Thursday, September 29, 2022
Homeराजनीतिमुद्रा योजना का बढ़ेगा दायरा, 30 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा, होगा रोजगार सृजन

मुद्रा योजना का बढ़ेगा दायरा, 30 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा, होगा रोजगार सृजन

मुद्रा लोन का अब 11 करोड़ अतिरिक्‍त लोगों तक फायदा पहुँचने की उम्‍मीद है। इसके साथ ही कारोबारियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के कर्ज की योजना भी लाई जाएगी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार (जून 20, 2019) को संसद के दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित किया। संसद को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने संसद को संबोधित करते हुए सभी निर्वाचित लोगों को बधाई दी।
उन्होंने अपने संबोधन में मोदी सरकार 2.0 के एजेंडे को देश के सामने रखा। इस दौरान उन्‍होंने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत सरकार के एक खास प्रस्‍ताव का भी जिक्र किया। इस प्रस्‍ताव के लागू होने के फायदा 30 करोड़ लोगों तक पहुँचने की उम्‍मीद है।

राष्ट्रपति अपने इस अभिभाषण में सरकार की भावी योजनाओं और उसके एजेंडे को देश के सामने रखते हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि देश ने तीन दशकों के बाद पूर्ण बहुमत की सरकार दी, दूसरी बार और भी मजबूत समर्थन दिया जो कि विकास यात्रा को आगे बढ़ाने का जनादेश है।

स्वरोजगार के लिए अभी तक दिए जा चुके हैं लगभग 19 करोड़ लोगों को लोन

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री मुद्रा योजना’ के तहत, स्वरोजगार के लिए लगभग 19 करोड़ लोगों को लोन दिए गए हैं। इस योजना का विस्तार करते हुए अब 30 करोड़ लोगों तक इसका लाभ पहुँचाने का प्रयास किया जाएगा। इसका मतलब यह हुआ कि मुद्रा लोन का अब 11 करोड़ अतिरिक्‍त लोगों तक फायदा पहुँचने की उम्‍मीद है। इसके साथ ही कारोबारियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के कर्ज की योजना भी लाई जाएगी।

स्वरोजगार के लिए 2015 में हुई थी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत 

वर्ष 2015 में केंद्र सरकार ने छोटे उद्यम शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत लोगों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए तीन अलग-अलग कैटेगरी में 50 हजार से 10 लाख रुपए तक छोटी रकम का लोन दिया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते थे कि इस योजना के जरिए स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन मिल सके ताकि छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार का सृजन भी हो। कोई भी व्यक्ति, जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता है, वह इस योजना के तहत लोन ले सकता है। 

कैबिनेट की पहली बैठक में ही छोटे दुकानदारों और रीटेल ट्रेडर्स के लिए एक अलग ‘पेंशन योजना’ को मंजूरी दे दी गई है। इस योजना का लाभ लगभग 3 करोड़ छोटे दुकानदारों को मिलेगा। राष्‍ट्रपति ने आगे बताया कि ‘राष्ट्रीय आजीविका मिशन’ के तहत ग्रामीण अंचलों की 3 करोड़ महिलाओं को अब तक 2 लाख करोड़ रुपए से अधिक का लोन दिया जा चुका है। 

राष्ट्रपति ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्ष 2014 से पहले निराशा का माहौल था। देश के प्रत्येक व्यक्ति को समृद्ध करना हमारी सरकार का लक्ष्य है और यह विश्वास ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास‘ पर आधारित है। साथ ही राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार के प्रति जनविश्वास बढ़ा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सरकारी अधिकारी से लेकर PHD होल्डर, लाइब्रेरियन से लेकर तकनीशियन तक’: PFI में शामिल थे कई नामी लोग; ट्विटर ने अकॉउंट बंद किया, वेबसाइट...

प्रतिबंधित PFI के शीर्ष पदों को पूर्व सरकारी कर्मचारी, लाइब्रेरियन और पीएचडी होल्डर संभाल रहे थे। अब इसके सोशल मीडिया अकॉउंट बंद हो गए हैं।

दीपक त्यागी की सिर कटी लाश, हत्या पशुओं की गर्दन काटने वाले छूरे से: ‘दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम’ एंगल को जाँच रही...

मेरठ में दीपक त्यागी की गला काट कर हत्या। मृतक का दूसरे समुदाय की एक लड़की (हेयर ड्रेसर की बेटी) से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,030FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe