Wednesday, May 19, 2021
Home बड़ी ख़बर शारदा, नारदा के लुटेरों को चौकीदार छोड़ेगा नहीं: ममता के गढ़ में मोदी की...

शारदा, नारदा के लुटेरों को चौकीदार छोड़ेगा नहीं: ममता के गढ़ में मोदी की हुंकार

हाल में हुए पंचायत के चुनाव में पश्चिम बंगाल की जनता ने ट्रेलर दिखा दिया है। उस हिंसा की पराकाष्ठा कर दी गई थी, बूथ के बूथ लूट लिए गए थे, लेकिन फिर भी जनता ने भाजपा के प्रत्याशियों को भारी संख्या में जिताया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी के गढ़ में हुंकार भरते हुए आगामी लोकसभा चुनाव के लिए शंखनाद कर दिया। प्रधानमंत्री ने भगवान शिव को याद करते हुए अपने भाषण की शुरूआत की और कहा कि इस पूरे क्षेत्र को महादेव का, भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त है और मैं जलपेशधाम की धरती पर भोलेनाथ के चरणों में श्रद्धा पुष्प अर्पित करता हूँ। उत्तरी पश्चिम बंगाल स्थित जलपाईगुड़ी के मयनागुड़ी में पीएम ने विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए वहाँ की संस्कृति से लेकर विकास योजनाओं तक की चर्चा की।

नरेंद्र मोदी ने ममता के गढ़ में हुंकार भरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के प्रमुख अंश आप नीचे पढ़ सकते हैं:

  • अब से थोड़ी देर पहले, क़रीब 2 हज़ार करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले ‘फलाकाता- सलसलाबाड़ी’ नेशनल हाईवे की फोर लेनिंग के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया गया है। जब ये प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा तो इससे सिलीगुड़ी आने-जाने के लिए सुविधा बढ़ जाएगी।
  • आपका जीवन आसान बनाने के लिए, इन क्षेत्रों में कनेक्टिविटी को मज़बूत करने के लिए केंद्र सरकार निरंतर काम कर रही है। यहाँ नेपाल और बांग्लादेश की सीमा को जोड़ने वाले एशियन हाईवे नंबर 2 और नंबर 48 समेत हज़ारों करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट केंद्र सरकार ने स्वीकृत किए हैं।
  • आज आपकी दशकों पुरानी एक और माँग पूरी हुई है। थोड़ी देर पहले ही कलकत्ता हाईकोर्ट की जलपाईगुड़ी खंडपीठ का उद्घाटन किया गया है। इस खंडपीठ के लिए जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, कलिंगपोंग, कूच बिहार और इस क्षेत्र के सभी बहनों-भाइयों को बहुत-बहुत बधाई।
  • अब आपको हाईकोर्ट से जुड़े अपने मामलों के लिए कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा, यहीं जलपाईगुड़ी में ही आपको समाधान मिलेगा। इससे समय की बचत तो होगी ही, आपका पैसा भी बचेगा।
  • आप सभी साक्षी हैं कि सिलीगुड़ी म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के साथ क्या बर्ताव किया जा रहा है? नॉर्थ बंगाल की क़ानून व्यवस्था की स्थिति क्या है? यहाँ उद्योग-धंधे विकसित नहीं किए गए, युवा पलायन के लिए मजबूर हैं। सिंचाई की परियोजनाएँ लटकी हुई हैं, ये हाल बनाकर रखा गया है।
  • पश्चिम बंगाल की इस सरकार ने माटी को बदनाम कर दिया है और मानुष को मजबूर कर दिया है। जो पश्चिम बंगाल कला और संस्कृति के लिए जाना जाता था, वो अब हिंसा के लिए चर्चा में रहता है।
  • ये पूरा उत्तर बंगाल 3T के लिए famous है- Tea, Timber और Tourism. इन तीनों को ही बेरुख़ी का शिकार होना पड़ा है, चाहे कोलकाता में कम्यूनिस्टों की सरकार रही हो या फिर कम्यूनिस्ट पार्ट-2, यानी टीएमसी की सरकार। इस पूरे क्षेत्र के संतुलित विकास पर कभी ध्यान नहीं दिया गया।
  • केंद्र की NDA सरकार के लिए, भारतीय जनता पार्टी के लिए सबका साथ, सबका विकास नीयत भी है और नीति भी इसी पर चलती है। यही कारण है कि यहाँ के बंद पड़े चाय बागानों को हमने खुलवाया है। चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों के, मजदूरों के बैंकों में खाते खुलवाए हैं।
  • जो महीने में 5 हज़ार, 10 हज़ार, कमाता है, 15 हज़ार रुपए से कम कमाता है, ऐसा हर व्यक्ति इस योजना का लाभार्थी होगा। इसके लिए औसतन 100 रुपए का अंशदान हर महीने देना होगा और जितना अंशदान मेरे मजदूर भाई-बहन देंगे, उतना ही केंद्र सरकार उनके पेंशन खाते में डालेगी।
  • जो सस्ता राशन आपको मिल रहा है, मुफ़्त में रसोई गैस का कनेक्शन मिल रहा है, सस्ती दवाइयाँ मिल रही हैं, वो केंद्र सरकार भेज रही है। इसी तरह ग़रीबों को पश्चिम बंगाल में 23 लाख से ज़्यादा और यहाँ जलपाईगुड़ी में 65 हज़ार से ज़्यादा पक्के घर मिल चुके हैं, जिसमें से अनेक लाभार्थी यहाँ भी मौजूद हैं।
  • पश्चिम बंगाल में माँ, माटी, मानुष के नाम पर जिनको आपने सत्ता दी, जिनको कम्यूनिस्टों के कुशासन से मुक्ति दिलाने का ज़िम्मा दिया, उन्होंने वही ख़ून-ख़राबे का पॉलिटिकल कल्चर अपना बना लिया है। आज स्थिति ये है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तो दीदी हैं, लेकिन दादागिरी किसी और की चल रही है, शासन TMC के ‘जगाई-मधाई’ चला रहे हैं।
  • टीएमसी सरकार की तमाम योजनाओं के नाम पर बिचौलियों का अधिकार है। दीदी, दिल्ली जाने के लिए परेशान हैं और बंगाल के ग़रीब और मध्यम वर्ग को सिंडिकेट के गठबंधन से लुटने के लिए छोड़ दिया है।
  • त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी ने ये काम कर दिखाया है, अब पश्चिम बंगाल में भी ये होने वाला है। आप सभी के सहयोग से, सही मायने में सबका साथ, सबका विकास, पश्चिम बंगाल में आने वाला है और जगाई-मधाई जाने वाला है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता गुंडागर्दी के इस ‘निज़ाम’ से लड़ने के लिए तैयार हैं।
  • देश के इतिहास में ये पहली बार देखा गया है कि कोई मुख्यमंत्री हज़ारों ग़रीब लोगों को लूटने वालों के पक्ष में दिन-दहाड़े धरने पर बैठ जाए। महात्मा गाँधी ने विदेश में रंगभेद के ख़िलाफ़, विदेशी लोगों के हक़ के लिए दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति के ख़िलाफ़ सत्याग्रह किया, नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने विदेश में रहकर, लोगों को जोड़ा और मुश्किल में फंसे भारतवासियों के लिए आंदोलन किया।
  • पश्चिम बंगाल की बहनें-बेटियाँ मज़दूर-कामगार, करोड़ों लोग आज ममता दीदी से सवाल पूछ रहे हैं। जिन्होंने अपने जीवन भर की कमाई लुट जाने की वजह से प्राण त्याग दिए, उनके परिवार वाले आज ममता दीदी से सवाल पूछ रहे हैं। वो जानना चाहते हैं कि चिटफंड घोटाले की जाँच से आप इतना क्यों डरी हुई हैं? क्यों जिन लोगों पर जाँच में लापरवाही बरतने का आऱोप है, उनके लिए धरना दे रही हैं।
  • मैं शारदा, नारदा, रोज़ वैली की ठगी के शिकार हर परिवार को विश्वास दिलाने आया हूँ, कि चौकीदार इनको छोड़ेगा नहीं। चाहे वो लुटेरा हो या फिर लुटेरों का संरक्षक, किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा।
  • आज कोलकाता को भ्रष्टाचारियों और भ्रष्टाचारियों को बचाने वालों का मंच बना दिया गया है। मैं कोलकाता में मंच बनाकर मोदी-मोदी बोलने वाले हर उस व्यक्ति को कहना चाहता हूँ, कि भ्रष्टाचारियों को कवर देने के लिए आप कहाँ-कहाँ धरना देंगे।
  • आज हर उस व्यक्ति को मोदी से कष्ट है, जो पूरी तरह से भ्रष्ट है। हम ग़रीब को लूटने वाले, देश की सेना को धोखा देने वाले राज़दारों को विदेशों से उठाकर ला रहे हैं और ये उनको बचाने के लिए पूरी ताक़त लगा रहे हैं।
  • मैं महा-मिलावट में जुटे इन सभी दलों को कहना चाहता हूँ कि, दलालों, बिचौलियों और धोखेबाज़ों को बचाने के आपके प्रयास, मोदी कभी सफल नहीं होने देगा। कल मैं लोकसभा में देख रहा था, कि जैसे ही मैंने महा-मिलावट कहा, इन लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया था। जब-जब देश को इनकी सच्चाई बताओ, ये ऐसे ही हंगामा करते रहे हैं। ये महा-मिलावट एक ऐसा घालमेल है जिसकी अपनी कोई विचारधारा नहीं है, देश के लिए कोई विज़न नहीं है।
  • आप ख़ुद देखिए, पश्चिम बंगाल कॉन्ग्रेस के नेता लगातार बोल रहे हैं कि बंगाल में अराजकता है, भ्रष्टाचारियों और गुंडों का राज है, लेकिन दिल्ली में मिस्टर वाड्रा के साले साहब दीदी धुन में मस्त हैं। आज पश्चिम बंगाल में अजीब सी स्थिति बन गई है। यहाँ की सरकार देशभर से आए ऐसे लोगों का स्वागत करती है जिनपर गंभीर आरोप हैं। यहाँ की सरकार घुसपैठियों का भी स्वागत करती है लेकिन दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल, भाजपा के नेताओं को रोका जाता है
  • अब आपके साथ भाजपा है और संकल्प गुंडों और सिंडिकेट पश्चिम बंगाल की मुक्ति का है। देश में लोकतंत्र है, जो पश्चिम बंगाल पर भी लागू होता है। बीजेपी का कार्यकर्ता धमकियों से नहीं डरता। अगर हिंसा से बीजेपी के कार्यकर्ता डर जाते तो 2 सांसदों वाली पार्टी पूर्ण बहुमत की सरकार ना बना पाती और देश के अधिकतर राज्यों में सरकार में ना होती।
  • हाल में हुए पंचायत के चुनाव में पश्चिम बंगाल की जनता ने ट्रेलर दिखा दिया है। उस हिंसा की पराकाष्ठा कर दी गई थी, बूथ के बूथ लूट लिए गए थे, लेकिन फिर भी जनता ने भाजपा के प्रत्याशियों को भारी संख्या में जिताया। मैं पश्चिम बंगाल की जनता को भी कहना चाहता हूँ, यहाँ के हर युवा साथी को आश्वस्त करना चाहता हूँ, कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में आपको अपने हक़ का इस्तेमाल करने से कोई ताक़त रोक नहीं पाएगी।
  • लोकसभा चुनाव की व्यवस्था देश के चुनाव आयोग के नेतृत्व में होगी और सुरक्षा और निष्पक्षता की पूरी गारंटी देने का प्रयास होगा। इस बार भी आपका एक वोट, केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली, मज़बूत सरकार बनाने में मदद करेगा।
  • ये पूर्ण बहुमत वाली सरकार की ही ताक़त है, जिससे देश के विकास को इतनी गति मिल रही है। दशकों से अटके हुए काम पूरे किए जा रहे हैं। आप सोचिए, साढ़े 4 वर्ष पहले अगर आपने एक मजबूत सरकार के लिए वोट नहीं दिया होता तो, भारत-बांग्लादेश सीमा विवाद आज भी नहीं सुलझ पाता
  • आज यहाँ जलपाईगुड़ी में, मैं देश से जुड़े एक महत्वपूर्ण विषय पर भी अपनी बात रखना चाहता हूँ। ये विषय महिला सशक्तिकरण, महिलाओं को अवसरों की समानता और महिलाओं के न्याय का है, ये विषय तीन तलाक़ का है। महिला अधिकारों पर झूठ बोलने वाली कॉन्ग्रेस ने अपनी असली सच्चाई भी देश के सामने रख दी है। तुष्टिकरण के लिए कॉन्ग्रेस किस हद तक जा सकती है, ये भी उसने कल फिर बता दिया है। कॉन्ग्रेस ने अब खुलकर कह दिया है कि वो तीन तलाक़ पर बन रहे कानून का विरोध करती है
  • कॉन्ग्रेस ने फिर दिखा दिया है कि उसे सुप्रीम कोर्ट की परवाह नहीं है, जो तुरंत तीन तलाक़ को असंवैधानिक घोषित कर चुका है। राजीव गाँधी के समय, शाह बानो केस में कॉन्ग्रेस ने जो गलती की थी, अब वही गुनाह उसने कर दिया है। वो भूल गई है कि तीन तलाक़ से पीड़ित मुसलिम महिलाओं को कितने बुरे दौर से गुज़रना होता है, कितने संकटों से गुज़रना होता है।
  • यहाँ पश्चिम बंगाल की भी अनेक बहनों को इस तरह के अत्याचार से गुज़रना पड़ा है। वो बरसों से तीन तलाक़ के ख़िलाफ़ क़ानून की माँग कर रहीं थीं, जिसे हमारी सरकार पूरा करने का प्रयास कर रही है। लेकिन, तुष्टिकरण के लिए किसी भी हद से गुज़रने वाली कॉन्ग्रेस ने, न सिर्फ़ तीन तलाक़ क़ानून को संसद में रोका, बल्कि उसे अब ख़त्म करने की भी बात करने लगी है।
  • ये लोग कुछ भी बोलें, मैं देश की सभी मुस्लिम बहनों-बेटियों को ये भरोसा देना चाहता हूँ कि तीन तलाक़ क़ानून को हटने नहीं दिया जाएगा। बीजेपी, महिलाओं के अधिकार के लिए महिलाओं के न्याय के लिए, पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी स्ट्रेन’: कैसे कॉन्ग्रेस टूलकिट ने की PM मोदी की छवि खराब करने की कोशिश? NDTV भी हैशटैग फैलाते आया नजर

हैशटैग और फ्रेज “#IndiaStrain” और “India Strain” सोशल मीडिया पर अधिक प्रमुखता से उपयोग किया गया। NDTV जैसे मीडिया हाउसों को शब्द और हैशटैग फैलाते हुए भी देखा जा सकता है।

कॉन्ग्रेस टूलकिट का प्रभाव? पैट कमिंस और दलाई लामा को PM CARES फंड में दान करने के लिए किया गया था ट्रोल

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी को बदनाम करने के लिए एक नया टूलकिट सामने आने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी एक बार फिर से सुर्खियों में है। चार-पृष्ठ के दस्तावेज में पीएम केयर्स फंड को बदनाम करने की योजना थी।

₹50 हजार मुआवजा, 2500 पेंशन, बिना राशन कार्ड भी फ्री राशन: कोरोना को लेकर केजरीवाल सरकार की ‘मुफ्त’ योजना

दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने कोरोना महामारी में माता पिता को खोने वाले बच्‍चों को 2500 रुपए प्रति माह और मुफ्त शिक्षा देने का ऐलान किया है।

ख़लीफ़ा मियाँ… किसाण तो वो हैं जिन्हें हमणे ट्रक की बत्ती के पीछे लगाया है

हमने सब ट्राई कर लिया। भाषण दिया, धमकी दी, ज़बरदस्ती कर ली, ट्रैक्टर रैली की, मसाज करवाया... पर ये गोरमिंट तो सुण ई नई रई।

कॉन्ग्रेस के इशारे पर भारत के खिलाफ विदेशी मीडिया की रिपोर्टिंग, ‘दोस्त पत्रकारों’ का मिला साथ: टूलकिट से खुलासा

भारत में विदेशी मीडिया संस्थानों के कॉरेस्पोंडेंट्स के माध्यम से पीएम मोदी को सभी समस्याओं के लिए जिम्मेदार ठहराया गया।

‘केरल मॉडल’ वाली शैलजा को जगह नहीं, दामाद मुहम्मद रियास को बनाया मंत्री: विजयन कैबिनेट में CM को छोड़ सभी चेहरे नए

वामपंथी सरकार की कैबिनेट में सीएम विजयन ने अपने दामाद को भी जगह दी है, जो CPI(M) यूथ विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं।

प्रचलित ख़बरें

जैश की साजिश, टारगेट महंत नरसिंहानंद: भगवा कपड़ा और पूजा सामग्री के साथ जहाँगीर गिरफ्तार, साधु बन मंदिर में घुसता

कश्मीर के रहने वाले जान मोहम्मद डार उर्फ़ जहाँगीर को साधु के वेश में मंदिर में घुस कर महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती की हत्या करनी थी।

अल्लाह-हू-अकबर चिल्लाती भीड़ का हमला: यहूदी खून से लथपथ, बचाव में उतरी लड़की का यौन शोषण

कनाडा में फिलिस्तीन समर्थक भीड़ ने एक व्यक्ति पर हमला कर दिया जो एक अन्य यहूदी व्यक्ति को बचाने की कोशिश कर रहा था। हिंसक भीड़ अल्लाह-हू-अकबर का नारा लगाते हुए उसे लाठियों से पीटा।

विनोद दुआ की बेटी ने ‘भक्तों’ के मरने की माँगी थी दुआ, माँ के इलाज में एक ‘भक्त’ MP ने ही की मदद

मोदी समर्थकों को 'भक्त' बताते हुए मल्लिका उनके मरने की दुआ माँग चुकी हैं। लेकिन, जब वे मुश्किल में पड़ी तो एक 'भक्त' ने ही उनकी मदद की।

भारत में दूसरी लहर नहीं आने की भविष्यवाणी करने वाले वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने सरकारी पैनल से दिया इस्तीफा

वरिष्ठ वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने भारत में कोविड-19 के प्रकोप की गंभीरता की भविष्यवाणी करने में विफल रहने के बाद भारतीय SARS-CoV-2 जीनोम सीक्वेंसिंग कंसोर्टिया (INSACOG) के वैज्ञानिक सलाहकार समूह के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया।

मेवात के आसिफ की हत्या में सांप्रदायिक एंगल नहीं, पुरानी राजनीतिक दुश्मनी: हरियाणा पुलिस

आसिफ की मृत्यु की रिपोर्ट आने के तुरंत बाद, कुछ मीडिया हाउसों ने दावा किया कि उसे मारे जाने से पहले 'जय श्री राम' बोलने के लिए मजबूर किया गया था, जिसकी वजह से घटना ने सांप्रदायिक मोड़ ले लिया।

ओडिशा के DM ने बिगाड़ा सोनू सूद का खेल: जिसके लिए बेड अरेंज करने का लूटा श्रेय, वो होम आइसोलेशन में

मदद के लिए अभिनेता सोनू सूद को किया गया ट्वीट तब से गायब है। सोनू सूद वास्तव में किसी की मदद किए बिना भी कोविड-19 रोगियों के लिए मदद की व्यवस्था करने के लिए क्रेडिट का झूठा दावा कर रहे थे।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,384FansLike
96,163FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe