Wednesday, September 22, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'राजपूत बॉय' रवीन्द्र जडेजा का ट्वीट, रैना के 'मैं ब्राह्मण हूँ' के बाद सोशल...

‘राजपूत बॉय’ रवीन्द्र जडेजा का ट्वीट, रैना के ‘मैं ब्राह्मण हूँ’ के बाद सोशल मीडिया पर जाति-आरक्षण को लेकर बवाल

"आप क्षत्रिय, ब्राह्मण, ओबीसी या एससी किसी भी जाति के हो सकते हैं। केवल रैना या जडेजा ही नहीं, आप सभी को अपनी जाति पर गर्व होना चाहिए। लेकिन याद रखें कि हमारा धर्म और हमारा राष्ट्रवाद सबसे ऊपर होना चाहिए।"

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रवीन्द्र जडेजा ने एक बार फिर से सोशल मीडिया पर खुद को राजपूत ब्वॉय बताया है। इसको लेकर नेटिजन्स सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इससे पहले पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना ने ‘मैं ब्राह्मण हूँ’ वाला बयान दिया था, जिसके बाद रैना के साथ जडेजा पर जातिवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया था।

इसके बाद अब जडेजा का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उन्होंने ‘राजपूत ब्वॉय फॉरएवर’ जय हिंद लिखा।

उनके इस बयान पर सोशल मीडिया पर नेटिजन्स ने कई प्रकार के कमेंट किए। कुछ ने सराहा तो कुछ ने लताड़ा। सराहने वालों में ‘अहं ब्रम्हास्मि’ नाम के यूजर ने कहा कि जडेजा को अपने बयान पर शर्मिंदा होने के बजाय जाति और धर्म के नाम पर आरक्षण लेने वालों को शर्मिंदा होना चाहिए। सभी गौरवान्वित ब्राह्मण, राजपूत, कायस्थ आदि अपनी मेहनत से सफलता की ऊँचाइयों पर बैठे हैं, फिर चाहे वह सुरेश रैना हों या गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई।

एक अन्य यूजर इली मेहरा ने जडेजा के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए कहा कि वह निश्चित ही एक एक गर्वित राजपूत हैं। एक बार एक इंटरव्यू में एक पत्रकार ने महेंन्द्र सिंह धोनी से एक सवाल पूछा कि आपके पूर्वज भारत के किस हिस्से से हैं? आम धारणा यह है कि आप जाट हैं। उन्होंने उत्तर दिया, “मेरे माता-पिता उत्तरांचल से हैं। मैं एक राजपूत हूँ, उत्तराँचल में बहुत सारे राजपूत हैं।”

पीयूष सिंह नाम के यूजर ने कहा, “आप क्षत्रिय, ब्राह्मण, ओबीसी या एससी किसी भी जाति के हो सकते हैं। केवल रैना या जडेजा ही नहीं, आप सभी को अपनी जाति पर गर्व होना चाहिए। लेकिन याद रखें कि हमारा धर्म और हमारा राष्ट्रवाद सबसे ऊपर होना चाहिए। जातिवाद से विभाजित न हों, हिंदू धर्म और राष्ट्रवाद पर एकजुट हों।”

प्रखर गौर नाम के ट्विटर यूजर ने कहा कि देश में जातिवाद का अंत तभी होगा, जब आरक्षण खत्म होगा। आरक्षण को सपोर्ट करोगे तो जाति व्यवस्था कैसे खत्म होगी। नौकरी लोगे आरक्षण के दम पर।

रवीन्द्र जडेजा के राजपूत कमेंट पर कौस्तुव द्विवेदी ने लिखा, “राजपूत वो लोग हैं, जिन्होंने इस देश की 100 वर्षों तक रक्षा की है और उन्होंने सचमुच राष्ट्र के लिए खून बहाया है। यही उनका सम्मान है। यही उनका गौरव है। हम कम से कम इतना तो कर ही सकते हैं कि हम हर गर्वित राजपूत की उस भावना का सम्मान कर सकते हैं।”

सुरेश रैना ने खुद को बताया था ब्राह्मण

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी सुरेश रैना ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग में कंमेंटेटर के तौर पर बुलाया गया था, जहाँ उन्होंने तमिलनाडु की संस्कृति के बारे में बात करते हुए कहा था कि वो भी एक ब्राह्मण हैं, इसलिए राज्य की संस्कृति को अपनाने में उन्हें दिक्कत नहीं हुई है। इसी को लेकर उनकी काफी आलोचना की गई थी। लोगों ने उन्हें जातिवादी बताने की कोशिश की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe