Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षागजवा-ए-हिंद का सपना, पुलिस से बचने के लिए मोबाइल में खास App: UP ATS...

गजवा-ए-हिंद का सपना, पुलिस से बचने के लिए मोबाइल में खास App: UP ATS ने गिरफ्तार किए 8 आतंकी, बरामद हुए 2.5 लाख रुपए और जिहादी सामग्री

एटीएस ने बताया कि भारत में गजवा-ए-हिंद का सपना लेकर अपने साथ लोगों को जोड़ने का काम करने वाले ये संदिग्ध अपना नाम बदल-बदल कर भारत में रहते हैं और पुलिस व एजेंसियों से बचने के लिए कुछ खास मोबाइल एप्स को प्रयोग में लाते हैं।

उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिज्म स्क्वॉड ने 8 आतंकियों को गिरफ्तार किया है। ये आतंकी जमात-उल-मुजाहिद्दीन और अलकायदा से जुड़े बताए जा रहे हैं। खबरों के अनुसार इन सबने यूपी को दहलाने की साजिश रची हुई थी। लेकिन इससे पहले ये अपने मनसूबों में कामयाब होते ATS ने इन्हें धर दबोचा।

समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया, यूपी एटीएस ने बांग्लादेशी आतंकवादी संगठन ‘जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश और अल कायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट या अल कायदा बर्र-ए-सगीर’ से जुड़े 8 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया। संदिग्ध आतंकियों के पास से 2.5 लाख रुपए नकद बरामद किए गए हैं।

8 आरोपितों की पहचान लुकमान, कारी शहजाद, कामिल, मोहम्मद अलीम, शहजाद, अली नूर (बांग्लादेशी), नवाजिश अंसारी और मुदस्सिर के तौर पर हुई है। इनमें ज्यादातर सहारनपुर इलाके से हैं। पुलिस इन सबको हिरासत में लेने के बाद अपनी जाँच कर रही है।

इनके पास से अभी तक पेन ड्राइव, मोबाइल समेत कैश बरामद हुआ है। इनके अलावा कुछ जिहादी सामग्री मिलने की बातें भी सामने आई हैं। पुलिस ने इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 121ए, 123 व यूएपीए की धारा 18, 18बी, 20, 38, 40 के तहत केस दर्ज किया है।

एटीएस ने बताया कि भारत में गजवा-ए-हिंद का सपना लेकर अपने साथ लोगों को जोड़ने का काम करने वाले ये संदिग्ध अपना नाम बदल-बदल कर भारत में रहते हैं और पुलिस व एजेंसियों से बचने के लिए कुछ खास मोबाइल एप्स को प्रयोग में लाते हैं। इनके अलावा इन एप्स पर बातचीत के लिए कोड भी नए लोगों को दिया जाता है। ये लोग

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -