Tuesday, October 19, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकइलाज के लिए अमित शाह के न्यूयॉर्क जाने, उनके बीमार होने के वायरल दावों...

इलाज के लिए अमित शाह के न्यूयॉर्क जाने, उनके बीमार होने के वायरल दावों की क्या है सच्चाई, पढ़ें पूरी डिटेल

भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह बिहार विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी के काम में भी सक्रिय रूप से शामिल थे। वह पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के निवास पर आयोजित आगामी बिहार चुनावों के बारे में एक महत्वपूर्ण पार्टी बैठक में उपस्थित थे। बैठक में नव निर्वाचित बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस भी उपस्थित थे।

सोशल मीडिया व्हाट्सएप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया गया है कि स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की वजह से गृह मंत्री अमित शाह को इमरजेंसी बेसिस पर संयुक्त राज्य अमेरिका शिफ्ट किया गया है। इसके साथ ही मैसेज में ये भी कहा गया है कि उन्हें एयर-एम्बुलेंस के माध्यम से न्यूयॉर्क भेजा गया, क्योंकि वह कैंसर और एवियन सारकोमा जैसी कई बीमारियों से पीड़ित हैं। ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इसी तरह का पोस्ट किया।

कुछ यूजर्स ने तो यहाँ तक दावा कर दिया कि अमित शाह की ‘गंभीर स्थिति’ के कारण केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को गृह मंत्रालय का पोर्टफोलियो दिया जा सकता है।

हालाँकि, यह दावे पूरी तरह से निराधार और तथ्यहीन हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि अगर गृह मंत्री को इलाज के लिए यूएसए शिफ्ट किया जाता, तो सरकार द्वारा इसकी घोषणा की जाती। पार्टी के वरिष्ठ सदस्य भी उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए जानकारी देते, लेकिन उसके संबंध में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है। केवल कुछ ट्विटर यूजर्स ने व्हाट्सएप ‘न्यूज’ का हवाला देते हुए पोस्ट किया है।

अमित शाह अपने काम में व्यस्त

सोशल मीडिया पर अमित शाह के स्वास्थ्य को लेकर किए जा रहे दावों के विपरीत उन्हें आज (सितंबर 30, 2020) अपने कर्तव्यों का पालन करते देखा गया। आज दोपहर में, अमित शाह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया कि उन्होंने गाँधीनगर लोकसभा क्षेत्र से 200 कुम्हार परिवारों को ‘कुम्हार सशक्तिकरण योजना’ के अंतर्गत विद्युत चालित चाक वितरित करने के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। उन्होंने उस घटना की तस्वीरें पोस्ट की थीं जिसमें उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए शिरकत की थी।

फिर बाद में दिन में, गृह मंत्री ने स्वदेशी विकसित रेंज ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए DRDO का भी अभिवादन किया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह बिहार विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी के काम में भी सक्रिय रूप से शामिल थे। वह पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के निवास पर आयोजित आगामी बिहार चुनावों के बारे में एक महत्वपूर्ण पार्टी बैठक में उपस्थित थे। बैठक में नव निर्वाचित बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस भी उपस्थित थे।

इसलिए, सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह को इलाज के लिए न्यूयॉर्क शिफ्ट करने की बात पूरी तरह से गलत है। इसके इतर, उनका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक है, क्योंकि उन्होंने आज मंत्रालय और पार्टी दोनों ही कामों में हिस्सा लिया है। 

यहाँ यह भी गौर करने वाली बात है कि एवियन सारकोमा बीमारी मनुष्यों को प्रभावित नहीं करती है। यह रोग मुर्गियों को संक्रमित करता है, जो एवियन सारकोमा ल्यूकोसिस वायरस के कारण होता है। इस वायरस की वजह से मुर्गियों को कैंसर होता है, लेकिन इस वायरस से इंसानों के संक्रमित होने का कोई सबूत नहीं है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिंदी राष्ट्रभाषा है, थोड़ी-बहुत सबको आनी चाहिए’: ये कहने पर Zomato ने कर्मचारी को कंपनी से निकाला, तमिल ग्राहक ने की थी शिकायत

फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato ने अपने एक कस्टमर केयर कर्मचारी को फायर कर दिया, क्योंकि उसने कहा था कि थोड़ी-बहुत हिंदी सबको आनी चाहिए।

बाप कम्युनिस्ट हो, सत्ता में वामपंथी हों तो प्यार न करें, प्यार हो जाए तो माँ न बने: अपने ही बच्चे के लिए भटक...

अजीत और अनुपमा को एक-दूसरे से प्यार हुआ और एक बच्चे का जन्म हुआ। कम्युनिस्ट पिता को ये रिश्ता और बच्चा दोनों नागवार थे। बच्चा इस जोड़े से छीन लिया गया...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe