विषय: भारत पाकिस्तान

शेख रशीद अहमद

हमारे पास आधा पाव से लेकर 1 पाव तक के परमाणु बम: करंट लगने के बाद पाक मंत्री का नया बयान

ये वही मंत्री हैं, जिन्हें मोदी का नाम लेते ही करंट लगा था। उन्होंने पहले कहा था कि फ़ौज ने अपनी तैयारियों के बारे में घोषणा करने के लिए उन्हें रखा हुआ है। अब वह एटम बम का साइज बता रहे हैं।
शेख रशीद अहमद

हमारे पास सभी आकार के स्मार्ट बम हैं, भारत के 22 टुकड़े करेंगे: करंट लगने के बाद पाक मंत्री का नया दावा

लंदन में अंडे खा चुके शेख रशीद ऐसे बयान देते ही रहते हैं जिससे उनका मजाक बने। उनका दावा है कि फ़ौज ने अपनी तैयारियों पर बयान देने के उन्हें रखा हुआ है। आधिकारिक रूप से यह काम आसिफ गफूर का है जो आजकल बॉलीवुड पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।
इंद्रेश कुमार

2025 तक खत्म हो जाएगा पाकिस्तान, कराची-रावलपिंडी में खरीद सकेंगे मकान: RSS नेता

"जब सेना की तारीफ होती है तो वे सबूत माँगने लगते हैं। मोदी का विरोध करने में पाकिस्तान की तारीफ़ करने लगते हैं। ऐसे गद्दारों के लिए एक नया कानून होना चाहिए, चाहे वे JNU में पढ़ रहे हों, या महाराष्ट्र में हों। उसके बाद कोई नसीरुद्दीन, हामिद अंसारी या सिद्धू नहीं होगा।"
शेख रशीद

1-2 महीने में होगा युद्ध: 10 दिन पहले लंदन में अंडे खाने वाले इमरान खान के मंत्री

शेखी बघारते हुए शेख रशीद ने एक सेमिनार में दावा किया कि वे हिंदुस्तान-पाकिस्तान के बीच युद्ध होता देख रहे हैं और अपनी कौम को तैयार करने (सेमिनार में ) आए हैं। उन्होंने धमकी भी दी कि पाकिस्तानी सेना के पास जो हथियार हैं, वे दिखाने के लिए नहीं, इस्तेमाल करने के लिए हैं।
पाकिस्तान को अब जलबहाव पर हिंदुस्तान से नहीं मिलेगी जानकारी (साभार: TOI)

पाकिस्तान को एक और झटका: अब नदी-पानी की जानकारी भी साझा नहीं करेगा हिंदुस्तान

भारतीय सिंधु जल आयोग के आयुक्त पीके सक्सेना ने कहा कि हिंदुस्तान-पाकिस्तान के बीच 1989 में पहली बार हुए और सालाना तौर पर नवीनीकृत होने वाले इस बाबत समझौते को हिंदुस्तान ने और आगे न बढ़ाने का निश्चय किया है।
जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (साभार: PTI)

जल शक्ति मंत्री ने कहा- अब इन तीन नदियों का पानी पाक नहीं जाने देंगे

1960 में नेहरू और अयूब खान के बीच हुए सिंधु जल समझौते में हमें पाकिस्तान को सिंधु, चेनाब और झेलम के पानी पर पूरा हक़ देना होता है।
भारत-पाक युद्ध

बच्चा-बच्चा जनता है कि भारत से लड़ना हमारी फ़ौज के बस की नहीं: Pak सैन्य वैज्ञानिक

"पाकिस्तानी सेना अभी कश्मीर मसले पर भारत से युद्ध लड़ने की स्थिति में नहीं है। सुस्त होती अर्थव्यवस्था और बढ़ती महँगाई का आम आदमी के जीवन पर त्रासद असर पड़ा है।"- ये शब्द किसी भारतीय नेता या अधिकारी के नहीं हैं। ये बयान है पाकिस्तान की सैन्य वैज्ञानिक आयशा सिद्दीका के।
इमरान ख़ान, जवाहरलाल नेहरू

नेहरू के देश पर हिन्दू प्रभुत्व वालों का कब्जा, भारत के परमाणु बमों पर ध्यान दे दुनिया: इमरान ख़ान

"दुनिया को यह ज़रूर देखना चाहिए। RSS के 'गुंडे' खुले तौर पर हिंसा कर रहे हैं। जिन्न अब बोतल से बाहर आ चुका है। अगर विश्व समुदाय ने समय पर कार्रवाई नहीं की तो नरसंहार और घृणा का यह सिद्धांत फैलता चला जाएगा।"
अदनान समय पाकिस्तानी ट्रोल की बोलती बंद

मेरे भी वालिद हिंदुस्तान में पैदा हुए-मरे, और पाकिस्तान का ‘बाप’ भी: अदनान सामी की खरी-खरी

इक़बाल की मौत देश के विभाजन से 9 साल पहले 1938 में हो गई थी। उनका जन्म भी हिंदुस्तान में ही हुआ था। सामी ने इक़बाल की तस्वीर के साथ तिरंगा भी लगाया था।
प्रतीकात्मक तस्वीर (साभार: डेली मेल)

‘जय हिन्द’, ‘भारत माता की जय’: बलूचिस्तानी आज़ादी के परवानों को हिंदुस्तान से आस

"बलूचिस्तान के लोगों पर पाकिस्तान और उसकी सेना के हाथों अत्याचार हो रहा है, उनका सामूहिक हत्याकाण्ड हो रहा है। बलूचिस्तान का खून बहाया जा रहा है।"
पीएम मोदी, रक्षाबंधन

PM मोदी को राखी बाँधने पहुँचीं ‘पाकिस्तानी बहन’, कहा- ‘मेरे भाई को नोबेल मिलेगा’

समय का पहिया घूमा और गुजरात को नरेन्द्र मोदी के रूप में नया मुख्यमंत्री मिला। मोदी ने देश की कमान सम्भालने तक गुजरात की बागडोर थामे रखी। मोहसिन बताती हैं कि एक बार राखी बाँधते समय उन्होंने दुआ करते हुए कहा कि मोदी देश के प्रधानमंत्री बनें। इसके बाद नरेन्द्र मोदी मुस्कुराने लगे थे।
इंडिया हाउस

…15 अगस्त 1947 को जब लंदन में अंग्रेजी झंडा उतार कर फहराया गया था तिरंगा!

15 अगस्त 1947 को लंदन के इंडिया हाउस में लाल कुमार नृपेंद्र नाथ शाहदेव ने तिरंगा फहराया था। शाहदेव भारतीय स्काउटिंग टीम के कप्तान थे। इंडिया हाउस में यूनियन जैक की जगह भारतीय तिरंगा फहराया गया था, और इसकी अध्यक्षता अनुग्रह नारायण सिंह ने की थी।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

104,900फैंसलाइक करें
19,227फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements