Wednesday, August 10, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेकPM मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को नहीं किया प्रणाम, कैमरे की ओर मोड़...

PM मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को नहीं किया प्रणाम, कैमरे की ओर मोड़ लिया मुँह: वायरल वीडियो का पूरा सच

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अपने सामने आने के पहले से ही पीएम मोदी हाथ जोड़े खड़े रहते हैं। इसके बाद राष्ट्रपति कोविंद पीएम मोदी के पीछे खड़ी एक महिला से कुछ पूछ रहे होते हैं, ठीक उसी वक्त प्रधानमंत्री का ध्यान अपनी दाईं ओर जाता है। इसी फ्रेम को वीडियो में वायरल किया गया।

रामनाथ कोविंद देश के राष्ट्रपति हैं। इस पद पर अब उनके चंद घंटे बचे हैं। संसद भवन के सेंट्रल हॉल में कल यानी शनिवार (23 जुलाई 2022) को उनके सम्मान में विदाई समारोह था। पीएम मोदी से लेकर पूरी संसद ने उनको विदाई दी। विदाई भाषण में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नेताओं को दलगत राजनीति से ऊपर उठने को कहा। कॉन्ग्रेस, AAP और इनके जैसे टूटपूँजिए नेता शायद समझ नहीं पाए इस बात को। जिस इंसान को सम्मान के साथ विदा करना चाहिए था, उन्हीं के नाम पर राजनीति शुरू कर दी।

एक वीडियो के कटे हुए हिस्से को शेयर करके वायरल किया जा रहा है। यह संसद भवन के सेंट्रल हॉल में दिए गए विदाई समारोह का ही वीडियो है। अंतर बस इतना है कि वीडियो पूरा नहीं है। वीडियो इतना छोटा है, जितने से राजनीतिक गंदगी फैलाई जा सके। पहले वीडियो देखिए। साथ ही यह भी देखिए कि वीडियो को वायरल करने वाले कौन हैं, किस पार्टी से हैं।

वीडियो देख कर किसी भी आम इंसान को लगेगा कि PM मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सही विदाई नहीं दी। प्रणाम का उत्तर प्रणाम से नहीं दिया। कॉन्ग्रेस, AAP और इनके जैसे टूटपूँजिए पार्टी के साथ-साथ इनके चमचे नेताओं ने जो चाहा, उसमें बहुत हद तक सफल भी हुए।

सच की गति धीमी हो सकती है लेकिन वो चलेगा झूठ से 2 कदम आगे ही। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की विदाई समारोह का अब पूरा वीडियो देखिए। दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। समय कम हो तो 55 सेकेंड से आगे देखना शुरू कीजिए, इसके अगले 10-15 सेकेंड में ही पूरा मामला साफ हो जाएगा।

वीडियो में स्पष्ट देख सकते हैं कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अपने सामने आने के पहले से ही पीएम मोदी हाथ जोड़े खड़े रहते हैं। इसके बाद राष्ट्रपति कोविंद पीएम मोदी के पीछे खड़ी एक महिला से कुछ पूछ रहे होते हैं, ठीक उसी वक्त प्रधानमंत्री का ध्यान अपनी दाईं ओर जाता है। इसी फ्रेम को वीडियो में वायरल किया गया।

राजनीति का जो पाठ (दलगत राजनीति से ऊपर उठना, राष्ट्रहित में काम करना) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पढ़ाना चाहे, उसको समझते हुए शायद ही कॉन्ग्रेसी राहुल गाँधी या उनकी मम्मी सोनिया गाँधी से लेकर AAP वाले केजरीवाल इस ओछी हरकत के लिए माफी माँगें। भाजपा या पीएम मोदी से घृणा करने की ऐसे लोगों की मानसिकता देश से घृणा करने के लेवल तक पहुँच गई है।

फैक्ट चेक

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को प्रधानमंत्री ने सम्मान के साथ प्रणाम किया। विदाई समारोह की गरिमा को समारोह में भी बरकरार रखा और उसके बाद भी। राष्ट्रपति के नाम पर अगर किसी ने सम्मान के बजाय कीचड़ उछाला है तो वो कॉन्ग्रेस, AAP और इनके जैसे टूटपूँजिए पार्टी के लोग हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस पालघर में पीट-पीटकर हुई थी साधुओं की हत्या, वहाँ अब ST महिला के घर में घुसे ईसाई मिशनरी के एजेंट: धर्मांतरण का बना...

महाराष्ट्र के पालघर में ईसाई मिशनरी के एजेंटों ने एक वनवासी महिला के घर में घुस कर उसके ऊपर धर्मांतरण का दबाव बनाया। जब वो नहीं मानी तो इन लोगों ने उसे धमकियाँ दीं।

‘पहली कैबिनेट बैठक में ही देंगे 10 लाख नौकरियाँ’: तेजस्वी यादव को याद दिलाया वादा तो किया टाल-मटोल, बेरोजगारी पर नीतीश कुमार को घेरते...

तेजस्वी यादव ने सत्ता में आने पर 10 लाख नौकरियों का वादा किया था, लेकिन अब इस सम्बन्ध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,652FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe