Thursday, July 18, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनपहले आदिपुरुष का रिलीज डेट बदला, अब बदलेगा रावण का लुक: सैफ अली खान...

पहले आदिपुरुष का रिलीज डेट बदला, अब बदलेगा रावण का लुक: सैफ अली खान के ‘खिलजी’ दिखने को लेकर था विवाद, साफ होगी दाढ़ी

रिपोर्ट के अनुसार फिल्म मेकर्स ने सैफ के लुक में बदलाव का फैसला लिया। VFX की मदद से उनकी दाढ़ी हटाई जाएगी। इन बदलावों पर करीब 30 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

अक्टूबर 2021 में फिल्म आदिपुरुष (Adipurush) का टीजर जारी हुआ था। इसके बाद फिल्म किरदारों के गलत चित्रण को लेकर विवादों में आ गया। इसे देखते हुए मेकर्स ने पहले फिल्म की रिलीज डेट बढ़ाकर 16 जून 2023 कर दी। अब खबर आ रही है कि किरदारों के लुक में भी बदलाव किया जाएगा। खासकर रावण के लुक में।

फिल्म में रावण का किरदार (Saif Ali Khan) ने निभाया है। उनके लुक को लेकर सबसे ज्यादा विवाद है। टीजर में सैफ को देखने के बाद लोगों ने कहा था कि वे रावण की बजाए खिलजी दिख रहे हैं। कुछ लोगों ने उनका लुक तैमूर, औरंगजेब जैसे इस्लामी आक्रांताओं की तरह भी बताया था।

रिपोर्ट के अनुसार फिल्म मेकर्स ने सैफ के लुक में बदलाव का फैसला लिया। VFX की मदद से उनकी दाढ़ी हटाई जाएगी। वैसे आधिकारिक तौर पर इसको लेकर कुछ नहीं कहा गया है। लेकिन रिपोर्ट के अनुसार इन बदलावों पर करीब 30 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

टीजर जारी होने के बाद जब रावण के लुक पर विवाद उठा था तो मनोज मुंतशिर ने उसका बचाव किया था। ‘आदिपुरुष’ के साथ बतौर डायलॉग राइटर और गीतकार जुड़े मुंतशिर ने कहा था, “हर युग की बुराई का अपना चेहरा होता है। अलाउद्दीन खिलजी इस दौर की बुराई का चेहरा है। हमने ‘आदिपुरुष’ के रावण को जानबूझकर ऐसा नहीं बनाया है। लेकिन वो खिलजी जैसा दिखता भी है तो इसमें कोई बुराई नहीं है।”

मालूम हो कि प्रभास (Prabhas) और कृति सेनन (Kriti Sanon) स्टारर ‘आदिपुरुष’ का 1.46 मिनट का टीजर 2 अक्टूबर 2022 को अयोध्या में रिलीज किया गया था। राम मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने 5 अक्टूबर 2022 को कहा था कि भगवान राम, हनुमान और रावण का चित्रण महाकाव्य के अनुसार नहीं है। ये फिल्म उनकी गरिमा के खिलाफ है। फिल्म बनाना कोई अपराध नहीं है, लेकिन उन्हें सुर्खियों में लाने के लिए जानबूझकर विवाद पैदा करने के लिए नहीं बनाया जाना चाहिए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -