Monday, April 15, 2024
Homeहास्य-व्यंग्य-कटाक्षबिरयानी बैन, सख्त लौंडे बनेंगे अब PAK खिलाड़ी: कोहली के चिप्स से आया मिस्बाह...

बिरयानी बैन, सख्त लौंडे बनेंगे अब PAK खिलाड़ी: कोहली के चिप्स से आया मिस्बाह को आइ़डिया

मिस्बाह के इस फैसले के बाद पाकिस्तान टीम में हलचल की खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि टीम के होश गुम हैं और उन्हें अपने पूर्व कप्तान और वर्तमान कोच में एक साथ मोहम्मद शाह तुगलक नजर आ रहा है।

वर्ल्ड कप को बीते महीनों हो चुके हैं, लेकिन पाक टीम के कप्तान सरफराज अहमद की वो उबासी और अन्य ख़िलाड़ियों की खराब फिल्डिंग अब तक पाकिस्तान के सीने में दुख का कोलेस्ट्रोल बढ़ा रही है। हर ओर से मिली निंदा और सोशल मीडिया पर मीम्स की बाढ़ ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम को जिस तरह जख्मी किया था, उससे ही कयास लगाए जा रहे थे कि अब वो सख्त लौंडे की पॉलिसी अपनाकर खुद को दोबारा खड़ा करेंगे। लेकिन इसके लिए जरूरी था कि वो रात को बर्गर पार्टी करने से बचें और खुद की टीशर्ट के साइज को कम करने पर ध्यान लगाएँ।

हालाँकि, इस असंभव कार्य को संभव बनाने के लिए टीम के पूर्व कोच मिकी आर्थर ने अथाह कोशिशें कीं, लेकिन अफसोस वो नाकाम रहे। सूत्रों की मानें तो मिकी ने पहले बहुत सोचा कि वो इस टीम को सही दिशा पर कैसे लाएँ और कैसे एक मजबूत टीम बनाएँ। तभी उन्हें अचानक महसूस हुआ कि जिस टीम में वो संभावनाएँ तलाश रहे हैं उनके बड़े बुजुर्ग तो इमरान खान जैसे राजनेता, शाहिद अफरीदी जैसे लेखक और जावेद मियानंद जैसे पूर्व क्रिकेटर हैं, जो भारत को बल्ले से उड़ाने की बात करते हैं। जिसका मतलब है…??? इनका कुछ नहीं हो सकता, इनमें वो जीन्स ही नहीं है। सूत्रों के मुताबिक इसी ख्याल के बाद उन्होंने तुरंत टीम को अलविदा कह दिया और एक गहरी साँस ली।

अब टीम की जिम्मेदारी आई नए हेड कोच मिस्बाह-उल-हक पर। पहले तो मिस्बाह इस बात पर उलझे रहे कि उन्हें पूर्व कोच मिकी आर्थर जितनी सैलरी ही चाहिए, लेकिन जैसे ही उन्होंने अपने मुल्क में नान-टिमाटर पर हुई बैठक के बारे में सुना, उन्होंने खुद की इच्छाओं को एक पल के लिए समझाते हुए पीसीबी से सहमति बना ली। इधर पीसीबी ने भी अपनी चालाकी दिखाते हुए मिस्बाह के आगे शर्त रख दी कि पहले वो पाकिस्तान को भारतीय टीम जैसा मजबूत बनाएँ तो वो इस माँग पर विचार करेंगे, जिसके बाद तय हो गया कि मिस्बाह की माँग अनिश्चितकाल तक के लिए इंतजार के झोले में टँग गई है।

अब यहाँ, मिकी आर्थर जितनी सैलरी पाने के लिए मिस्बाह दिन रात अपने प्रयासों में जुट गए। वो हर लाइन और हर प्वाइंट पर अपनी गणित लगाते रहे, लेकिन उन्हें कोई हल नहीं मिला। 10 दिन के अंदर टीम की हालत देखकर उनकी हालत इतनी पस्त हो गई कि उन्हें अवसाद घेरने लगा, तभी उन्हें यूट्यूब स्क्रॉल करते-करते विराट कोहली की एक चिप्स खाती वीडियो दिखाई दी, इस वीडियो में विराट अपने नाराज प्रशंसकों को बताते नजर आ रहे थे कि वो जो चिप्स खाते हैं, वो सिर्फ़ चिप्स नहीं है बल्कि मल्टीग्रेन चिप्स है, जो बेक्ड होती, तली हुई नहीं। इसलिए इससे उनकी फिटनेस पर कोई नुकसान नहीं पड़ेगा, उनके फैन बेफिक्र रहें।

विराट की ये वीडियो भले ही उनके प्रंशसकों को समझाने के काम आई हो या न आई हो, लेकिन इस वीडियो ने मिस्बाह को एक मूलमंत्र दे दिया कि तेल को कहकर ‘नो’ पाक टीम को कहें ‘गेट सेट गो’।

उन्हें सरफराज की रनिंग से लेकर उनकी कीपिंग तक का एक-एक क्षण याद आने लगा, उन्हें अहसास हो गया गलती कहाँ हो रही है। जीत की छिपी नस को उभारने की आड़ में अपनी सैलरी मिकी आर्थर जितनी करवाने के लिए उन्होंने एक कड़ा फैसला लिया और घोषणा कर दी कि वो अपने कप्तान को ही नहीं पूरी टीम को विराट जैसा बनाएँगे। लेकिन इसके लिए टीम को अब कोई तेल वाला खाना नहीं मिलेगा। इस सूची में भी बिरयानी भी शामिल होगी।

मिस्बाह के इस फैसले के बाद पाकिस्तान टीम में हलचल की खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि टीम के होश गुम हैं और उन्हें अपने पूर्व कप्तान और वर्तमान कोच में एक साथ मोहम्मद शाह तुगलक नजर आ रहा है। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि आखिर मिस्बाह के इरादे क्या हैं, वो ये सब क्यों कर रहे हैं और उन्हें इसके लिए किससे प्रेरणा मिली है? बताया जा रहा है कि भले ही टीम इस फैसले का खुलकर विरोध नहीं कर पा रही है, लेकिन उनके भीतर के स्वर मिस्बाह के ख़िलाफ़ ठीक वैसे ही आग बबूला हो रहे हैं, जैसे आर्टिकल 370 पर उनके मुल्क के नेताओं के स्वर!

सूत्रों की मानें तो सभी पाक ख़िलाड़ी यूट्यूब पर इस समय विराट का वो ऐड अलग-अलग कीवर्ड्स डालकर खोजने में लगे हुए हैं, जिसमें मैच जीतने के लिए वो अपनी टीम को जोमेटो से बिरयानी मँगाकर ख़िलाते नजर आ रहे हैं और खुद भी एक वीडियो में चाव से कुरकुरे आदि खा रहे हैं। क्योंकि इन वीडियोज के मिलने के बाद उम्मीद है कि पाकिस्तान टीम को राहत आएगी, और हो सकता है विराट को देखते हुए मिस्बाह बिरयानी के लिए नरमी दिखाएँगे और टीम को सख्त बनाने के प्रयासों में वो कोई नया रास्ता खोजेंगे।


Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

संदेशखाली में उमड़ा भगवा सैलाब, ‘जय भवानी-जय शिवाजी’ के नारों से गूँजा 4 किमी लंबा जुलूस: लोग बोले- बंगाल में कमल खिलना तय

बंगाल में पोइला बैशाख के मौके पर संदेशखाली में भगवा की लहर देखी गई। सैंकड़ों भाजपा समर्थक सड़कों पर सुवेंदु अधिकारी संग आए और 4 किमी तक जुलूस निकाला गया।

पालघर में संतों को ‘भीड़’ ने पीट-पीटकर मार डाला, सोते रहे उद्धव ठाकरे: शिवसैनिक ने ही किया खुलासा, कहा- राहुल गाँधी के कहने पर...

शिव सेना नेता ने कहा है कि उद्धव ठाकरे ने पालघर में हिन्दू साधुओं की भीड़ हत्या के मामले में सीबीआई जाँच राहुल गाँधी के दबाव में नहीं करवाई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe