Friday, January 27, 2023
Homeसोशल ट्रेंडअंतिम संस्कार में भी कुत्ते ने नहीं छोड़ा बंगाल BJP वर्कर अभिजीत सरकार का...

अंतिम संस्कार में भी कुत्ते ने नहीं छोड़ा बंगाल BJP वर्कर अभिजीत सरकार का साथ, पत्नी ने बताया था- माँ के सामने की गई थी हत्या

2 मई को भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया था। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई थी।

पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा के दौरान टीएमसी के गुंडों द्वारा बेरहमी से मारे गए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार के अंतिम संस्कार की तस्वीरें रविवार (सितंबर 12, 2021) को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर शेयर की गईं। तस्वीरों में एक कुत्ता भी दिख रहा। यह अभिजीत सरकार का पालतू कुत्ता है। इसका जिक्र उन्होंने मौत से पहले बनाए गए अपने वीडियो में भी किया था। बंगाल बीजेपी कार्यकर्ता प्रत्युष सिंह के मुताबिक, कुत्ता अभिजीत सरकार के अंतिम संस्कार की जगह से हटने के लिए तैयार नहीं हुआ। वह वहीं पर बैठा रहा।

2 मई को भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया था। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। उन्हें पता भी नहीं था कि फेसबुक पर लाइव कैसे आते हैं, लेकिन उन्होंने किसी तरह वीडियो बनाया और बताया कि TMC के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं और उन्होंने उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला है। उन्होंने कहा था कि उनकी एक ही गलती है कि वे भाजपा कार्यकर्ता हैं। अभिजीत सरकार ने बताया था कि वे कुत्तों से काफी प्यार करते थे।

उन्होंने कई बेसहारा कुत्तों को पाला था, जिनका कोई नहीं था। उनमें से एक मादा कुत्ते ने कुछ बच्चों को भी जन्म दिया था। अभिजीत सरकार ने एक कुत्ते की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि गुंडों ने इसके बच्चों को भी नहीं बख्शा और उन सभी को मार डाला। उन्होंने रोते-रोते इन हरकतों के बारे में बताया था। एक अन्य वीडियो में उन्होंने बताया था कि उनके घर और NGO दफ्तर को तोड़ डाला गया है। कुत्ते के 5 बच्चे को मार डाला गया।

उन कुत्तों के बच्चों की तस्वीरें अभिजीत सरकार ने अपने फेसबुक हैंडल से शेयर भी की थी। उन्होंने बताया था कि कोलकाता के बेलिहाता में वॉर्ड संख्या 30 से हिंसा की शुरुआत हुई और परेश पॉल व स्वप्न समंदर जैसे तृणमूल नेताओं के नेतृत्व में ये सब हुआ। अभिजीत सरकार ने फेसबुक के वीडियो के माध्यम से पूछा था कि क्या ये लोग मनुष्य भी हैं? उन्होंने पूछा कि उन्हें क्यों नुकसान पहुँचाया जा रहा है, उनकी क्या गलती है?

इन दोनों वीडियो के अपलोड करने के बाद पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी गई। उन्हें उनके घर के बाहर घसीटा गया, बेरहमी से पीटा गया और तार से गला घोंट दिया गया। घर से कुछ दूरी पर उनका शव मिला था। अभिजीत सरकार की पत्नी जो इस घटना की चश्मदीद भी हैं ने एक सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को बताया था, “भीड़ ने उनके गले में सीसीटीवी कैमरे का तार बाँध दिया। गला दबाया। ईंट और डंडों से पीटा। सिर फाड़ दिया और माँ के सामने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। आँखों के सामने बेटे की हत्या होते देख उनकी माँ बेहोश होकर मौके पर ही गिर गईं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाक से दिया जाने वाला दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन भारत ने किया लॉन्च: बाजार में 800 रुपए है कीमत, सरकार को आधी से...

भारत ने विश्व का कोरोना के लिए पहला स्वदेशी नेजल वैक्सीन विकसित किया है। इसे केंद्रीय मंत्री मंडाविया और जितेंद्र सिंह ने लॉन्च किया।

NRIs और महानगरों का हीरो, जिसे हम पर थोप दिया गया: SRK नहीं मिथुन-देओल-गोविंदा ही रहे गाँवों के फेवरिट, मुट्ठी भर लोगों के इलीट...

शाहरुख़ खान सिनेमा के मल्टीप्लेक्स युग की देन है, जिसे महानगरों में लोकप्रियता मिली और फिर एक इलीट समूह ने उसे 'किंग' कह दिया। SRK को आज भी गाँवों के लोग पसंद नहीं करते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,609FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe