Saturday, October 1, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनबेचारी आज तक सब फ्री फंड में कर रही थी: स्वरा भास्कर पर कंगना...

बेचारी आज तक सब फ्री फंड में कर रही थी: स्वरा भास्कर पर कंगना रनौत का तंज

स्वरा भास्कर ने इन आरोपों को फर्जी बताया है। उन्होंने कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दीपिका को 5 करोड़ मिलने का दावा सिर्फ लोगों को भ्रमित करने के लिए है। यह आरोप अश्लील और अपमानजनक है।

रॉ के एक पूर्व अधिकारी ने खुलासा किया था कि फिल्म ‘छपाक’ के प्रमोशन के दौरान JNU प्रोटेस्ट में नजर आने वाली दीपिका पादुकोण को पाकिस्तानी एजेंट अनिल मुसर्रत से करीब 5 करोड़ रुपए मिले थे। इस खुलासे के बाद राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री कंगना रनौत ने वामपंथी गिरोह की सदस्य स्वरा भास्कर पर कटाक्ष किया है।

@KanganaTeam ने ट्वीट कर स्वरा पर व्यंग्य करते हुए कहा है कि वह यह जानकर चौक गई होंगी की दीपिका पादुकोण को प्रदर्शन में भाग लेने के लिए पैसे मिले, जबकि उसने इतने प्रदर्शन आज तक फ्री में किए हैं।

ट्वीट में कहा गया है, “बेचारी ⁦स्वरा तो आज तक सब फ़्रीफ़ंड में कर रही थी। उसे यक़ीन नहीं हो पा रहा कि दीपिका को JNU जाने के पैसे मिलते हैं।”

बता दें, यह ट्वीट टीम कंगना रनौत नाम के एक ट्विटर हैंडल से किया गया है, जो फिलहाल वेरिफाइड नहीं है।लेकिन माना जाता है कि यह कंगना का आधिकारिक एकाउंट है।

कंगना ने स्वरा भास्कर पर यह ट्वीट तब किया जब हाल ही रॉ के पूर्व अधिकारी एनके सूद के चौंकाने वाला खुलासा किया था। सूद ने आरोप लगाया था कि दीपिका पादुकोण और पाकिस्तान के आईएसआई एजेंट अनिल मुसर्रत का आपस में कनेक्शन है।

पूर्व खुफिया अधिकारी ने दावा किया था कि दीपिका पादुकोण को जेएनयू का दौरा करने से पहले दो फोन आए थे। एक कॉल कराची से थी और दूसरी दुबई से। उन्होंने कहा कि मुसर्रत या उसके किसी साथी ने पादुकोण से JNU जाने का आग्रह किया था। इसके लिए उन्हें 5 करोड़ रुपए भी दिए थे।

वहीं इस खुलासे के बाद उस विरोध-प्रदर्शन में शामिल रही स्वरा भास्कर ने इन आरोपों को फर्जी बताया है। उन्होंने कहा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दीपिका को 5 करोड़ मिलने का दावा सिर्फ लोगों को भ्रमित करने के लिए है। यह आरोप अश्लील और अपमानजनक है।

गौरतलब है कि साल 2020 की शुरुआत में जेएनयू में हुए प्रदर्शन में जाकर दीपिका ने अन्य प्रदर्शनकारियों के साथ उसमें भाग नहीं लिया। लेकिन वहाँ जाकर खड़ी जरूर हुई थीं। इसके बाद दीपिका पर कई तरह के सवाल उठे थे।

बता दें दीपिका ने अपनी फिल्म ‘छपाक’ के रिलीज से ठीक पहले ये स्टंट किया था। वे जेएनयू में छात्रों पर हुई हिंसा के विरोध-प्रदर्शन में पहुँची। लेकिन यहाँ उन्होंने रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के दौरान पीड़ित बच्चों से मिलकर पूरा मामला जानने-समझने की बजाए, जेएनयू अध्यक्ष आइसी घोष से और उनके दोस्तों से मिलना उचित समझा।

वहीं इस पीआर स्टंट के लिए दीपिका को सीमा पार से भी समर्थन मिला था। पाकिस्तान आर्मी के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने खुद ट्वीट कर दीपिका के जेएनयू जाने पर प्रशंसा की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी को शक्ति मिली तो देश में सनातन का राज हो जाएगा…’: कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद पर मल्लिकार्जुन खड़गे का नामांकन, वायरल होने लगा पुराना...

मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने के कुछ घंटों बाद उनका पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

भारत जोड़ो यात्रा पर आंदोलनजीवी, हसदेव अरण्य की कौन सुने: राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस के राजनीतिक दोगलेपन से लड़ रहे सरगुजा के ST

राहुल गाँधी जिन्हें दिल्ली में 'मोदी का यार' बताते हैं, कॉन्ग्रेस की सरकारें अपने प्रदेश में उनकी ही एजेंट बनी हुई हैं। यही हसदेव अरण्य का दुर्भाग्य है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,416FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe