Thursday, May 23, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृति4 दिनों में ही पार हुआ 75000 श्रद्धालुओं का आँकड़ा: इस बार रिकॉर्ड संख्या...

4 दिनों में ही पार हुआ 75000 श्रद्धालुओं का आँकड़ा: इस बार रिकॉर्ड संख्या में लोगों ने किए बाबा केदार के दर्शन, कोरोना के बाद चमका पर्यटन भी

इस बार केदारनाथ धाम में पहले दिन 23,512 दूसरे दिन 18,212 और तीसरे दिन 17,749 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए, जबकि चौथे दिन यानी सोमवार दोपहर तक 16 हजार से अधिक तीर्थयात्री केदारनाथ धाम की यात्रा पर निकल गए थे।

उत्तराखंड (Uttarakhand) में स्थित केदारनाथ मंदिर में इस बार ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन करने पहुँच रहे हैं। यही कारण है कि इस बार केदारनाथ यात्रा (Kedarnath Yatra) ने पिछले सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। बताया जा रहा है कि पिछले चार दिनों में अब तक 75 हजार के करीब तीर्थयात्रियों ने बाबा केदार के दर्शन कर लिए हैं। पिछले साल की तुलना में यह कहीं अधिक है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बार हजारों की संख्या में हर दिन भोले के दरबार में भक्त पहुँच रहे हैं। वर्ष 2019 की यात्रा में जहाँ पहले दिन 9000 व दूसरे दिन 7000 हजार और तीसरे दिन 8000 के करीब श्रद्धालु पहुँचे थे। वहीं इस बार केदारनाथ धाम में पहले दिन 23,512 दूसरे दिन 18,212 और तीसरे दिन 17,749 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए, जबकि चौथे दिन यानी सोमवार दोपहर तक 16 हजार से अधिक तीर्थयात्री केदारनाथ धाम की यात्रा पर निकल गए थे।

इस साल 6 मई को सुबह 6 बजकर 25 मिनट पर केदारनाथ धाम के कपाट खुले थे। इन चार दिनों में लगभग 75 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन कर लिए हैं। हर दिन श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देख यात्रा पड़ावों में व्यवसाय कर रहे व्यापारी भी काफी खुश नजर आ रहे हैं। केदारघाटी की 60 प्रतिशत आबादी केदारनाथ यात्रा पर निर्भर रहती है। पिछले दो साल तक कोरोना महामारी (Corona) के कारण चार धाम यात्रा पर बुरा असर पड़ा है।

बता दें कि चार धामों के कपाट शीतकालीन अवकाश में बंद कर दिए जाते हैं और इसके बाद अप्रैल-मई में भक्तों के लिए खोल दिए जाते हैं। पिछले दो सालों से कोरोना महामारी के कारण मंदिर में यात्रियों के आने पर रोक लगाई गई ​थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -