Monday, April 15, 2024
Homeसोशल ट्रेंडThe Hindu को तमाचा: 11 घंटे में 510 लोगों ने अक्षयपात्र को दान किए...

The Hindu को तमाचा: 11 घंटे में 510 लोगों ने अक्षयपात्र को दान किए ₹21 लाख

लेखक, वैज्ञानिक और स्वराज्य पत्रिका के स्तम्भकार आनंद रंगनाथन की अपील पर 510 लोगों ने 11 घंटे में अक्षय पात्र फाउंडेशन को ₹21 लाख का दान दिया है, कुछ ने तो अपनी पॉकेट मनी तक दान कर दी।

पत्रकारिता के समुदाय विशेष (मुख्यतः The Hindu और ईसाई फे डिसूज़ा के सम्पादन में चलने वाला Mirror Now) के द्वारा इस्कॉन/गौड़ीय वैष्णव सम्प्रदाय के एनजीओ ‘अक्षय पात्र फाउंडेशन’ के खिलाफ चल रहे दुष्प्रचार को भारत ने बड़ा तमाचा मारा है। अपने धार्मिक आग्रहों को बच्चों की भोजन जरूरतों की कीमत पर थोपने का आरोप लगाने वाले The Hindu के लेख और फे डिसूज़ा द्वारा इसी मुद्दे पर अक्षय पात्र पर कीचड़ उछालने की कोशिश के बाद लेखक, वैज्ञानिक और स्वराज्य पत्रिका के स्तम्भकार आनंद रंगनाथन की अपील पर 510 लोगों ने 11 घंटे में अक्षय पात्र फाउंडेशन को ₹21 लाख का दान दिया है, कुछ ने तो अपनी पॉकेट मनी तक दान कर दी।

रंगनाथन की अपील, बातें नहीं पैसे से ठोस समर्थन दिखाओ

The Hindu ने दो-चार बच्चों की प्याज-लहसुन के बिना पकाए गए खाने की नापसंदगी को पूरे कर्नाटक के बच्चों द्वारा अक्षय पात्र के मिड डे मील को ख़ारिज करने की कहानी रचते हुए लेख छापा था। इस पर ऑपइंडिया समेत देश के अधिकाँश हिस्सों से तीखी प्रतिक्रिया हुई थी।

इसके बाद Mirror Now की सम्पादिका फे डिसूज़ा ने भी इस पर The Hindu सरीखा ही प्रोग्राम किया।

इसके बाद आनंद रंगनाथन ने अक्षय पात्र के समर्थकों से अपील की कि केवल जबानी समर्थन देने की बजाय अक्षय पात्र के कार्य के समर्थकों को अपना पैसा अपने समर्थन के रूप में लगाना चाहिए। तभी हिन्दूफ़ोबिक गिरोहों को जवाब मिलेगा।

उनकी इस अपील के बाद समर्थकों ने अक्षय पात्र को भारी मात्रा में दान भेजना शुरू कर दिया। महज़ 11 घंटे के अंतराल में अक्षय पात्र को 510 सोशल मीडिया यूज़र्स ने ₹21 लाख दान कर दिए। जहाँ एक अनाम दानदाता ने ₹2 लाख अकेले दान किए, वहीं पूरी दान राशि का औसत ₹3800 प्रति व्यक्ति के आसपास रहा। स्वराज्य पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार एक व्यक्ति ने तो एक दूसरे व्यक्ति की ओर से भी दान किया, जब उसे पता चला कि वह व्यक्ति अक्षय पात्र फाउंडेशन का समर्थक तो है लेकिन आर्थिक मजबूरी के चलते दान करने में अक्षम है।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के सम्पादक सुनील जैन ने भी मुहिम में हिस्सा लिया।

लोगों के इस भारी समर्थन के लिए आंनद रंगनाथन ने उन्हें धन्यवाद करते हुए ट्वीट किया:

अक्षय पात्र ने हाल ही में अपना 300 करोड़-वाँ मिड डे मील परोसा था। इस उपलक्ष्य में वृंदावन चंद्रोदय मंदिर में उसके कार्यक्रम में उपस्थित हो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद 20 बच्चों को खाना खिलाया

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वित्त मंत्री रहते RBI पर दबाव बनाते थे P चिदंबरम, सरकार के लिए माहौल बनाने को कहते थे’: बैंक के पूर्व गवर्नर ने खोली...

आरबीआई के पूर्व गवर्नर पी सुब्बाराव का दावा है कि यूपीए सरकारों में वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी और पी चिदंबरम रिजर्व बैंक पर दबाव डालते थे कि वो सरकार के पक्ष में माहौल बनाने वाले आँकड़ें जारी करे।

‘इलेक्टोरल बॉन्ड्स सफलता की कहानी, पता चलता है पैसे का हिसाब’: PM मोदी ने ANI को इंटरव्यू में कहा – हार का बहाना ढूँढने...

'एक राष्ट्र एक चुनाव' के प्रतिबद्धता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने संसद में भी बोला है, हमने कमिटी भी बनाई हुई है, उसकी रिपोर्ट भी आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe