Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनननदी सन भउजी सनकीः 'ब्रह्मास्त्र' की रिलीज से पहले आलिया भट्ट ने दिखाई करीना...

ननदी सन भउजी सनकीः ‘ब्रह्मास्त्र’ की रिलीज से पहले आलिया भट्ट ने दिखाई करीना कपूर वाली अकड़, कहा- मैं पसंद नहीं तो मेरी फिल्म मत देखो

आलिया भट्ट ने कहा कि उन्हें लोगों की आलोचना का बुरा ज़रूर लगता है, लेकिन जिस काम के लिए उन्हें सम्मान और प्यार मिलता है, उसकी ये एक छोटी सी कीमत है।

फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ की रिलीज से पहले अभिनेत्री आलिया भट्ट ने करीना कपूर वाली अकड़ दिखाई है। बता दें कि फरवरी 2022 में रिलीज हुई आलिया भट्ट की ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ ने दुनिया भर में 200 करोड़ रुपए से अधिक का कारोबार किया था, जिसके बाद से वो सातवें आसमान पर हैं। हाल ही में आई ‘ डार्लिंग्स’ को Netflix ने रिलीज किया। ‘ब्रह्मास्त्र’ में वो अपने पति रणबीर कपूर के ऑपोजिट दिखेंगी। उन्होंने हाल ही में अपनी प्रेग्नेंसी की भी घोषणा की है।

वैसे तो सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से ही बॉलीवुड में नेपोटिज्म के बोलबाले को लेकर आलोचना जोर-शोर से हो रही है, लेकिन उससे पहले भी ये बातें उठती रहती थीं। करण जौहर ने ही आलिया भट्ट को 2011 में ‘स्टूडेंट्स ऑफ द ईयर’ से लॉन्च किया था, जो डेविड धवन के बेटे वरुण की भी डेब्यू थी। आलिया खुद फिल्म निर्देशक महेश भट्ट की बेटी हैं। उनके पिता ने उन्हें लेकर ‘सड़क 2 (2020)’ बनाई भी थी, जो बुरी तरह फ्लॉप रही।

अब नेपोटिज्म के कारण बॉलीवुड को निशाना बनाए जाने को लेकर आलिया भट्ट ने कहा है कि उनका मानना है कि इस चर्चा को वो एक ही चीज के माध्यम से विराम से सकती हैं और वो है उनकी फ़िल्में। उन्होंने कहा कि प्रतिक्रिया न देने पर उन्हें बुरा नहीं लगता है। ‘Mid Day’ से बात करते हुए आलिया भट्ट ने कहा कि उन्हें लोगों की आलोचना का बुरा ज़रूर लगता है, लेकिन जिस काम के लिए उन्हें सम्मान और प्यार मिलता है, उसकी ये एक छोटी सी कीमत है।

आलिया भट्ट ने कहा, “मैं बोल-बोल कर खुद का बचाव नहीं कर सकती हूँ। और आप अगर मुझे पसंद नहीं करते हैं, तो मेरी फ़िल्में मत देखो। मैं इसमें कुछ नहीं कर सकती। लोगों को कुछ न कुछ कहना रहता है। मैंने ‘गंगूबाई’ नामक एक हिट फिल्म दी। जीत किसकी हुई? मेरी। कम से कम तब तक, जब तक मेरी कोई फिल्म फ्लॉप नहीं हो जाती। मैं अपनी फिल्मों के जरिए ये साबित करूँगी कि मैं जहाँ हूँ, उसके योग्य हूँ। आखिर ये बेवकूफाना चर्चा कहाँ से आई? इसका कोई कारण ही नहीं है।”

याद दिला दें कि करीना कपूर ने भी कुछ ऐसा ही बयान दिया था, लेकिन ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज के बाद जब फिल्म फ्लॉप होनी शुरू हुई तो उनके सुर बदल गए थे। फिल्म के प्रमोशन के दौरान करीना कपूर खान ने कहा था कि अगर फिल्म अच्छी होगी तो इसे अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी और ये सभी उम्मीदों के पार चली जाएगी। उन्होंने कहा था कि बॉयकाट जैसी चीजों का अच्छी फिल्म पर असर नहीं होता और वो इसे गंभीरता से भी नहीं लेतीं। एक अन्य इंटरव्यू में करीना कहा था कि विवादों पर सफाई देना वो जरूरी नहीं समझतीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -