Thursday, January 20, 2022
Homeसोशल ट्रेंडवासेपुर की नगमा और उसका Covid-19 प्रोटोकॉल: 9 साल पुरानी बात, ऋचा चड्ढा ने...

वासेपुर की नगमा और उसका Covid-19 प्रोटोकॉल: 9 साल पुरानी बात, ऋचा चड्ढा ने क्लिप शेयर कर दिलाई याद

एक सीन में नगमा पुलिस को आगे आने से मना करती है। दूसरे में वह खाना खाने को कहती है। अगले में बेटे को मारते हुए हाथ धोने को कहती है। चौथे में झाड़ू से मारते हुए आसपास के लोगों को हटाती है और...

साल 2020 में जब कोरोना संक्रमण ने दस्तक दी तो इससे बचने के लिए विश्व भर में कुछ नियम अनिवार्य कर दिए गए। इनमें हाथ को सैनेटाइज करना, इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खाना पेट भर खाना, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कई प्रोटोकॉल शामिल हैं। आज 2021 में जब ये छोटी-छोटी बातें सबको पता है उस समय बॉलीवुड अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने बताया है कि गैंग्स ऑफ वासेपुर में नगमा के किरदार में उन्होंने कोविड से बचने के ये उपाय 9 साल पहले बता दिए थे।

दरअसल, ऋचा चड्ढा ने फेसबुक पर गैंग्स ऑफ वासेपुर से अपनी कुछ वीडियो क्लिप्स शेयर की है। फिल्म में उन्होंने नगमा खातून का रोल अदा किया था। 2012 में रिलीज हुई इस फिल्म की क्लिप्स से मजेदार ढंग से कोविड केयर से जुड़ी बातों को जोड़कर दिखाया गया है।

एक सीन में नगमा पुलिस को आगे आने से मना करती है। दूसरे में वह खाना खाने को कहती है। अगले में बेटे को मारते हुए हाथ धोने को कहती है। चौथे में झाड़ू से मारते हुए आसपास के लोगों को हटाती है और संदेश देती है कि जब मास्क पहने लोग आते हैं तो वो उससे कैसे डील करती है।

इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया पर उनकी बहुत तारीफ हुई। लोगों ने बताया कि कैसे उन्हें गैंग्स ऑफ वासेपुर में नगमा खातून का रोल और उनके डॉयलॉग पसंद आए थे। बता दें कि ऋचा चड्ढा ने तो ये वीडियो हँसी-मजाक में कोरोना से जोड़कर प्रासंगिक बनाते हुए शेयर की है। लेकिन ये बात सच है कि एक व्यक्ति ऐसा भी था जिसने अनुमान लगा लिया था कि कोरोना वायरस आने वाला है।

मार्को नाम के ट्विटर यूजर के 3 जून 2013 को किए गए ट्वीट में देख सकते हैं कि लिखा था- “कोरोना वायरस…आ रहा है।” बता दें कि साल 2013 में किए गए इस ट्वीट के पीछे कोई विशेष कारण नहीं था। चूँकि कोरोना वायरस का नाम पहले से अस्तित्व में था तो मार्को द्वारा इस्तेमाल किया गया शब्द हैरान करने वाला नहीं है। लेकिन 2020 में इस वायरस का प्रकोप विश्व भर में फैलने के बाद ये ट्वीट प्रासंगिक हो गया और लोग इसे शेयर करने लगे। इस ट्वीट को इतना शेयर इसलिए भी किया गया क्योंकि ट्विटर पर डेट और टाइम को एडिट करने का कोई ऑप्शन नहीं होता।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नसीरुद्दीन के भाई जमीर उद्दीन शाह ने की हिंदू-मुस्लिम के बीच शांति की वकालत, भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्विटर पर घेरा

जमीर उद्दीन शाह वही व्यक्ति हैं जिन्होंने गोधरा दंगे पर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया था।

‘उस समय माहौल बहुत खौफनाक था…’: वे घाव जो आज भी कैराना के हिंदुओं को देते हैं दर्द, जानिए कैसे योगी सरकार बनी सुरक्षा...

योगी सरकार की क्राइम को लेकर जीरो टॉलरेस की नीति ही वह सुरक्षा कवच है जो कैराना के हिंदुओं को भरोसा दिलाती है कि 2017 से पहले का वह दौर नहीं लौटेगा, जिसकी बात करते हुए वे आज भी सहम जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,413FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe