Thursday, June 13, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकओवैसी के हमलावर पर फँसी मीडिया, झूठ पकड़े जाने पर लल्लनटॉप ने माँगी माफी:...

ओवैसी के हमलावर पर फँसी मीडिया, झूठ पकड़े जाने पर लल्लनटॉप ने माँगी माफी: कैबिनेट मंत्री के PRO को बता रहे थे ‘सचिन’

द लल्लनटॉप ने प्रमुखता से सीएम योगी के साथ नीतेश की तस्वीर को ओवैसी का हमलावर बता कर प्रसारित कर दिया। हालाँकि जैसे ही इसकी सच्चाई सामने आई तो शब्दों से खेलते हुए एक आर्टिकल लिखा और...

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के काफिले पर हमले के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो आरोपितों सचिन और शुभम को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से लगातार कई मीडिया चैनलों पर एक तस्वीर वायरल कर दावा किया जा रहा है कि ओवैसी पर हमला करने वाले व्यक्ति सचिन का सीएम योगी समेत बीजेपी के कई नेताओं के साथ करीबी संबंध है।

हालाँकि, जिस व्यक्ति की तस्वीर को वायरल कर उसे सचिन बताया जा रहा था औऱ ये साबित करने की कोशिश मीडिया और सोशल मीडिया पर किया जा रहा था कि सचिन के बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ संबंध हैं वो दरअसल नीतेश सिंह तोमर हैं। इस न्यूज के वायरल होने के बाद नीतेश तोमर ने ट्वीट कर सच्चाई सामने रखी। उन्होंने लिखा, “मैं नितेश सिंह तोमर,कैबिनेट मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह चौधरी जी का PRO हूँ। मेरी फोटो को सचिन हिंदू के नाम से प्रसारित कर मेरी छवि को खराब करने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है। चुनाव के समय ऐसा करने वालों की मैं भत्सर्ना करता हूँ। @Uppolice कृपया ऐसा करने वालो के खिलाफ कार्यवाही करें।”

इसके साथ ही नीतेश ने कई सारे चैनलों की स्क्रीनशॉट भी शेयर की है। इसके मुताबिक, द लल्लनटॉप ने प्रमुखता से सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ नीतेश की तस्वीर को ओवैसी का हमलावर बता कर प्रसारित कर दिया। हालाँकि जैसे ही इसकी सच्चाई सामने आई तो शब्दों से खेलते हुए एक आर्टिकल लिखा और उसके अंत में केवल एक शब्द में माफी माँगी

साभार: नीतेश तोमर

लकीर के फकीर की तरह बिनी किसी रिसर्च के लाइव हिंदुस्तान ने भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ नीतेश तोमर की तस्वीर को सचिन पंडित की इमेज बताकर वायरल कर दिया। और सच्चाई सामने आने के बाद भी अभी तक किसी भी तरह की माफी नहीं माँगी है।

साभार: नीतेश तोमर

इसके अलावा पंकज चतुर्वेदी नाम के यूजर ने भी सीएम योगी के साथ नीतेश तोमर की तस्वीर को सचिन बताकर वायरल किया।

साभार: नीतेश तोमर

इसी तरह का झूठ AIMIM टाइगर फोर्स यूजर ने भी नीतेश की सीएम योगी के साथ तस्वीर को वायरल कर यह सिद्ध करने की कोशिश की कि सचिन पंडित के सीएम योगी समेत बीजेपी के कई नेताओं से संबंध हैं।

साभार: नीतेश तोमर

अपने खिलाफ चलाए जा रहे अभियान और CM योगी को बदनाम करने की साजिश का पर्दाफाश खुद नीतेश सिंह तोमर ने ही कर दिया। हालाँकि, यूपी पुलिस की त्वरित कार्रवाई के बाद ही ओवैसी पर हमला करने वाले दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद तस्वीरें सामने आ गई थीं। फिर भी जानबूझकर सोशल मीडिया और मीडिया के कुछ धड़ों ने फेक न्यूज़ चलाई। ऐसे में अब खुद नितेश के खंडन, कुछ मीडिया समूहों के माफ़ी और उपलब्ध कराए गए सबूतों से ये स्पष्ट हो गया है कि कई मीडिया चैनलों में सचिन पंडित को सीएम योगी और बीजेपी नेताओं का करीबी बताकर प्रसारित किया जा रहा है वो पूरी तरह से झूठ और बेबुनियाद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -