Saturday, September 18, 2021

विषय

इसरो

चंद्रयान 2 : चुनाव के बीच चाँद की धरती पर पहुँचेगा यान, ISRO की तैयारियाँ चरम पर

रोवर में छह पहिए हैं और इसका वजन 20 किलो बताया जा रहा है। पावर समस्या से बचने के लिए रोवर को सोलर पावर वाले उपकरणों से भी लैस किया गया है। जिससे रोवर की दूरी का सटीक पता लगाने में आसानी होगी।

इसरो का ऐतिहासिक जंप: एक ही रॉकेट से 3 विभिन्न कक्षाओं में अलग-अलग सैटेलाइट करेगा स्थापित

रॉकेट सबसे पहले 763 Km की कक्षा में फिर उसके बाद 504 Km की कक्षा में और सबसे आखिरी में 485 Km की कक्षा में अलग-अलग सैटेलाइटों को स्थापित करेगी।

ISRO ने GSAT-31 लॉन्च कर रचा इतिहास, पिछले साल किए जा चुके हैं कई सफल परीक्षण

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने बुधवार को सफलता पूर्वक जीसैट-31 उपग्रह को लाँच किया। इसरो ने यूरोपीय कंपनी एरियनस्पेस की प्रक्षेपण यान की...

अगर ‘JNU कांडियों’ और नम्बी नारायणन में से आप सिर्फ़ पहले वालों को जानते हैं, तो समस्या आपके साथ है

नम्बी नारायणन को प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अपनी डिग्री पूरी करने में मात्र 10 महीने लगे थे। मात्र 10 महीने? जेएनयू के ‘सेलेब्रिटी छात्रों’ ने अकेले टीवी स्टूडियो में ही 10 महीने से अधिक समय बिता दिया होगा।

छात्रों द्वारा महज़ 6 दिन में निर्मित विश्व के सबसे हल्के ‘कलामसैट’ की लॉन्चिंग के साथ इसरो ने रचा इतिहास

इस मिशन में भारतीय सेना के सैटेलाइट 'माइक्रोसैट' के साथ छात्रों का बनाया सबसे हल्क़ा सैटेलाइट 'कलामसैट' भी लॉन्च किया गया। कलामसैट इतना छोटा है कि इसे 'फेम्टो' श्रेणी में रखा गया है।

गगनयान भारत का पहला मानव मिशन, पायलट भी हो सकते हैं अंतरिक्ष यात्री

गगनयान मिशन को केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक बताते हुए इसके लिए 10,000 करोड़ रुपए का फंड जारी किया था

गगनयान से अंतरिक्ष में भेजे जायेंगे 3 भारतीय; मोदी कैबिनेट ने मंजूर किया दस हजार करोड़ का बजट

नरेन्द्र मोदी ने इस साल स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐलान किया था कि 2022 तक तीन भारतीय अंतरिक्ष में भेजे जायेंगे। सरकार ने अब इसके लिए दस हजार करोड़ का बजट मंजूर कर दिया है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,947FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe