Tuesday, May 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाश्रीनगर: अतिसुरक्षित हरि सिंह रोड पर आतंकियों ने किया ग्रेनेड से हमला, 11 घायल

श्रीनगर: अतिसुरक्षित हरि सिंह रोड पर आतंकियों ने किया ग्रेनेड से हमला, 11 घायल

"ग्रेनेड हमले में करीब 11 नागरिक घायल हो गए हैं। सभी घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है और इलाक़े की घेराबंदी कर छापेमारी की जा रही है।"

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में शनिवार (12 अक्टूबर) को आतंकवादियों ने ग्रेनेड से हमला किया है। आतंकियों ने यह हमला श्रीनगर के हाई सिक्योरिटी ज़ोन कहे जाने वाले हरि सिंह मार्ग पर किया है। घटना को अंजाम देने के तुरंत बाद सेना, पुलिस और सीआरपीएफ की टीमों ने एक बड़ा सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

ख़बर के अनुसार, इस हमले में 11 लोग घायल हो गए हैं, जिन्हें श्रीनगर के एसएमएसएच अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक़, कुछ अज्ञात हमलावरों ने शुक्रवार (11 अक्टूबर) को हरि सिंह रोड पर सुरक्षाबलों की एक पोस्ट से कुछ ही दूरी पर ही ग्रेनेड से हमला किया और तुरंत वहाँ से फ़रार हो गए। हमले में कुछ वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए और धमाके की आवाज़ से अफ़रा-तफ़री का माहौल बन गया।

घटना की सूचना मिलते ही जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ और सेना की टीमों को स्थिति पर क़ाबू पाने के लिए भेजा गया। पुलिस ने बताया, “ग्रेनेड हमले में कम से कम 11 नागरिक घायल हो गए हैं। सभी घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है और इलाक़े की घेराबंदी कर छापेमारी की जा रही है।”

ग़ौरतलब है कि इससे पहले, कश्मीर के अनंतनाग में 5 अक्टूबर को भी आतंकियों ने एक ग्रेनेड हमले की घटना को अंजाम दिया था, जिसमें क़रीब 14 लोग घायल हुए थे। इस हमले में घायल हुए लोगों में एक पत्रकार और एक ट्रैफ़िक पुलिसकर्मी भी शामिल थे।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के अवंतीपुर में मंगलवार (1 अक्टूबर) को सुरक्षाबलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई थी, जिसमें सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के अबु मुस्लिम आतंकवादी को मार गिराया था। उसके बारे में पता चला था कि वो अवंतीपुर का ही रहने वाला था और वो 4 जुलाई 2018 को आतंकी संगठन में शामिल हुआ था। ख़ुफ़िया जानकारी के मुताबिक, अबु मुस्लिम अवंतीपोरा पुलिस स्टेशन और मालनपोरा में एयरबेस के पास आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे रहा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -