Saturday, October 16, 2021
Homeसोशल ट्रेंडTMC नेता महुआ मोइत्रा ने देश को बताया 'सुसु पॉटी रिपब्लिक', लोगों ने याद...

TMC नेता महुआ मोइत्रा ने देश को बताया ‘सुसु पॉटी रिपब्लिक’, लोगों ने याद दिलाई बंगाल हिंसा: कार्रवाई की माँग

महुआ मोइत्रा के इस ट्वीट पर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रियाएँ सामने आ रही है। एक ट्विटर यूजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब बंगाल में हिंसा हो रही थी तो मैडम सो रही थी।

तृणमूल कॉन्ग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा ने मंगलवार (मई 25, 2021) को भारत को ‘सुसु पॉटी रिपब्लिक’ कह कर हड़कंप मचा दिया। सोमवार (मई 24, 2021) रात ट्विटर इंडिया के गुरुग्राम कार्यालय में दिल्ली पुलिस की छापेमारी की निंदा करते हुए एक ट्वीट में, मोइत्रा ने कहा, “हमारे सुसु पॉटी रिपब्लिक में आपका स्वागत है! गौमूत्र पियो, गोबर छिड़को और शौचालय में कानून के शासन को फ्लश करो। दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को नोटिस जारी किया और भाजपा के फर्जी दस्तावेज को मैनीपुलेटेड मीडिया बताने के सही तरीके के लिए उनके कार्यालयों में छापेमारी की।”

महुआ मोइत्रा के इस ट्वीट पर लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रियाएँ सामने आ रही है। एक ट्विटर यूजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब बंगाल में हिंसा हो रही थी तो मैडम सो रही थी।

एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा, “इस कोरोना ने तुमको क्यों नहीं डसा, धरती और पूरे ब्रह्मांड पर बोझ हो तुम।”

विजय कुमार ने लिखा, “संसद में कैसे कैसे नमूने पहुँचे हैं?”

एक यूजर ने लिखा, “आंटी को ही पूछने गई थी दिल्ली पुलिस कि आपके पास क्या सबूत है कि यह मैनिपुलेटेड है और वो सब चूहे के बिल में घुस गए।”

एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा, “इसीलिए आपकी सुसु मीडिया पूछ रही थी कि ममता जी कब जाती हैं।” 

वहीं एक यूजर ने लिखा कि रेड ट्विटर के ऑफिस पर पड़ी है, लेकिन तकलीफ तृणमूल को हो रही है। ये रिश्ता क्या कहलाता है?

एक ट्विटर यूजर ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “इलाज करा लो मोहतरमा, सुना है ये मुँह से डिसेंटरी वाला डायरिया बहुत लाइलाज होता है।” इसके साथ ही लोग सोशल मीडिया पर सरकार से उन पर कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ‘कॉन्ग्रेस टूलकिट’ जाँच के सिलसिले में सोमवार (मई 24, 2021) को दिल्ली और गुड़गाँव में ट्विटर इंडिया के दफ्तरों में छापेमारी की थी, जहाँ उनके ऑफिस बंद पाए गए थे।

बता दें कि कल ही कॉन्ग्रेस टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को नोटिस भेजा था। दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर से पूछा था कि उनके पास ऐसी कौन सी जानकारी है जिसके आधार पर वो बीजेपी नेताओं और अन्य लोगों के ट्वीट को ‘manipulated media’ यानी भ्रामक न्यूज़ बता रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe