Thursday, April 25, 2024
Homeसोशल ट्रेंडकैमरा के आगे पेपर रख हुक्का पीने लगे सीनियर वकील धवन: राजस्थान HC में...

कैमरा के आगे पेपर रख हुक्का पीने लगे सीनियर वकील धवन: राजस्थान HC में BSP MLA मामले की चल रही थी वर्चुअल सुनवाई, देखें वीडियो

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो क्लिप में वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने वकील कपिल सिब्बल की दलील के रूप में अपने चेहरे के सामने कागज का एक सेट पकड़कर दिखाया। हालाँकि, वरिष्ठ अधिवक्ता धवन इन दस्तावेजों के पीछे अपने चेहरे को छिपाते हुए देखे जा सकते हैं, फिर भी, वायरल वीडियो क्लिप में धुएँ के छल्ले आराम से नजर आ रहे हैं।

राजस्थान उच्च न्यायालय की एक वर्चुअल सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील राजीव धवन को हुक्का पीते हुए देखे गए जिसके बाद यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया है। कथित तौर पर यह घटना बृहस्पतिवार (अगस्त 12, 2020) को हुई जब राजस्थान उच्च न्यायालय की जयपुर पीठ ने कॉन्ग्रेस के साथ बसपा के छह विधायकों के विलय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई फिर से शुरू की।

दरअसल, हाईकोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल जब बहस कर रहे थे उसी समय सीनियर एडवोकेट राजीव धवन कैमरे के सामने पेपर रखकर स्मोकिंग करते नजर आए।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो क्लिप में वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने वकील कपिल सिब्बल की दलील के रूप में अपने चेहरे के सामने कागज का एक सेट पकड़कर दिखाया। हालाँकि, वरिष्ठ अधिवक्ता धवन इन दस्तावेजों के पीछे अपने चेहरे को छिपाते हुए देखे जा सकते हैं, फिर भी, वायरल वीडियो क्लिप में धुएँ के छल्ले आराम से नजर आ रहे हैं।

इसके बाद अधिवक्ता दस्तावेजों को अलग रख देते हैं। लेकिन जैसे ही वह दस्तावेजों को किनारे रखते हैं, राजीव धवन सुनवाई के दौरान हुक्का पीते हुए दिखाई पड़ते हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि इस वर्चुअल सुनवाई के दौरान अधिवक्ता धवन द्वारा हुक्का पीने की इस घटना को राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा नोटिस किया गया था या नहीं।

शुक्रवार (अगस्त 13, 2020) को सुनवाई फिर से शुरू होने पर, वरिष्ठ वकील राजीव धवन का वीडियो अचानक गायब हो गया। इसके लिए राजस्थान HC ने उनसे पूछा कि क्या उनके द्वारा वीडियो को बंद कर दिया गया था?

बसपा के टिकट पर चुनाव जीत विधानसभा पहुँचने के बाद कॉन्ग्रेस में विलय करने वाले 6 विधायकों को सदन की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित करने का अनुरोध करते हुए भाजपा विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान उच्च न्यायालय में अर्जी दी है।

इस अर्जी में उन्होंने कहा है कि इन विधायकों ने अपनी पार्टी के व्हिप का उल्लंघन किया है। अभी यह याचिका उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। जिसकी सुनवाई के दौरान अधिवक्ता राजीव धवन हुक्का पीते और धुएँ के छल्ले बनाते देखे गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इंदिरा गाँधी की 100% प्रॉपर्टी अपने बच्चों को दिलवाने के लिए राजीव गाँधी सरकार ने खत्म करवाया था ‘विरासत कर’… वरना सरकारी खजाने में...

विरासत कर देश में तीन दशकों तक था... मगर जब इंदिरा गाँधी की संपत्ति का हिस्सा बँटने की बारी आई तो इसे राजीव गाँधी सरकार में खत्म कर दिया गया।

जिस जज ने सुनाया ज्ञानवापी में सर्वे करने का फैसला, उन्हें फिर से धमकियाँ आनी शुरू: इस बार विदेशी नंबरों से आ रही कॉल,...

ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को कुछ समय से विदेशों से कॉलें आ रही हैं। उन्होंने इस संबंध में एसएसपी को पत्र लिखकर कंप्लेन की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe