सोनिया गाँधी, मनमोहन सिंह ने तिहाड़ जेल में चिदंबरम से की मुलाकात, स्कोर गेनिंग का एक और प्रयास

INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंह ने चिदंबरम से जेल संख्या सात के मुलाक़ात कक्ष में मुलाक़ात की।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से मिलने के लिए कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी और पूर्व प्राधनमंत्री डॉ मनमोहन सिंह तिहाड़ जेल पहुँच गए हैं। INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंह ने चिदंबरम से जेल संख्या सात के मुलाक़ात कक्ष में मुलाक़ात की।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मनमोहन सोनिया के इस मुलाकात का उद्देश्य यह दिखाना है कि पार्टी पूरी तरह चिदंबरम के साथ है। इससे कहीं न कहीं राजनीतिक हलकों में चिदंबरम के कारनामों में कॉन्ग्रेस के पूरी तरह समर्थन के रूप में भी देखा जा रहा है। कुल मिलाकर यह पार्टी के आला नेताओं का स्कोर गेनिंग का एक प्रयास है। क्योंकि पार्टी लगातार इसे ऐसा दिखाना चाहती है जैसे यह भयंकर भ्रष्टाचार के कारण नहीं बल्कि राजनीतिक दुश्मनी की वजह से उठाया गया कदम है। इसके अलावा, चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी तिहाड़ में अपने पिता से मिलने पहुँचे।

पूर्व वित्त मंत्री पर आरोप है कि उन्होंने पद पर रहते हुए साल 2007 में रिश्वत लेकर INX मीडिया को 305 करोड़ रुपए लेने के लिए विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड से मंजूरी दिलाई थी। इस मामले में CBI ने पिछले साल 15 मई को FIR दर्ज की थी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बता दें कि पिछले दिनों सुनवाई के दौरान पी चिदंबरम को कोर्ट से एक बड़ा झटका लगा था। कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान चिदंबरम की न्यायिक हिरासत को 3 अक्टूबर तक बढ़ा दिया था। उनकी ज़मानत याचिका पर आज हाईकोर्ट में सुनवाई होगी।

चिदंबरम की पैरवी कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ाने के CBI के अनुरोध पर अपना विरोध जताया था। कपिल सिब्बल ने अदालत से अनुरोध किया था कि चिदम्बरम को न्यायिक हिरासत के दौरान तिहाड़ जेल में रहते हुए समय-समय पर मेडिकल जाँच तथा पर्याप्त मात्रा में पूरक आहार उपलब्ध कराया जाए।

सिब्बल ने कहा कि चिदंबरम को कई बीमारियाँ हैं और हिरासत में रहने के कारण उनका वज़न भी कम हुआ है। बता दें कि कॉन्ग्रेस नेता पाँच सितंबर से न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद हैं।

ख़बर के अनुसार, पी चिदंबरम की तरफ़ से पैरवी करने वाले दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि चिदंबरम पहले से ही 14 दिन की पुलिस हिरासत और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रह चुके हैं। उन्होंने चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढ़ाए जाने का विरोध किया।

इससे पहले, कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद और अहमद पटेल पिछले हफ्ते तिहाड़ जेल में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से मुलाकात कर चुके हैं। इस दौरान उनके साथ चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी मौजूद थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आधे घंटे तक चली बैठक के दौरान नेताओं ने मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चिदंबरम से चर्चा की। इस दौरान कश्मीर, आगामी चुनाव और देश में आर्थिक स्थिति भी चर्चा का विषय रही।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शी जिनपिंग
शी जिनपिंग का मानना है कि इस्लामिक कट्टरता के आगोश में आते ही व्यक्ति होश खो बैठता है। चाहे वह स्त्री हो या पुरुष। ऐसे लोग पालक झपकते किसी की हत्या कर सकते हैं। शी के अनुसार विकास इस समस्या का समाधान नहीं है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,322फैंसलाइक करें
22,932फॉलोवर्सफॉलो करें
120,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: