Monday, August 2, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'दवाओं से नहीं, पैग से असर होगा': दिल्ली में लॉकडाउन के ऐलान पर शराब...

‘दवाओं से नहीं, पैग से असर होगा’: दिल्ली में लॉकडाउन के ऐलान पर शराब लेने पहुँची महिला की बात सुन पकड़ लेंगे माथा

महिला ने कहा कि लॉकडाउन से शराबियों को फर्क पड़ेगा, शराबियों को दवाइयों से कोई असर नहीं पड़ेगा, पैग से असर पड़ेगा। मुझे 35 साल हो गए पीते हुए, मैंने कोई दूसरी डोज नहीं ली। हर रोज एक पैक लेती है, उसके बाद कुछ नहीं।

दिल्ली में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए केजरीवाल सरकार ने आज (अप्रैल 19, 2021) से 26 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। इस दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी सब बंद रहेगा। दिल्ली सरकार ने शराब की दुकानों पर भी प्रतिबंध लगाया। लॉकडाउन के ऐलान के बाद दिल्ली में शराब की दुकानों पर लंबी-लंबी लाइनें लग गईं। क्या महिला, क्या पुरुष, क्या वृद्ध सभी इन लाइनों में लगे नजर आए। यहाँँ एक महिला ने तो ये तक दावा कर दिया कि जो इंजेक्शन नहीं कर सकता, वह अल्कोहल कर देगा।

शिवपुरी गीता कॉलोनी स्थित एक दुकान के बाहर शराब खरीदने के लिए खड़ी महिला ने कहा कि उसे कोविड-19 का इंजेक्शन फायदा नहीं करेगा, अल्कोहल फायदा करेगा। महिला ने कहा कि उसे दवाओं से असर नहीं होगा, पैग से असर होगा।

महिला ने बताया कि अगले 6 दिन लॉकडाउन हैं, इसलिए वो एक बोतल और दो पव्वे लेने के लिए आई है। महिला ने जब सवाल किया गया कि आखिर उसे ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी की वो कोरोना काल में भीड़ में दारू खरीदने के लिए आ गई, तो उसने कहा कि शराब में अल्कोहल होता है, उसे कोरोना का इंजेक्शन फायदा नहीं करेगा, अल्कोहल फायदा करेगा। महिला ने कहा कि जो भी लोग शराब पीएँगे, वो सभी सही रहेंगे।

महिला ने कहा कि लॉकडाउन से शराबियों को फर्क पड़ेगा, शराबियों को दवाइयों से कोई असर नहीं पड़ेगा, पैग से असर पड़ेगा। महिला ने आगे बताया कि उसे 35 साल हो गए पीते हुए, उसने कोई दूसरी डोज नहीं ली। उसने बताया कि हर रोज एक पैक लेती है, उसके बाद कुछ नहीं। महिला ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन में शराब के ठेके खुलने चाहिएं। ठेके खुलने से वो डॉक्टरों के पास जाने से बच जाएँगे।

बता दें कि दिल्ली में अब तक कोरोना के 8,53,460 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 74,941 अब भी सक्रिय हैं। पिछले 1 दिन में यहाँ 25,462 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं और 161 की मौत हुई है। पिछले एक सप्ताह में कोरोना 2.4% की रफ़्तार से प्रतिदिन बढ़ा है। राज्य में मृत्यु दर 1.4% है। राज्य में अब तक 1.6 करोड़ लोगों की टेस्टिंग हो चुकी है। पिछले 1 सप्ताह में हालात ज्यादा बदतर हुए हैं। बावजूद इसके आम लोगों में भी सतर्कता का अभाव दिख रहा है। इधर केजरीवाल ने जैसे ही कर्फ्यू का ऐलान किया वैसे ही दिल्ली के ठेकों पर लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe