Wednesday, July 24, 2024
Homeसोशल ट्रेंडविराट कोहली के फैन ने रोहित शर्मा के फैन को बैट से पीट-पीट कर...

विराट कोहली के फैन ने रोहित शर्मा के फैन को बैट से पीट-पीट कर मार डाला, RCB पर किया था कमेंट: लोगों ने कहा- कोहली को गिरफ्तार करो

पुलिस ने बताया, "विग्नेश को हकलाने वाले धर्मराज को बॉडी शेम करने की आदत थी। उस दिन उन्होंने आरसीबी टीम की तुलना धर्मराज की बोलने की कठिनाई से करते हुए कुछ टिप्पणी की थी। इससे धर्मराज गुस्सा हो गया और विग्नेश पर बोतल से हमला किया। बाद में उसने विग्नेश के सिर पर क्रिकेट के बल्ले से हमला किया।"

सोशल मीडिया पर शनिवार (14 अक्टूबर 2022) को जब #Arrest Kohli (अरेस्ट कोहली) को ट्रेंड करने लगा तो यूजर अचंभित रह गए। दरअसल, क्रिकेटर कोहली के प्रशंसक और तमिलनाडु का रहने वाले 21 वर्षीय ने विराट कोहली (Virat Kohli) का मजाक उड़ाने पर अपने दोस्त की हत्या कर दी।

24 वर्षीय पी विग्नेश और एस धर्मराज नशे में थे। इस दौरान किसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस हो गई। इसी बाच विग्नेश ने रॉयल चैलेंजर बैंगलोर (RCB) और विराट कोहली (Virat Kohli) मजाक उड़ा दिया। इतने में धर्मराज ने अपना आपा खो दिया और विग्नेश को क्रिकेट के बल्ले से मारकर मौत के घाट उतार दिया।

कीलापालुर पुलिस का कहना है कि दोनों ने शराब पी रखी थी। प्रारंभिक जाँच में सामने आया है कि विग्नेश इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में मुंबई इंडियंस का समर्थन कर रहा था, जबकि धर्मराज RCB का समर्थक था। क्रिकेट को लेकर दोनों के बीच बहस हो गई।

पुलिस ने बताया, “विग्नेश को हकलाने वाले धर्मराज को बॉडी शेम करने की आदत थी। उस दिन उन्होंने आरसीबी टीम की तुलना धर्मराज की बोलने की कठिनाई से करते हुए कुछ टिप्पणी की थी। इससे धर्मराज गुस्सा हो गया और विग्नेश पर बोतल से हमला किया। बाद में उसने विग्नेश के सिर पर क्रिकेट के बल्ले से हमला किया।”

घटना को अंजाम देने के बाद धर्मराज मौके से फरार हो गया। पुलिस ने जब बुधवार (12 अक्टूबर 2022) को विग्नेश का शव बरामद किया, तब जाकर मामला सामने आया। धर्मराज के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर गुरुवार (13 अक्टूबर 2022) को उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़ित के शव को पोस्टमार्टम अरियालुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल कराया गया।

इसके बाद सोशल मीडिया यूजर मजा लेने के लिए ट्विटर पर #Arrest Kohli को ट्रेंड कराने लगे। कई यूजर ने मीम शेयर किए। वहीं, कोहली कै फैंस इस ट्रेंड को लेकर भड़के हुए हैं और विराट का बचाव कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल है या झटका… मीट की दुकान के बाहर लिखो: जयपुर नगर निगम ने जारी किया आदेश, शिव मंदिर के पास और काँवड़ियों के...

जयपुर नगर निगम ने कावंडियों के रास्ते में और शिव मंदिर के निकट खुले में मीट बिक्री पर रोक लगाने की बात कही है।

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -