की साजिश का खुलासा, NIA को धमकी वाला ईमेल मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियाँ सतर्क

ईमेल में लिखा है, "लोग मर रहे हैं, इसलिए वे अब मेरे बम से मरेंगे। मैं कुछ आतंकियों से मिला हूँ और मेरी मदद करेंगे। मुझे खुशी है कि मुझे बम आसानी से मिल गए। अगर मुझे रोक सकते हो तो रोक लो।"

आतंकियों और देश विरोधी तत्वों के निशाने पर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की हत्या की साजिश का एक बार फिर खुलासा हुआ है। मुंबई के राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) को एक ईमेल मिला है, जिसमें प्रधानमंत्री की हत्या की बात कही गई है। धमकी भरा ईमेल भेजने वाले शख्स ने आत्महत्या करने की बात भी कही है। सुरक्षा एजेंसियाँ इस संबंध में गहन जानकारी जुटा रही है।

जिस शख्स ने NIA को ईमेल भेजी है, उसका कहना है कि प्रधानमंत्री को मारने की योजना तैयार हो चुकी है और इसके लिए इस काम के लिए 20 स्लीपर सेल तैयार हैं और 20 किलोग्राम RDX की व्यवस्था कर ली गई है। उसने कहा है कि वह इसलिए आत्महत्या कर रहा है, ताकि हत्या की साजिश का खुलासा ना हो सके। 2 करोड़ लोगों को मारने का दावा करने वाले इस शख्स ने ईमेल में यह भी कहा है कि उसके कई आतंकियों से संबंध हैं।

ईमेल भेजने वाले ने लिखा है, “मेरे पास 20 (किलोग्राम) से ज्यादा RDX है और मैंने 20 बड़े हमले की योजना बना ली है। इन सभी RDX को बड़े शहरों में प्लांट कर दिया गया है। मैं मोदी को जितनी जल्दी हो सकता है, उतनी जल्दी मारना चाहता हूँ। मैं प्रधानमंत्री पर बमबारी करूँगा, क्योंकि इसने मेरा जीवन बर्बाद कर दिया है। मैं किसी को नहीं छोड़ूँगा और 2 करोड़ से अधिक लोगों को मार दूँगा।”

उसने अपने ईमेल में आगे लिखा है, “लोग मर रहे हैं, इसलिए वे अब मेरे बम से मरेंगे। मैं कुछ आतंकियों से मिला हूँ और मेरी मदद करेंगे। मुझे खुशी है कि मुझे बम आसानी से मिल गए। अगर मुझे रोक सकते हो तो रोक लो।” इस ईमेल की बातों में कितनी सच्चाई है, सुरक्षा एजेंसियाँ इसे भी जानने का प्रयास कर रही हैं।

हालाँकि, धमकी भरा ईमेल मिलते ही सुरक्षा एजेंसियाँ एलर्ट हो गई हैं। NIA ने इस मेल की कॉपी खुफिया विभाग और अन्य एजेंसियों को भी भेजी है। फिलहाल इस मामले यह जाँच करने की कोशिश की जा रही है, यह ईमेल कहाँ से और किसने भेजा है। ईमेल आईडी की जाँच की जा रही है और भेजने वाले का पता लगाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) हमेशा से ही देश विरोधी तत्वों के निशाने पर रहे हैं, लेकिन सुरक्षाबलों की सतर्कता से उनकी साजिश हमेशा ही विफल होती रही है। लश्कर-ए-तैयबा की फिदायीन आतंकी इशरत जहाँ ने भी 2004 में गुजरात के तत्कालीन सीएम मोदी को मारने की कोशिश की थी, लेकिन इस प्रयास वो अपने साथियों सहित एक एनकाउंटर में मारी गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -