Thursday, April 18, 2024
Homeवीडियोबकैत की रिपोर्टविदेशी पत्रिका बताएगी लोकतंत्र की स्थिति: अजीत भारती का वीडियो | Ravish's foreigner love,...

विदेशी पत्रिका बताएगी लोकतंत्र की स्थिति: अजीत भारती का वीडियो | Ravish’s foreigner love, silent on abusive rioters

भारत अपनी संस्कृति, अपनी क्षमता, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री, सर्विस इंडस्ट्री और ऐसी ही तमाम बातों के लिए जाना जाता है। तो क्या अब वामपंथी पत्रिका तय करेगी कि भारत का लोकतंत्र कैसा है और वह कहाँ जा रहा है? वो मानदंड तय करेगी?

वामपंथी पत्रिका The Economist ने कवर पेज बनाया। इस पर रवीश लिख रहे हैं कि पूरी दुनिया में भारत की पहचान का अगर कोई ब्रांड एंबेस्डर है तो वह है देश का लोकतंत्र। ये अपने आप में विचित्र और गलत अवधारण है। रवीश के लिए सही होगा लेकिन भारत कई बातों से जाना जाता है।

भारत अपनी संस्कृति, अपनी क्षमता, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री, सर्विस इंडस्ट्री और ऐसी ही तमाम बातों के लिए जाना जाता है। तो क्या अब वामपंथी पत्रिका तय करेगी कि भारत का लोकतंत्र कैसा है और वह कहाँ जा रहा है? वो मानदंड तय करेगी? और ये वही पत्रिका है, जिसने डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी कैंपेन के दौरान उनके खिलाफ वोट करने के लिए टाइम्स स्क्वायर पर होर्डिंग्स लगाए थे। वो वहाँ के लोगों और वोटरों को खुल्लम-खुल्ला प्रभावित कर रहे हैं।

पूरा वीडियो यहाँ क्लिक करके देखें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल-हराम के जाल में फँसा कनाडा, इस्लामी बैंकिंग पर कर रहा विचार: RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत में लागू करने की...

कनाडा अब हलाल अर्थव्यवस्था के चक्कर में फँस गया है। इसके लिए वह देश में अन्य संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

त्रिपुरा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस-कम्युनिस्टों को एक साथ घेरा: कहा- एक चलाती थी ‘लूट ईस्ट पॉलिसी’ दूसरे ने बना रखा था ‘लूट का...

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस सरकार उत्तर पूर्व के लिए लूट ईस्ट पालिसी चलाती थी, मोदी सरकार ने इस पर ताले लगा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe