Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाकश्मीर: शोपियां में मार गिराए गए 5 आतंकी, हिज्बुल के टॉप कमांडर फारूक अहमद...

कश्मीर: शोपियां में मार गिराए गए 5 आतंकी, हिज्बुल के टॉप कमांडर फारूक अहमद के ढेर होने की भी अटकलें

आतंकियों की पहचान की फिलहाल आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। कुछ मीडिया रिपोर्टों में इन्हें हिज्बुल मुजाहिद्दीन से जुड़ा बताया गया है। सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि मार गिराए गए आतंकियों में से एक हिज्बुल का टॉप कमांडर फारूक अहमद भट्ट है।

शोपियां में रविवार (07 जून, 2020) को जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। कश्मीर जोन के पुलिस आईजी विजय कुमार ने बताया कि शनिवार को शोपियां के पुलिस अधीक्षक को रेबन गॉंव में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी।

उन्होंने बताया कि इसके बाद सेना, सीआरपीएफ और पुलिस की संयुक्त टीम ने इलाके की घेराबंदी कर दी। सुबह सर्च ऑपरेशन शुरू किया। आतंकियों ने इस दौरान सुरक्षा बलों पर फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में वे मार गिराए गए।

आतंकियों की पहचान की फिलहाल आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। कुछ मीडिया रिपोर्टों में इन्हें हिज्बुल मुजाहिद्दीन से जुड़ा बताया गया है। सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि मार गिराए गए आतंकियों में से एक हिज्बुल का टॉप कमांडर फारूक अहमद भट्ट है।

एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार फारूक को नाली नाम से भी जाना जाता है। वह कुलगाम का रहने वाला था। ये भी कहा गया है कि करीब दो सप्ताह पहले कुलगाम के येरिपोरा में हुई मुठभेड़ में वह भाग निकला था।

खबरों के मुताबिक ऑपरेशन फ़िलहाल चल रहा है। शोपियां और कुलगाम जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवा को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि अभियान के दौरान यह सुनिश्चित किया गया था कि आम नागरिकों को कोई नुकसान नहीं पहुँचे।

गौरतलब है कि बारामूला जिले में शनिवार (06 जून, 2020) को आतंकवादियों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने अश्फाक अहमद नजर के उत्तरी कश्मीर के बोमई इलाके के आदिपुरा में स्थित घर पर रात करीब 9 बजकर 30 मिनट पर हमला किया। हमले में नजर घायल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe