Saturday, April 13, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेककॉन्ग्रेस ने योगी सरकार को घेरने के लिए शेयर किया महिला का वीडियो, यूपी...

कॉन्ग्रेस ने योगी सरकार को घेरने के लिए शेयर किया महिला का वीडियो, यूपी पुलिस पर लगाए झूठे आरोप: जानें क्या है सच

वीडियो के वायरल होते ही सोशल मीडिया पर भ्रामक दावों का दौर भी शुरू हो गया। कॉन्ग्रेस पार्टी से सहानुभूति रखने वाले एक कथित पत्रकार ने यूपी पुलिस पर कटाक्ष करते हुए घटना का वीडियो शेयर किया। पत्रकार देवेश पांडे ने दावा किया कि गुंडों द्वारा महिला को इतनी बुरी तरह पीटा गया कि उसके मुँह से खून निकलने लगा।

हाल ही में इंटरनेट पर उत्तर प्रदेश का एक वीडियो वायरल हुआ। जिसमें एक महिला यूपी पुलिस के अधिकारियों से दो हमलावरों से उसे बचाने की गुहार लगा रही थी। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल वीडियो में महिला, अधिकारियों से चीख-चीखकर आरोपितों को गिरफ्तार करने की माँग कर रही थी। जब पुलिस अधिकारियों में से एक ने उसे बताया कि दोषियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके बावजूद महिला हमलावरों की ओर इशारा करते हुए कहती है कि उन्हें गिरफ्तार करो।

इस मामले में सरकार को घेरने का मुद्दा पाकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने तुरंत योगी सरकार पर हमला बोला और राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाते हुए ट्विटर पर घटना का वीडियो शेयर किया।

वीडियो के वायरल होते ही सोशल मीडिया पर भ्रामक दावों का दौर भी शुरू हो गया। कॉन्ग्रेस पार्टी से सहानुभूति रखने वाले एक कथित पत्रकार ने यूपी पुलिस पर कटाक्ष करते हुए घटना का वीडियो शेयर किया। पत्रकार देवेश पांडे ने दावा किया कि गुंडों द्वारा महिला को इतनी बुरी तरह पीटा गया कि उसके मुँह से खून निकलने लगा।

गौरतलब है कि जिस भ्रामक दावे के साथ कॉन्ग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश सरकार को बदनाम करने के लिए चित्रित करने का प्रयास किया वह असल में उनकी सोच के बिल्कुल विपरीत निकला।

क्या सच में कॉन्ग्रेस पार्टी द्वारा किया गया दावा सच है?

आज तक पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार (जनवरी 22, 2021) देर रात जब महिला ने पुलिस को लखनऊ की सड़कों पर गश्त करते देखा, तो उसने पुलिस अधिकारियों से संपर्क किया और दो लोगों द्वारा मारपीट किए जाने की शिकायत की।

जब पुलिस ने दोनों व्यक्तियों को गिरफ्तार किया और उन्हें पुलिस स्टेशन ले गई, तो महिला अपने पहले के बयान से पीछे हट गई और आरोपितों के खिलाफ दिए गए अपने बयान से मुकर गई। उसने कहा कि गिरफ्तार किए गए शख्स में से एक उसका भाई है और दूसरा उसका पति है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने मामले में दोनों आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की। Police Commissionerate Lucknow ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से जानकारी दी है कि महिला ने तहरीर देने से मना कर दिया है, लेकिन दोनों अभियुक्तों के विरूद्ध निरोधात्मक कार्यवाही की जा रही है ।

पुलिस डीसीपी सेंट्रल ज़ोन सोमेन वर्मा के मुताबि‍क, दो युवक, एक युवती के साथ हज़रतगंज चौराहे पर बवाल कर रहे थे। युवती सड़क पर गिर गई थी और उसके मुँह से खून निकल रहा था। वर्मा ने कहा कि जब महिला से बाद में घटना के बारे में पूछा गया तो वह तो कुछ बता नहीं पा रही थी और गोलमोल जवाब दे रही थी। इस दौरान तीनों नशे की हालत में थे।

पुलिस ने कहा कि महिला बता रही थी कि एक व्यक्ति उसका पति है और दूसरा उसका भाई है। हालाँकि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई थी। पुलिस सभी को थाने लाई और शांति भंग की कार्यवाही करते हुए धारा 151 में दोनों व्यक्तियों का चालान कर दिया और युवती को घर भेज दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘संजय अग्रवाल’ और ‘उदय दास’ बन कर रुके थे मुस्सविर और अब्दुल, NIA ने 10 दिन के लिए रिमांड पर लिया: रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट...

रामेश्वरम कैफे विस्फोट मामले में 42 दिनों की जाँच के बाद राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल से दो आतंकवादियों - मुस्सविर हुसैन शाजिब और अब्दुल मथीन ताहा को गिरफ्तार किया।

सिडनी के मॉल में 6 लोगों को चाकू गोद कर मार डाला: मृतकों में एक महिला और उसका बच्चा भी, पुलिस ने लॉकडाउन लगा...

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी स्थित एक मॉल में एक व्यक्ति ने कई लोगों को चाकू मारकर हत्या कर दी। इस हमले में 6 लोगों की मौत हो गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe