मुद्रा योजना का बढ़ेगा दायरा, 30 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा, होगा रोजगार सृजन

मुद्रा लोन का अब 11 करोड़ अतिरिक्‍त लोगों तक फायदा पहुँचने की उम्‍मीद है। इसके साथ ही कारोबारियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के कर्ज की योजना भी लाई जाएगी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार (जून 20, 2019) को संसद के दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित किया। संसद को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने संसद को संबोधित करते हुए सभी निर्वाचित लोगों को बधाई दी।
उन्होंने अपने संबोधन में मोदी सरकार 2.0 के एजेंडे को देश के सामने रखा। इस दौरान उन्‍होंने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत सरकार के एक खास प्रस्‍ताव का भी जिक्र किया। इस प्रस्‍ताव के लागू होने के फायदा 30 करोड़ लोगों तक पहुँचने की उम्‍मीद है।

राष्ट्रपति अपने इस अभिभाषण में सरकार की भावी योजनाओं और उसके एजेंडे को देश के सामने रखते हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि देश ने तीन दशकों के बाद पूर्ण बहुमत की सरकार दी, दूसरी बार और भी मजबूत समर्थन दिया जो कि विकास यात्रा को आगे बढ़ाने का जनादेश है।

स्वरोजगार के लिए अभी तक दिए जा चुके हैं लगभग 19 करोड़ लोगों को लोन

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री मुद्रा योजना’ के तहत, स्वरोजगार के लिए लगभग 19 करोड़ लोगों को लोन दिए गए हैं। इस योजना का विस्तार करते हुए अब 30 करोड़ लोगों तक इसका लाभ पहुँचाने का प्रयास किया जाएगा। इसका मतलब यह हुआ कि मुद्रा लोन का अब 11 करोड़ अतिरिक्‍त लोगों तक फायदा पहुँचने की उम्‍मीद है। इसके साथ ही कारोबारियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के कर्ज की योजना भी लाई जाएगी।

स्वरोजगार के लिए 2015 में हुई थी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

वर्ष 2015 में केंद्र सरकार ने छोटे उद्यम शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत लोगों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए तीन अलग-अलग कैटेगरी में 50 हजार से 10 लाख रुपए तक छोटी रकम का लोन दिया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते थे कि इस योजना के जरिए स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन मिल सके ताकि छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार का सृजन भी हो। कोई भी व्यक्ति, जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता है, वह इस योजना के तहत लोन ले सकता है। 

कैबिनेट की पहली बैठक में ही छोटे दुकानदारों और रीटेल ट्रेडर्स के लिए एक अलग ‘पेंशन योजना’ को मंजूरी दे दी गई है। इस योजना का लाभ लगभग 3 करोड़ छोटे दुकानदारों को मिलेगा। राष्‍ट्रपति ने आगे बताया कि ‘राष्ट्रीय आजीविका मिशन’ के तहत ग्रामीण अंचलों की 3 करोड़ महिलाओं को अब तक 2 लाख करोड़ रुपए से अधिक का लोन दिया जा चुका है। 

राष्ट्रपति ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्ष 2014 से पहले निराशा का माहौल था। देश के प्रत्येक व्यक्ति को समृद्ध करना हमारी सरकार का लक्ष्य है और यह विश्वास ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास‘ पर आधारित है। साथ ही राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार के प्रति जनविश्वास बढ़ा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कश्मीरी पंडित, सुनंदा वशिष्ठ
"उस रात इस्लामी आतंकियों ने 3 विकल्प दिए थे - कश्मीर छोड़ दो, धर्मांतरण कर लो, मारे जाओ। इसके बाद गिरिजा टिक्कू का सामूहिक बलात्कार कर टुकड़ों में काट दिया। बीके गंजू को गोली मारी और उनकी पत्नी को खून से सने चावल (वो भी पति के ही खून से सने) खाने को मजबूर किया।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,599फैंसलाइक करें
22,628फॉलोवर्सफॉलो करें
119,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: