Sunday, August 1, 2021
Homeसोशल ट्रेंडदिल्ली दंगों के खिलाड़ी खालिद सैफी की वो सब फोटो यहाँ हैं, जिन्हें देखकर...

दिल्ली दंगों के खिलाड़ी खालिद सैफी की वो सब फोटो यहाँ हैं, जिन्हें देखकर आप कहेंगे…

क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि खालिद सैफी ने ही दिल्ली दंगों से पहले उमर खालिद और ताहिर हुसैन की मीटिंग करवाई थी। ये मीटिंग 8 जनवरी को शाहीन बाग में हुई थी। इसमें उमर खालिद, ताहिर हुसैन और खालिद सैफी शामिल थे।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली हिंसा के मामले में खालिद सैफी को गिरफ्तार किया है। खालिद सैफी (Khalid Saifi) पर आरोप है कि उसने दिल्ली में हिंसा से पहले शाहीन बाग में जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद और पूर्व आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के बीच मीटिंग करवाई थी। शाहीन बाग में इस साल 8 जनवरी को दोनों की मुलाकात हुई थी, इस मीटिंग में उमर खालिद, ताहिर हुसैन और खालिद सैफी शामिल थे।

लेकिन खालिद सैफी की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरों की बाढ़ आ गई है। इन तस्वीरों में यह खालिद सैफी वामपंथी मीडिया से लेकर, प्रोपेगेंडा जगत की हस्तियों और आम आदमी पार्टी नेताओं के साथ नजर आ रहा है।

इनमें कुछ प्रमुख नाम रेमन मैग्सेसे पुरस्कार विजेता और एनडीटीवी के प्रोपेगेंडा पत्रकार रवीश कुमार, आम आदमी पार्टी प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से लेकर सोशल मीडिया पर इस्लामिक विचारधारा की समर्थक RJ सायमा आदि नाम शामिल हैं।

एक नजर ऐसी ही कुछ तस्वीरों में खालिद सैफी के साथ कुछ प्रमुख हस्तियाँ –

ट्विटर पर अंकुर सिंह ने ऐसा ही तस्वीरों का एक समूह ट्वीट किया है जिसमें खालिद सैफी दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, रवीश कुमार से लेकर JNU के छात्र नेता कन्हैया कुमार के साथ देखे जा सकते हैं।

एक अन्य ट्वीट में अंकुर सिंह ने खालिद सैफी की कुछ और तस्वीरें ट्वीट की हैं इनमें खालिद सैफी को वामपंथी प्रोपेगेंडा वेबसाइट ‘द वायर’ की आरफा खानम, धान को गेहूँ बताने वाले यूट्यूबर अभिसार शर्मा, राजदीप सरदेसाई और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साथ देखा जा सकता है।

इस तस्वीर में ख़ालिद सैफी को JNU के छात्र नेता उमर खालिद और अन्य कॉमरेड साथियों के बीच देखा जा सकता है –

एक अन्य तस्वीर में खालिद सैफी को RJ सायमा के साथ भी देखा गया है। ये वही रेडियो जॉकी सायमा है, जो शाहीन बाग़ से लेकर दिल्ली में हुए हिन्दू-विरोधी दंगों के बीच सोशल मीडिया पर निरंतर इस्लामिक विचारधारा के समर्थन और मजहबी कारणों से चर्चा में बनी हुई नजर आई थीं –

एक सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण सेल्फी जो खालिद सैफी द्वारा ली गई है उसमें उनके साथ संजुक्ता बासु और गुर्मेह्र कौर नजर आ रही हैं –

आम आदमी पार्टी नेता आतिशी मार्लेना के साथ खालिद सैफी –

बॉलीवुड अभिनेता प्रकाश राज के साथ खालिद सैफी –

खालिद सैफी की ऐसी ही कुछ तस्वीरों को ट्वीट करते हुए ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ नामक ट्विटर एकाउंट ने लिखा है – डराने वाली तस्वीरें खालिद सैफी के अकेले की नहीं बल्कि इन सभी वामपंथी विचारधारा के चेहरों के साथ ली गई उसकी तस्वीरें हैं।

उल्लेखनीय है कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों के मामले में एसआईटी (SIT) ने आज (जून 9, 2020) खालिद सैफी को गिरफ्तार किया है। खालिद सैफी को चाँद बाग में हुई हिंसा की साजिश में शामिल होने के आरोप में अरेस्ट किया गया है। इससे पहले AAP के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन के ख़िलाफ़ चार्जशीट दायर हो चुकी है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि खालिद सैफी ने ही दिल्ली दंगों से पहले उमर खालिद और ताहिर हुसैन की मीटिंग करवाई थी। ये मीटिंग 8 जनवरी को शाहीन बाग में हुई थी। इसमें उमर खालिद, ताहिर हुसैन और खालिद सैफी शामिल थे।

मीटिंग में उमर खालिद ने कहा था कि जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दिल्ली में होंगे तो कुछ बड़ा करना है। वित्तीय सहायता पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के लोग देंगे। बता दें कि खालिद सैफी यूनाइटेड अगेंस्ट हेट नाम का संगठन चलाता है। इसका जिक्र गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में भी किया हुआ है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,325FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe