Saturday, July 13, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकऑफिस में हर दिन 12 घंटे करना होगा काम, बैंक खाते में सैलरी आएगी...

ऑफिस में हर दिन 12 घंटे करना होगा काम, बैंक खाते में सैलरी आएगी कम… लेकिन 3 दिन मिलेगा आराम: जानें नए बजट के दावे की सच्चाई

वायरल पोस्ट के साथ दावा है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश होने वाले बजट में कई बदलाव कर सकती हैं। इन्हीं बदलावों में एक बदलाव ये भी होगा कि जॉब पर जाने वाले लोगों को जहाँ अब तक सिर्फ 2 दिन का वीक ऑफ मिलता था, उन्हें 1 जुलाई के बाद से हफ्ते में 3 दिन का ऑफ मिलेगा।

केंद्र सरकार द्वारा 1 फरवरी 2024 को पेश किए जाने वाले बजट से पहले सोशल मीडिया पर एक खबर फैली है जिसमें कहा गया है कि इस बार सरकार 2 वीक ऑफ का ट्रेंड खत्म करके, हफ्ते में 3 दिन ऑफ देने का नियम लेकर आने वाली है।

इस पोस्ट के साथ दावा है कि केंद्रीय वित्तीय मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश होने वाले बजट में कई बदलाव कर सकती हैं। इन्हीं बदलावों में एक बदलाव ये भी होगा कि जॉब पर जाने वाले लोगों को जहाँ अब तक सिर्फ 2 दिन का वीक ऑफ मिलता था, उन्हें 1 जुलाई के बाद से हफ्ते में 3 दिन का ऑफ मिलेगा।

तस्वीर साभार: TOI

इसके साथ इसमें दावा है कि कर्मचारियों को इस पॉलिसी के तहत छुट्टी के लिए 10-12 घंटे प्रतिदिन काम करना होगा। इसके अलावा हो सकता पैसा जो हाथ में मिलेगा वो शायद कम हो लेकिन पीएफ बढ़ा दिया जाएगा। इस पोस्ट के साथ दावा है कि मोदी सरकार लेबर लॉ रेगुलेशन के तहत इसे लागू करने की सोच रही है।

क्या है 3 दिन छुट्टी मिलने का सच

अब बता दें कि ये पूरा दावा सोशल मीडिया पर जो फैलाया जा रहा पूर्णत: गलत है। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के फैक्ट चेक अकॉउंट ने इस दावे का फैक्ट चेक किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही इस तरह की जानकारी बिलकुल झूठी है। सरकार बिलकुल हफ्ते में 3 दिन छुट्टी देने की प्लानिंग नहीं कर रही है।

पीआईबी ने स्पष्ट तौर पर लिखा है कि एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। केंद्रीय वित्तीय मंत्रीय निर्मला सीतामण ने अगले बजट में 3 दिन छुट्टी की पॉलिसी पर कोई विचार नहीं किया। मतलब वायरल दावा सरासर गलत है। ऐसा कोई प्रस्ताव वित्तीय मंत्री द्वारा नहीं लाया गया है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है। इससे पहले भी इस तरह की अफवाहें फैलाई जाती रही हैं। दिसंबर में भी इस तरह की खबर आई थी और अब बजट से पहले भी इसे प्रासंगिक बनाकर फैलाने का प्रयास हुआ है, लेकिन इस पर सरकार ने इस पर खुद संज्ञान ले लिया और झूठ की पोल खोल दी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -