Wednesday, July 28, 2021
Homeसोशल ट्रेंडट्विटर पर आया गिलगित-बाल्टिस्तान का 'ऑफिसियल' एकाउंट, लोगों में खास चर्चा का विषय

ट्विटर पर आया गिलगित-बाल्टिस्तान का ‘ऑफिसियल’ एकाउंट, लोगों में खास चर्चा का विषय

यह एकाउंट मई, 2020 में ही तैयार किया गया है, जिसे काफी तेजी से लोग फॉलो कर रहे हैं। फिलहाल इसे 13 हजार से अधिक फोलोअर्स फॉलो कर चुके हैं। इस एकाउंट के विवरण में 'गिलगित-बाल्टिस्तान, लद्दाख (केंद्र शासित प्रदेश), भारत का आधिकारिक ट्विटर एकाउंट' लिखा गया है।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) और दूरदर्शन न्यूज़ के गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद का मौसम का हाल बताने के बाद इस क्षेत्र से सम्बंधित घटनाएँ तेजी से जन्म लेती जा रही हैं।

ट्विटर पर गिलगित-बाल्टिस्तान का एक एकाउंट @GB_Ladakh_India चर्चा का विषय है, जिसे गिलगित-बाल्टिस्तान का आधिकारिक ट्विटर एकाउंट बताया जा रहा है। हालाँकि इसकी अभी तक किसी भी प्रकार की कोई आधिकारिक घोषणा जारी नहीं हुई है।

गिलगित-बाल्टिस्तान का ट्विटर एकाउंट, जो चर्चा का विषय बना है

यह एकाउंट मई, 2020 में ही तैयार किया गया है, जिसे काफी तेजी से लोग फॉलो कर रहे हैं। फिलहाल इसे 13 हजार से अधिक फोलोअर्स फॉलो कर चुके हैं। इस एकाउंट के विवरण में ‘गिलगित-बाल्टिस्तान, लद्दाख (केंद्र शासित प्रदेश), भारत का आधिकारिक ट्विटर एकाउंट’ लिखा गया है।

इसकी लोकेशन गिलिगिट-बाल्टिस्तान, लद्दाख (UT) दर्शाई गई है। और इसके साथ भारतीय केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की आधिकारिक वेबसाइट का लिंक ladakh(डॉट)nic(डॉट)in भी दी गई है। इस एकाउंट से अभी तक मात्र तीन ट्वीट किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि स्वतंत्रता के बाद से ही गिलगित-बाल्टिस्तान पर पाकिस्तान ने कबायली उग्रवादियों की मदद से अवैध कब्जा कर लिया था। यह एक बार फिर से हाल ही में तब चर्चा में आया जब पाकिस्तान सरकार ने वहाँ चुनाव करवाने के निर्देश दिए और भारत सरकार ने पाकिस्तान से इस इलाके से पीछे हटने की नसीहत दी।

इस एकाउंट को लेकर सोशल मीडिया में भी खूब चर्चा हो रही हैं –

हाल ही में भारत सरकार ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) और गिलगित-बाल्टिस्तान को लेकर एक बड़ा फैसला लिया और देश में मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली संस्था भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपने पूर्वानुमान सूची में गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद को शामिल किया है।

इस पर IMD के डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय महापात्रा ने बताया कि गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद को भी मौसम बुलेटिन में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि ये भी भारत के हिस्से हैं इसलिए हमने इन्हें मौसम बुलेटिन में शामिल किया है।

इसके बाद से दूरदर्शन न्यूज़ चैनल ने भी अपने मौसम समाचारों में इस क्षेत्र के समाचारों को भी भारतीय क्षेत्र में शामिल कर दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe