Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबुरहान गैंग का 'डॉक्टर' ले सकता है रियाज नाइकू की जगह, कश्मीर में हिजबुल...

बुरहान गैंग का ‘डॉक्टर’ ले सकता है रियाज नाइकू की जगह, कश्मीर में हिजबुल कमांडर बनाए जाने के चर्चे

डॉक्टर सैफुल्ला बुरहान वानी के 12 आतंकियों के समूह का हिस्सा रह चुका है। वह पुलवामा के मलंगपोरा का रहने वाला। सूत्रों के अनुसार सैफुल्ला मेडिकल असिस्टेंट रह चुका है। मुठभेड़ में घायल आतंकियों का इलाज कर उसने अपनी जगह बनाई है।

रियाज नाइकू के मार गिराए जाने के बाद कश्मीर में आतंकी संगठन हिजबुल के नए कमांडर के नाम पर चर्चा होने लगी है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक डॉक्टर सैफुल्ला (Dr Saifullah) उर्फ अबु मुसैद उसकी जगह ले सकता है। जुनैद सहराई के नाम की भी चर्चा है।

डॉक्टर सैफुल्ला बुरहान वानी के 12 आतंकियों के समूह का हिस्सा रह चुका है। वह पुलवामा के मलंगपोरा का रहने वाला। सूत्रों के अनुसार सैफुल्ला मेडिकल असिस्टेंट रह चुका है। मुठभेड़ में घायल आतंकियों का इलाज कर उसने अपनी जगह बनाई है। पुलवामा, त्राल, काकापोरा और कुलगाम में आतंकवादियों का गाइड भी वह रह चुका है।

खुफ़िया सूत्रों के मुताबिक डॉक्टर सैफुल्ला वर्ष 2014 से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय है। सैफुल्ला पर सुरक्षा एजेंसियों ने 10 लाख का इनाम घोषित कर रखा है। दो दर्जन नागरिक हत्याओं के अलावा सुरक्षाबलों पर हमले की वारदातों को लेकर पुलिस उसे तलाश रही है।

मोस्टवांटेड आतंकियों की सूची में शामिल सैफुल्ला के रियाज नाइकू की जगह लेने की ज्यादा चर्चे हैं। दूसरा दावेदार जुनैद सहराई 2018 हुर्रियत की जिलानी गुट का मुखिया है। वह 2018 में इस आतंकी संगठन से जुड़ा था।

जुनैद श्रीनगर और उससे सटे इलाकों में में सक्रिय है। उसने कश्मीर विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री ले रखी है। युवा लड़कों को आतंकवाद में शामिल होने के लिए वह प्रेरित करता रहता है। उसके पिता अशरफ सहराई जमीयत-ए-इस्लामी के कट्टर समर्थक बताए जाते हैं। साथ ही अलगाववादियों से भी उनके अच्छे ताल्लुकात हैं।

बता दें कि हिज़बुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय बुरहान वानी के मारे जाने के बाद रियाज़ नाइकू घाटी में आतंक का चेहरा बना था। सद्दाम पोद्दार के मारे जाने बाद उसे कमांडर बनाया गया। करीब पौने तीन साल तक उसने दक्षिण कश्मीर में हिज्ब की कमान सॅंभाली। उसे सुरक्षा बलों ने बुधवार (6 मई, 2020) को मार गिराया था। उसने अपनी सुरक्षा के लिए जो सुरंग बना रखी थी वही उसका कब्र बन गया।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के कश्मीर रेंज के महानिदेशक विजय कुमार ने गुरुवार को बताया था कि पिछले कुछ समय में नायकू सहित 64 आतंकी 27 अलग-अलग अभियानों में घाटी में मार गिराए गए हैं। 25 आतंकी गिरफ्तार भी किए गए हैं। उन्होंने बताया कि नायकू की तलाश पिछले छह महीनों से की जा रही थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe