Monday, July 26, 2021
Homeरिपोर्टमीडियामेरे पति ने नहीं की घरेलू हिंसा, मीडिया ने फैलाई अफवाह: त्रिपुरा CM बिप्लब...

मेरे पति ने नहीं की घरेलू हिंसा, मीडिया ने फैलाई अफवाह: त्रिपुरा CM बिप्लब देब की पत्नी

निति देब ने झूठे दावों का स्क्रीनशॉट पोस्ट करते हुए इस बात का खंडन किया है कि उन्होंने अपने पति के खिलाफ ऐसा कोई आरोप लगाया है। नीति देब ने लिखा है कि सिर्फ गंदे, भद्दे और बीमार किस्म की मानसिकता वाले लोग ही घटिया प्रचार के लिए इस तरह की अफवाहें फैलाते हैं।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब के बारे में खबर आई थी कि उनकी पत्नी नीति देब ने उन पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया है और साथ ही उन्होंने तलाक की अर्जी भी दी है। खबरों के मुताबिक, तलाक की याचिका नई दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में दायर की गई है। मनीकंट्रोल, CNBCTV18, क्विंट, डीएनए, इत्यादि उन मीडिया हाउस में से हैं, जिन्होंने इस खबर को दिखाया।

मगर सीएम बिप्लव देव की पत्नी नीति देब ने इन तमाम दावों को नकारते हुए एक फेसबुक पोस्ट की है। इस पोस्ट में उन्होंने झूठे दावों का स्क्रीनशॉट पोस्ट करते हुए इस बात का खंडन किया है कि उन्होंने अपने पति के खिलाफ ऐसा कोई आरोप लगाया है। नीति देब ने लिखा है कि सिर्फ गंदे, भद्दे और बीमार किस्म की मानसिकता वाले लोग ही घटिया प्रचार के लिए इस तरह की अफवाहें फैलाते हैं। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि प्रभावशाली लोगों के खिलाफ राजनीतिक लाभ हासिल करने के लिए इस तरह की गंदी अफवाहों को फैलाने के लिए उन्हें मोटी रकम दी जाती है। लेकिन दुख की बात ये है कि लोग ऐसी बेतुकी बातों पर प्रतिक्रिया देते हैं, सुनते हैं और भरोसा भी कर लेते हैं। आगे उन्होंने लिखा कि अफवाह फैलाने वाले न केवल उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश कर रहे हैं, बल्कि त्रिपुरावासियों से उन्हें मिले प्रेम, लगाव और इज्जत का भी अपमान कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से उन पर भरोसा रखने और अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील भी की है।

नीति देब ने CNBCTV18 के ट्वीट का जवाब देते हुए रिपोर्ट को फर्जी खबर बताया और साथ ही इसके लिए समाचार एजेंसी की आलोचना करते हुए कहा कि झूठी पब्लिसिटी पाने के लिए अफवाहों के आधार पर ऐसी खबरें चलाकर एक सम्मानित महिला की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं, जो कि एक अपराध है।

नीति देब ने अपने फेसबुक अकाउंट पर इन झूठी अफवाहों को लेकर मजाकिया लहजे में भी एक पोस्ट करते हुए लिखा था कि ये सब कब हुआ, उन्हें तो पता भी नहीं चला। उन्होंने इसमें लिखा था कि उनका प्यार शर्त रहित और सच्चा है और इसके लिए उन्हें किसी को कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है।

नीति देब के द्वारा इस खबर का खंडन करने के बाद CNBCTV18 ने अपनी खबर हटा ली और साथ ही ट्वीट भी डिलीट कर दिया।

मगर कई मीडिया आउटलेट्स ने पहले ही CNBC की खबर के आधार पर ये खबर चला दी थी, जो कि अभी ऑनलाइन साइटों पर मौजूद हैं और सोशल मीडिया साइटों पर शेयर किए जा रहे  हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिल्पकार के नाम से प्रसिद्ध दुनिया का ‘इकलौता’ मंदिर, पानी में तैरने वाले पत्थरों से निर्माण: तेलंगाना का रामप्पा मंदिर

UNESCO के विरासत स्थलों में शामिल है तेलंगाना के वारंगल स्थित काकतीय रुद्रेश्वर या रामप्पा मंदिर। 12वीं शताब्दी में निर्मित मंदिर कुछ विशेष कारणों से है अद्वितीय।

कारगिल के 22 साल: ‘फर्ज पूरा होने से पहले मौत आई तो प्रण लेता हूँ मैं मौत को मार डालूँगा’

भारतीय सैनिकों के ऊपर 60-70 मशीनगन लगातार फायरिंग कर रही थी। गोले बरस रहे थे। फिर भी कैप्टन मनोज पांडे टुकड़ी के साथ आगे बढ़ रहे थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,222FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe