Sunday, June 26, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाजम्मू एयरपोर्ट पर ड्रोन से आतंकी हमला, पठानकोट दोहराने की साजिश: 2 आतंकी गिरफ्तार

जम्मू एयरपोर्ट पर ड्रोन से आतंकी हमला, पठानकोट दोहराने की साजिश: 2 आतंकी गिरफ्तार

सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को गिरफ्ताऱ किया है। इसमें से एक के पास से 4.7 किलो आईई़डी मिला है। एक आतंकी लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी है।

जम्मू के एयरपोर्ट में रविवार (27 जून 2021) को दो बड़े विस्फोट हुए। इससे वहाँ अफरा-तफरी मच गई। देर रात करीब 2 बजे हुए इस धमाके के बाद बम डिस्पोजल स्क्वाड और फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुँच गई।

इलाके को सील कर जाँच शुरू कर दी गई है। हमले के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है। शुरुआती जाँच में माना जा रहा है कि ऐसा करके पाकिस्तान ने 2016 में हुए पंजाब के पठानकोट हमले को दोहराने की कोशिश की है।

पहले विस्फोट के कारण हवाईअड्डे के तकनीकी क्षेत्र में एक इमारत की छत गिर गई। धमाका इतना तेज था कि इसकी आवाज दो किलोमीटर दूर तक सुनी गई। दूसरा विस्फोट जमीन पर हुआ। न्यूज 18 ने सूत्रों के हवाले से इस विस्फोट में दो लोगों के घायल होने का दावा किया है।

न्यूज 18 की रिपोर्ट से उलट रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू वायु सेना अड्डे में धमाके से कोई जवान हताहत नहीं हुआ है और न ही कोई साजो-सामान की हानि हुई है। मामले की जाँच चल रही है।

इस मामले में एयरफोर्स ने ट्वीट किया, “जम्मू एयर फोर्स स्टेशन के तकनीकी क्षेत्र में रविवार (27 जून 2021) की सुबह दो कम तीव्रता वाले विस्फोट की सूचना मिली। पहले विस्फोट से एक इमारत की छत को मामूली क्षति हुई है, जबकि दूसरा खुले क्षेत्र में हुआ।”

दो आतंकी भी गिरफ्तार

रिपोर्ट के मुताबिक, सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को गिरफ्ताऱ किया है। इसमें से एक के पास से 4.7 किलो आईई़डी मिला है। एक आतंकी लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी है।

पठानकोट हमले को दोहराने की साजिश

रिपोर्ट के मुताबिक, शुरुआती जाँच से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आतंकी 2016 में हुए पठानकोट हमले को जम्मू में दोहराना चाहते थे। गौरतलब है कि 2016 में जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर आत्मघाती हमला किया था। इसके बाद 36 घंटे तक चले एनकाउंटर के बाद 5 आतंकियों को ढेर कर दिया गया था। उस दौरान तीन जवान भी बलिदान हुए थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कब तक रोएगी कॉन्ग्रेस: राजस्थान CM अशोक गहलोत 2020 वाले ‘पायलट दुख’ से परेशान, महाराष्ट्र में शिवसेना के लिए कॉन्ग्रेसी बैटिंग

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट 2020 में सरकार गिराने की साजिश में शामिल थे। अपने ही उप-मुख्यमंत्री पर...

‘उसकी गिरफ्तारी से खुशी है क्योंकि उसने तमाम सीमाओं को तोड़ दिया था’ – आरबी श्रीकुमार पर ISRO के पूर्व वैज्ञानिक नम्बी नारायणन

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद गिरफ्तार किए गए रिटायर्ड IPS आरबी श्रीकुमार की गिरफ्तारी पर इसरो के पूर्व वैज्ञानिक ने संतोष जताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,433FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe